ज ब एक आम नाट्यप्रेमी दर्शक अपने जीवन की आपाधापी

News - ज ब एक आम नाट्यप्रेमी दर्शक अपने जीवन की आपाधापी के बीच कुछ समय चुरा कर कोई नाटक देखने पहुंचता है, तो उसकी अपेक्षा...

Sep 14, 2019, 06:26 AM IST
ज ब एक आम नाट्यप्रेमी दर्शक अपने जीवन की आपाधापी के बीच कुछ समय चुरा कर कोई नाटक देखने पहुंचता है, तो उसकी अपेक्षा होती है कि दफ्तर से निकलकर भागते-दौड़ते नाट्य गृह में समय से पहुंचने की उलझन का भार और थकान उतारने का उत्तम प्रतिसाद मिले। मतलब एक कसी हुई कहानी पर जमे हुए पैने संवाद, जिन्हंे अभिनेता स्पष्ट बोलें और अपने अभिनय से उन्हें साकार करें। तीन दिवसीय ‘संहिता मंच’ नाट्य समारोह में विहान ड्रामा वर्क्स भोपाल की ओर से मंचित ‘रोमियो जूलिएट इन स्मार्ट सिटीज़’ को देखने में शहीद भवन में बिताए समय से ये अपेक्षाएं पूरी हुईं।

स्वप्निल जैन द्वारा रचित और सौरभ अनंत द्वारा निर्देशित यह नाटक दो प्रेमियों मृदुल और वैभवी की कहानी कहता है। जैसा कि सर्व विदित है कि हमारा समाज प्रेम कथायें गढ़ने और पढ़ने में तो आगे रहता है लेकिन वास्तविकता के धरातल पर प्रेमियों का उत्पीड़न करने में कसर नहीं छोड़ता। सो वही यहां होता है। और यह सब कभी हास्य उत्पन्न करता है, तो कभी करुणा उपजाता है। नाट्यशात्र के सिद्धांत और तकनीकी बारीकियां तो कोई आम नाट्यप्रेमी दर्शक नहीं जानता सो थोड़े में बहुत यूं कहें कि हमारी तो शाम शानदार गुज़री। सभागार में सभी दर्शकों की लगातार बजती तालियां भी यही बता रहीं थीं ।

X
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना