सारे सफल लोग पहले असफल रहे हैं, बस उन्होंने सतत प्रयास करना नहीं छोड़ा...

News - पेपर बिगड़ने या फेल होने पर छात्र-छात्राएं अकसर गलत कदम उठा लेते हैं। ऐसे ही बच्चों की काउंसलिंग के लिए, शारीरिक,...

Jan 16, 2020, 07:50 AM IST
Indore News - mp news all successful people have been unsuccessful before they just did not stop trying
पेपर बिगड़ने या फेल होने पर छात्र-छात्राएं अकसर गलत कदम उठा लेते हैं। ऐसे ही बच्चों की काउंसलिंग के लिए, शारीरिक, मानसिक, भावनात्मक समस्याओं और जिज्ञासाओं का समाधान करने के लिए स्कूल शिक्षा विभाग ने उमंग किशोर हेल्पलाइन नंबर 14425 शुरू किया है। इसके लिए एक राज्य-स्तरीय सहित 313 विकासखंडों में परामर्श केंद्र बनाए गए हैं। इसमें 626 काउंसलर्स सुबह 8 से रात 8 बजे तक परामर्श देंगे। बच्चों की पहचान गुप्त रखी जाएगी। लाइव चैट और ई-मेल पर भी परामर्श की व्यवस्था की गई है।

एमपी बोर्ड : 9वीं से 12वीं तक के छात्रों के लिए हेल्पलाइन 14425 शुरू, परामर्शदाता देंगे सलाह-रिपोर्ट कार्ड के मार्क्स नियति तय नहीं करते

... पर ऐसी ना हो शिक्षा प्रणाली

अल्बर्ट आइंस्टीन ने भी कहा है- हर कोई जीनियस है, लेकिन अगर किसी मछली को पेड़ पर चढ़ने की क्षमता से जज किया जाए तो वह अपना पूरा जीवन इस बात पर विश्वास कर लेगी कि वह बेवकूफ है।

चयन के

लिए सभी को समान

परीक्षा देनी होगी; उस पेड़ पर चढ़कर दिखाओ।

कुछ उदाहरण : रवींद्रनाथ टैगोर, विंस्टन चर्चिल भी स्कूल में फेल हो गए थे...


भारत की ओर से नोबल पुरस्कार जीतने वाले महान कवि और साहित्यकार रवींद्रनाथ टैगोर स्कूल में फेल हो गए थे। उनके शिक्षक उन्हें पढ़ाई में ध्यान न देने वाले छात्र के तौर पर पहचानते थे।


दुनिया में जीनियस के तौर पर पहचाने जाने वाले वैज्ञानिक आइंस्टीन चार साल तक बोल और सात साल की उम्र तक पढ़ नहीं पाते थे। इस कारण उनके मां-बाप और शिक्षक उन्हें सुस्त और गैर-सामाजिक छात्र के तौर पर देखते थे। उन्हें स्कूल से निकाल दिया गया और ज्यूरिक पॉलिटेक्निक में दाखिला देने से इनकार कर दिया गया। इन सब के बावजूद वे भौतिक विज्ञान की दुनिया में सबसे बड़ा नाम साबित हुए।


दुनिया के सबसे अमीर इंसान बनने से पहले बिल गेट्स ने हावर्ड कॉलेज में बीच में ही पढ़ाई छोड़ दी थी। इसके बाद उन्होंने अपना पहला बिज़नेस शुरू किया जो बुरी तरह असफल साबित हुआ था।


अख़बार के संपादक ने इन्हें यह कहकर निकाल दिया कि उनके पास नए विचार नहीं हैं। इसके बाद उन्होंने अपने व्यवसाय शुरू किए, लेकिन दिवालिए हो गए। इसके बावजूद उन्होंने हिम्मत नहीं हारी और उनके नाम से एक पूरा साम्राज्य चलता है।


स्कूली शिक्षा के दौरान चर्चिल छठी क्लास में फेल हो गए थे। प्रधानमंत्री बनने से पहले चुनाव में भी फेल हुए, लेकिन प्रयास नहीं छोड़ा।

Indore News - mp news all successful people have been unsuccessful before they just did not stop trying
X
Indore News - mp news all successful people have been unsuccessful before they just did not stop trying
Indore News - mp news all successful people have been unsuccessful before they just did not stop trying
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना