लालच में व्यक्ति रिश्तो की अहमियत भूल गया

News - मायाराम सुरजन भवन में रविवार को नाटक \"अ डिस्टेंट रिलेटिव और रीफन्ड\' की कक्षाभ्यास प्रस्तुति हुई। डब्ल्यूडब्ल्यू...

Nov 11, 2019, 07:10 AM IST
मायाराम सुरजन भवन में रविवार को नाटक "अ डिस्टेंट रिलेटिव और रीफन्ड' की कक्षाभ्यास प्रस्तुति हुई। डब्ल्यूडब्ल्यू जेकब द्वारा लिखित इस नाटक का निर्देशन चैतन्य सोनी ने किया। प्रस्तुति समांतर सोश्यो कल्चरल सोसायटी के कलाकारों ने दी। नाटक में दिखाया गया कि इंसान का लोभ उससे कुछ भी करवा सकता हैं। लोभी व्यक्ति किसी भी हद तक गिर सकता है यहां तक की वो रिश्तों की अहमियत तक को भूल जाता है।

ए डिस्टेंट रिलेटिव: यह एक हास्य एकांकी है जिसका मुख्य पात्र पिंटू एक तिकड़मबाज और नकारा व्यक्ति है। जो जेल से पेरोल पर छूटकर अपनी बहन के घर आता है। वो भी उस वक्त जबकि उनकी बेटी की शादी एक थोड़े अमीर नौजवान के साथ ब्याहने की तैयारी में हैं। वो नहीं चाहते कि पिंटू वहां एक पल भी टिके, लेकिन वो दूसरी मिट्टी का बना है। वहां से जाना तो दूर, वो भांजी और उसके होने वाले मंगेतर को अपनी चिकनी चुपड़ी बातों में फंसाता है। अपने आप को ऑस्ट्रेलिया से आया अमीर मामा बताता है और उनकी जमा पूंजी हथियाने की पूरी तैयारी कर लेता है।

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना