--Advertisement--

अपनी क्षमता को पहचानें और लगातार प्रयास करते रहें, सफलता जरूर मिलेगी

अगर हम लगातार असफल हों तो भी प्रयास करना बंद नहीं करना चाहिए।

Danik Bhaskar | May 16, 2018, 05:00 PM IST

रिलिजन डेस्क। एक बार शहर में सर्कस का खेल चल रहा था। उसमें एक महावत हाथी को पतली सी डोरी से बांधकर करतब दिखा रहा था। यह दृश्य देखकर सभी आश्चर्यचकित थे कि इतना बड़ा हाथी एक पतली सी डोरी से कैसे बंधा रह सकता है? खेल खत्म हो गया और सभी अपने-अपने घर जाने लगे।
सर्कस देखने आए एक व्यक्ति के मन में भी ये प्रश्न बार-बार उठ रहा था। अपने इस सवाल का जवाब जानने के लिए वह महावत के पास पहुंचा और उससे इस बारे में पूछा। तब महावत ने उससे कहा कि- जब ये हाथी छोटे होते हैं तो हम इन्हें जंजीरों से बांधकर रखते हैं।
उस समय ये जंजीरों को तोड़ने की कोशिश करते हैं, लेकिन सफल नहीं हो पाते। इस तरह वे हाथी के बच्चे निराश हो जाते हैं। उसकी समझ में ये आ जाता है कि वो जंजीर को नहीं तोड़ सकते।
जब वो हाथी बड़े हो जाते हैं तो उन्हें एक ऐसी जगह ले जाया जाता है, जहां बड़े-बड़े हाथी पतली-पतली रस्सियों से बंधे होते हैं और उसे भी दूसरे हाथियों की तरह पतली रस्सी से बांध दिया जाता है।
नया हाथी यह सोचकर उस डोरी को तोड़ने की कोशिश नहीं करता कि बाकी सभी हाथी भी इसी तरह से बंधे हैं। जब वो इसे नहीं तोड़ सकते तो मैं कैसे तोड़ सकता हूं। यह सोचकर हाथी हमेशा उस पतली डोरी से बंधा रहता है जिसे वह कभी भी तोड़ सकता है।

सीख
लगातार कोशिशों के बाद भी कई बार असफलता ही मिलती है, इसका मतलब ये नहीं कि हम प्रयास करना ही बंद कर दें। प्रयास करते रहने से ही एक दिन हमें सफलता जरूर मिलेगी।