4 प्लास्टिक क्रशर हर माह 500 किलो प्लास्टिक रीसायकल कर रहे, इससे बना रहे टीशर्ट और कैप

News - तीन बार क्लीनेस्ट सिटी बनने के बाद अब शहर को प्लास्टिक मुक्त बनाने पर काम किया जा रहा है। इसके लिए शहर के भीड़भाड़...

Dec 04, 2019, 09:02 AM IST
तीन बार क्लीनेस्ट सिटी बनने के बाद अब शहर को प्लास्टिक मुक्त बनाने पर काम किया जा रहा है। इसके लिए शहर के भीड़भाड़ वाले चार इलाकों में प्लास्टिक क्रशर्स इंस्टॉल कर दिए गए हैं जो हर महीने तकरीबन 500 किलो प्लास्टिक वेस्ट क्रश कर रहे हैं। इस क्रश्ड प्लास्टिक से टीशर्ट्स और कैप तैयार की जा रही है। शहर से लोग आप भी सिंगल यूज़ प्लास्टिक की चीज़ें फेंकने के बजाए क्रशर में डाल सकते हैं। लोगों के प्रोत्साहित करने के मकसद से बोतल डालने वालों को पेटीएम के ज़रिए 5 रुपए कैशबैक दिया जा रहा है।

शहर के चार मुख्य स्थानों नवलखा बस स्टैंड, गंगवाल बस स्टैंड, एआईसीटीएसएल ऑफिस परिसर और 56 दुकान पर ये मशीनें लगाई गई हैं। लोग बोतलें इन क्रशर्स में डालने लगे हैं। हर मशीन में रोज 200 बोतलें क्रश की जा रही हैं। सीएसआर एक्टिविटी के तहत शहर की एक निजी कंपनी इस प्लास्टिक क्रश को पुणे भेज रही है जहां इससे टीशर्ट्स और कैप बनाई जा रही हैं।

12 प्लास्टिक बॉटल्स के क्रश से एक टीशर्ट तैयार होती है। शहर में इस प्लास्टिक क्रश को पुणे भेज रही कंपनी के गौरव खंडेलवाल ने बताया कि प्लास्टिक वेस्ट किसी भी तरह खत्म किया जाएगा तो वातावरण को प्रदूषित करेगा। इसलिए इस प्लास्टिक कचरे को जलाने के बजाय उसे इकट्‌ठा कर पुणे स्थित प्लांट पर भेजा जा रहा है, जहां इसे रीसायकल कर इससे टीशर्ट्स और कैप तैयार की जा रही हैं, जो आम टीशर्ट जितनी ही कम्फर्टेबल और ज्यादा ड्यूरेबल होती हैं। ये टीशर्ट कम्पनी के एम्प्लॉईज़ को दी जाएंगी।

सिटी रिपोर्टर . इंदौर

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना