--Advertisement--

अनजाने में हो जाए जीव हत्या तो करें 3 में से कोई 1 उपाय, बच सकते हैं बुरे परिणाम से

पैदल चलते समय न जाने कितने छोटे-छोटे जीव-जंतु हमारे पैरों के नीचे दब कर मर जाते हैं।

Danik Bhaskar | Jul 12, 2018, 06:33 PM IST

रिलिजन डेस्क। कई बार वाहन चलाते हुए या कुछ काम करते समय जाने-अनजाने में हम से जीव हत्या हो जाती है। इसके अलावा भी पैदल चलते समय न जाने कितने छोटे-छोटे जीव-जंतु हमारे पैरों के नीचे दब कर मर जाते हैं। ग्रंथों में इसे भी पाप माना गया है। गरुड़ पुराण के अनुसार, इस पाप का अशुभ परिणाम हमें आने वाले भविष्य में भुगतना पड़ सकता है। उज्जैन के ज्योतिषाचार्य पं. प्रफुल्ल भट्ट के अनुसार, ग्रंथों में इस पाप से छुटकारा पाने के लिए प्रायश्चित का विधान बताया गया है, जिससे अशुभ परिणामों से बचा जा सके। ये उपाय हम आसानी से कर सकते हैं। ये उपाय इस प्रकार हैं…

पहला उपाय

एक सूखा नारियल लेकर उसके ऊपर का कुछ हिस्सा काट दें, जिससे उसमें एक छेद हो जाए। अब इस छेद में से उस नारियल में शक्कर डालकर उसे पूरा भर दें। इसके बाद उस नारियल को किसी सुनसान जगह पर जमीन के नीचे गाड़ दें। जिससे चींटी आदि जीव-जंतु उसे आसानी से खा सके। इस उपाय से जीव हत्या के पाप का प्रायश्चित तो होगा ही साथ ही राहु-केतु के दोष भी कम होंगे।

दूसरा उपाय

शनिवार को किसी गरीब या दिव्यांग व्यक्ति को खाना खिलाएं। इससे जीव हत्या के पाप से बच जाएंगे।

तीसरा उपाय

हर महीने की अमावस्या तिथि पर गाय को हरा चारा खिलाएं, कुत्ते को रोटी दें और मछलियों को आटे की गोलियां खिलाएं। इन उपायों से आपके कुंडली के दोष भी कम होंगे।

Related Stories