पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • National
  • After Blue Whale Game, Momo Challenge Sparks Fear On The Internet And WhatsApp

WhatsApp पर बच्चों को डरा रहा है 'मोमो चैलेंज', अर्जेंटीना में 12 साल की लड़की की हुई मौत, एक्सपर्ट बोले- बच्चों को आकर्षित करते हैं ऐसे गेम्स

3 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

गैजेट डेस्क। इन दिनों सोशल मीडिया पर मोमो चैलेंज वायरल हो रहा है। ये एक तरह का गेम है जिसे वॉट्सऐप पर शेयर किया जा रहा है। इस गेम के चलते अर्जेंटीना में 12 साल की लड़की की मौत हो चुकी है। ये ब्लू व्हेल गेम की ही तरह है। ब्लू व्हेल गेम के चलते देश में कई बच्चों की मौत के मामले सामने आए थे। ठीक इसी तरह ये गेम भी बच्चों को डराने का काम कर रहा है। हालांकि, अभी ये गेम भारत में नहीं आया है, लेकिन इसे लेकर अभी से सतर्कता जरूरी है। कई देश इस गेम को लेकर अलर्ट हो चुके हैं।

क्या है मोमो चैलेंज?

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक इस गेम को फेसबुक पर शुरू किया गया था, जिसके बाद अब इसे दूसरे सोशल प्लेटफॉर्म पर भी शेयर किया जा रहा है। रिपोर्ट्स के अनुसार इस गेम का संबंध जापान से है, लेकिन अभी तक इसका प्रमाण नहीं मिला है। मोमो चैलेंज गेम के लिए जो डरावनी फोटो का इस्तेमाल किया जा रहा है उसे जापान के कलाकार मिदोर हायाशी ने बनाया था। हालांकि, इससे कलाकार का कोई लेना देना नहीं है।

ब्राजील के एनजीओ सफनेट के रॉड्रिगो नेजम का कहना है कि मोमो गेम किस तरह से फैल रहा है यह अभी कहना ठीक नहीं है, लेकिन ये इससे अपराधी लोगों को डराकर चोरी करना, इंटरनेट पर फिरौती मांगने जैसा क्राइम कर सकते हैं। ये गेम ब्लू व्हेल की तरह जानलेवा है।

मोमो आंटी देती है टास्क

इसमें एक मोमो आंटी (कार्टून तरह की दिखने वाली) यूजर को डांटती धमकाती है और चैलेंज पूरा नहीं करने पर सख्त सजा भी देती है। उसकी धमकी से यूजर डर जाता है और मोमो का चैलेंज एक्सेप्ट करने को मजबूर हो जाता है। इस चैलेंज से बच्चे डिप्रेशन में जा सकते हैं और सुसाइड करने तक का कदम उठा सकते हैं।

ऐसे मिलता मोमो चैलेंज

1. मोमो चैलेंज में आपके फोन पर अननॉन नंबर से Hi-Hello जैसे मैसेज आते हैं और नंबर सेव करने की बात कही जाती है।
2. इसी नंबर से यूजर को एक बार फिर कॉल करके बात करने का चैलेंज दिया जाता है।
3. इसके बाद फोन पर अननॉन नंबर से यूजर को डरावनी फोटो और वीडियो शेयर किए जाते हैं।
4. जो यूजर चैलेंज एक्सेप्ट करके उसे पूरा नहीं करते उन्हें मोमो धमकाती है।
5. मोमो की धमकी और डरावनी फोटो से यूजर डिप्रेशन में जा सकता है।

क्या कहते हैं एक्सपर्ट?

इस तरह के गेम्स में ऐसा क्या होता है कि यूजर इसे खेलते-खलते डिप्रेशन का शिकार हो जाता है। इस बात को जानने के लिए Dainikbhaskar.com ने मनोचिकित्सक डॉक्टर रूमा भट्टाचार्य से बातचीत की। उन्होंने बताया कि ऐसे लोग जिनकी लाइफ में कोई मोटिव नहीं होता, या फिर सेल्फ कंट्रोल नहीं होता, वे नेट एडिक्शन या गेम एडिक्शन हो जाते हैं। खासकर, कोई चैलेंज या टास्क पूरा करने वाले गेम उन्हें तेजी से आकर्षित करते हैं। वे इन गेम में इस कदर घुस जाते हैं कि इन पर उन्हें पूरा विश्वास हो जाता है। ऐसे में गेम में जैसे करने को कहा जाता है वे बिना सोचे कर देते हैं।

खबरें और भी हैं...