--Advertisement--

अधिक मास में राशि अनुसार करें आसान उपाय, पूरी हो सकती है हर इच्छा

इन दिनों ज्येष्ठ का अधिक मास चल रहा है, जो 13 जून, बुधवार तक रहेगा।

Dainik Bhaskar

Jun 02, 2018, 12:24 PM IST
Measures according to zodiac, measures of astrology, measures of adhik mass

रिलिजन डेस्क। ज्योतिष शास्त्र के अनुसार, जब एक ही सूर्य संक्रांति में दो अमावस्या व्यतीत हो जाती है तो पहली अमावस्या से दूसरी अमावस्या तक का समय पुरुषोत्तम मास कहलाता है। इन दिनों ज्येष्ठ का अधिक मास चल रहा है, जो 13 जून, बुधवार तक रहेगा। इस महीने में कोई भी मांगलिक कार्य नहीं किए जाते और न ही किसी नए कामों की शुरुआत की जाती है।

उज्जैन के ज्योतिषाचार्य पं. प्रफुल्ल भट्ट के अनुसार, अधिक मास में अगर अपनी राशि के स्वामी की आराधना, अपने इष्टदेव के साथ की जाए तो बहुत ही शुभ फल प्राप्त हो सकते हैं आपके बुरे दिन भी दूर हो सकते हैं। आप भी जानिए पुरुषोत्तम मास में राशि अनुसार किस देवता की पूजा करें...

1. मेष तथा वृश्चिक राशि वालों को अपनी राशि के स्वामी मंगल देवता के साथ-साथ हनुमानजी तथा भगवान श्रीराम की उपासना करनी चाहिए।

2. वृषभ तथा तुला राशि वालों को अपनी राशि के स्वामी शुक्रदेवता के साथ-साथ माता दुर्गा की आराधना करनी चाहिए।

3. मिथुन तथा कन्या राशि वालों को अपनी राशि के स्वामी बुध देवता के साथ-साथ गणपति भगवान की उपासना करनी चाहिए।
4. कर्क राशि वालों को अपनी राशि के स्वामी चन्द्रमा के साथ-साथ भगवान शिव की आराधना करना लाभप्रद रहेगा।

5. सिंह राशि वालों को अपनी राशि के स्वामी सूर्य के साथ-साथ मां गायत्री एवं हनुमानजी की आराधना करनी चाहिए।

6. धनु तथा मीन राशि वालों को अपनी राशि के स्वामी देवगुरू बृहस्पति के साथ-साथ माता लक्ष्मी एवं भगवान विष्णु की आराधना करनी चाहिए।

7. मकर तथा कुंभ राशि वालों को अपनी राशि के स्वामी शनिदेव के साथ-साथ हनुमानजी एवं भैरव बाबा की उपासना करनी चाहिए ताकि शुभ फलों की प्राप्ति हो सके।

X
Measures according to zodiac, measures of astrology, measures of adhik mass
Bhaskar Whatsapp
Click to listen..