विज्ञापन

एकादशी+गुरुवार के शुभ योग में करें ये उपाय, दूर होंगे दोष और होगा फायदा

Dainik Bhaskar

Apr 24, 2018, 05:00 PM IST

जिन लोगों की कुंडली में गुरु अशुभ फल दे रहा हो, वे यदि इस दिन कुछ खास उपाय करें, उनकी समस्याओं में कुछ कमी आ सकती है।

mohini ekadashi 2018, do this measures on 26 April, mohini ekadashi measures
  • comment

रिलिजन डेस्क। इस बार 26 अप्रैल, गुरुवार को मोहिनी एकादशी है। गुुरुवार को भगवान विष्णु का ही दिन माना जाता है, वहीं एकादशी भी भगवान विष्णु की तिथि है। इस तरह गुरुवार को एकादशी होने से शुभ योग बन रहा है। उज्जैन के ज्योतिषाचार्य पं. प्रफुल्ल भट्ट के अनुसार, जिन लोगों की कुंडली में गुरु अशुभ फल दे रहा हो, वे यदि इस दिन कुछ खास उपाय करें, उनकी समस्याओं में कुछ कमी आ सकती है। ये उपाय इस प्रकार हैं-

1. गुरुवार और एकादशी के योग में ब्राह्मण को कांसा, शक्कर, हल्दी, सफेद सरसों, पीले कपड़े, घी, चने की दाल, पीले फूल, फल, सोना, बृहस्पति यंत्र सहित पुखराज रत्न दान करना चाहिए।
2. सोने या चांदी के पतरे पर बृहस्पति यंत्र बनवाकर उसे पूजन स्थान पर रखें और रोज उस यंत्र की विधि-विधान से पूजा करें।
3. इस शुभ योग से शुरू कर 7 गुरुवार तक घोड़े को चने की दाल खिलाएं।
4. गुरुवार और एकादशी के योग में किसी मंदिर में गाय के घी का दीपक जलाने से शुभ फल मिलते हैं।
5. एकादशी पर भगवान विष्णु की पूजा करें और श्रीविष्णु सहस्त्रनाम का पाठ भी करें।
6. इस गुरुवार अपने गुरु अथवा किसी साधु को पीले वस्त्र उपहार में दें।
7. इस गुरुवार से शुरू कर प्रत्येक गुरुवार को देवगुरु बृहस्पति को पीले कनेर के फूल अर्पण करें।
8. गुरुवार और एकादशी के योग में नीचे लिखे मंत्रों में से किसी एक का जाप करें-
बृहस्पति एकाक्षरी बीज मंत्र- ऊं बृं बृहस्पतये नम:।
बृहस्पति तांत्रिक मंत्र- ऊं ग्रां ग्रीं ग्रौं स: गुरवे नम:।।
बृहस्पति गायत्री मंत्र- ऊं आंगिरसाय विद्महे दिव्यदेहाय धीमहि तन्नो जीव:प्रचोदयात्।।

इन मंत्रों का जाप उत्तर दिशा की ओर मुख करके किया जाए तो शुभ रहता है।

X
mohini ekadashi 2018, do this measures on 26 April, mohini ekadashi measures
COMMENT
Astrology

Recommended

Click to listen..
विज्ञापन
विज्ञापन
एप में पढ़ें