--Advertisement--

एक कार्ड से देश में कहीं भी ट्रेन-मेट्रो और बस में कर सकेंगे सफर, केंद्र सरकार जल्द ला रही है योजना

कार्ड को एक बार रिचार्ज कराने के बाद इससे मेट्रो, रेल और बस का 'टिकट ले सकेंगे।

Danik Bhaskar | Sep 07, 2018, 02:25 PM IST
कार्ड को एक बार रिचार्ज कराने कार्ड को एक बार रिचार्ज कराने

नई दिल्ली. पब्लिक ट्रांसपोर्ट सिस्टम को सहज बनाने के लिए केंद्र सरकार 'एक देश, एक कार्ड' योजना का अगले तीन से चार महीने में ट्रायल करने जा रही है। नीति आयोग के सीईओ अमिताभ कांत ने गुरुवार को कहा कि इस योजना का ज्यादातर काम पूरा हो चुका है। इसके लागू होने पर यात्री एक ही कार्ड से देशभर में रेल, मेट्रो और बसों में कहीं भी सफर कर सकेंगे। ये स्मार्ट कार्ड डेबिट और क्रेडिट कार्ड की तरह भी काम करेगा।


कौन योजना बना रहा है
अमिताभ कांत ने बताया कि योजना को तैयार करने में सेंटर फॉर डेवलपमेंट ऑफ एडवांस कम्प्यूटिंग, बैंक और शहरी विकास मंत्रालय शामिल हैं। इसके तकनीकी पहलू को अंतिम रूप देने के लिए कई एजेंसियों और इससे संबंधित मंत्रालयों के साथ बैठकें की गईं है।

नागरिकों को ध्यान में रखकर बनाई योजना
अमिताभ कांत ने बताया कि योजना के आने पर यातायात के विभिन्न माध्यमों में सफर आसान हो जाएगा। भारत जैसे सघन आबादी वाले देशों में मजबूत ट्रांसपोर्ट सिस्टम अर्थव्यवस्था के विकास की रीढ़ है। नए ट्रांसपोर्ट सिस्टम में न सिर्फ वाहनों, बल्कि नागरिकों को सबसे पहले रखा जाएगा ताकि यातायात के सभी माध्यमों में सफर साफ-सुथरा और आरामदायक हो सकें।

आम जनता को क्या होगा फायदा
1. देश के अलग-अलग शहरों में मेट्रो, रेल, बस का सफर करने के लिए अलग से टिकट या कार्ड नहीं लेना पड़ेगा।
2. टिकट लेने के लिए लाइन में नहीं लगना पड़ेगा।
3. ट्रांसपोर्ट के लिए जेब में पैसे रखने की जरूरत नहीं पड़ेगी।
4. ऑनलाइन बैंकिंग से टिकट बुक करने में भी समय लगता था, जो इससे कम हो जाएगा।
विषम संख्या में किराया देने के लिए आपको खुले पैसे ढूढ़ने की जरूरत नहीं पड़ेगी।


GDP में रोड ट्रांसपोर्ट का योगदान 4 फीसदी है
अमिताभ कांत के मुताबिक, जीडीपी में फिलहाल रोड ट्रांसपोर्ट का योगदान करीब चार फीसदी है, जो ज्यादातर जीवाश्म ईंधन पर निर्भर है। बड़े शहरों में बढ़ते वायु प्रदूषण और पर्यावरण में बदलाव चिंताजनक हैं। ऐसे में देश के विकास और अर्थव्यवस्था में ट्रांसपोर्ट सिस्टम की भूमिका अहम है।