रातापानी अभयारण्य खुलते ही विश्व धरोहर भीमबैठिका में जुटने लगी सैलानियों की भीड़

News - सतपुड़ा की खूबसूरत घनी वादियों में बसे रातापानी सेंचुरी को चार महीने बाद आम पर्यटकों के लिए खोल दिया गया हैं,...

Bhaskar News Network

Nov 11, 2019, 07:21 AM IST
Bhopal News - mp news as soon as ratapani sanctuary opens crowds of tourists started gathering in the world heritage bhimbithika
सतपुड़ा की खूबसूरत घनी वादियों में बसे रातापानी सेंचुरी को चार महीने बाद आम पर्यटकों के लिए खोल दिया गया हैं, जिससे इन दिनों में भीमबैठिका एवं देलाबाड़ी कैंप में सैलानियों की भीड़ जुटने लगी हैं। वे यहां शहरी कुलाहल से दूर प्रकृति की खूबसूरत और शांत वादियों का आनंद ले रहे हैं। सैलानी यहां विश्व प्रसिद्ध धरोहर भीमबैठिका से लेकर गिन्नौरगढ़ का किला और खूबसूरत देलाबाड़ी कैंप के अलावा यहां विचरने वाले जंगली जानवर, विशेष प्रकार के पशु-पक्षी, पेड़-पौधों के साथ सुरमय वादियों के बीच प्रकृति के मनोहारी दृश्यों को नजदीक से निहारने का आनंद उठा रहे हैं।

गाैरतलब है कि अभयारण्य का अधिकांश हिस्सा बरसात के चार महीने पर्यटकों के लिए प्रतिबंधित कर दिया जाता हैं, जो अब हाल ही में आम पर्यटकों के लिए पुन: खोल दिया गया हैं। हालांकि इसमें भीमबैठिका और देलाबाड़ी कैंप पहले से ही खुला था। जबकि बाघराज मां का स्थान, केरी के महादेव के साथ जंगल में घना इलाका पर्यटकों के लिए बरसात आने के साथ ही 15 जून से 15 अक्टूबर तक के लिए बंद कर दिया जाता हैं। हालांकि अब विभाग इन्हें भी खोलने की तैयारी कर रहा हैं। इसके लिए भारी बरसात से उखड़ी सड़कों की मरम्मत कराई जा रही हैं। इनमें झिरी बहेड़ा से गिन्नौरगढ़ का किला एंव बर्रुसोत रेस्ट हाउस से घोड़ा पछाड़ सहित अन्य प्रमुख स्थानों के लिए रोड बनाने का काम किया जा रहा हैं। ताकि पर्यटक सुगमता से यहां पहुंच सकें।

कैसे पहुंचे : राजधानी से 52 किमी दूर रेहटी रोड पर स्थित देलाबाड़ी कैंप एवं भीमबैठिका पहुंचने के लिए स्थानीय स्तर पर कोई साधन नहीं है। भोपाल से किराए पर टैक्सी लेकर जाना पड़ेगा।

भीमबैठिका


शैलचित्र

ये हैं दर्शनीय स्थल : यहां गिन्नौरगढ़ का किला, जंगल कैंप, चोर बाबड़ी, युद्ध बंदी शिविर, भदभदा जल प्रपात, जावरा की गुफाएं, लाखा ज्वार, रातापानी डेम सहित अन्य दर्शनीय स्थल हैं, जिन्हें देखने के लिए सैकड़ों सैलानी बड़ी संख्या में यहां पहुंच रहे हैं। वन विभाग ने यहां सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए हैं। भीमबैठिका का 200 रुपए और देलाबाड़ी कैंप का भ्रमण शुल्क 100 रुपए प्रति व्यक्ति रखा गया है।

गाइड की सुविधा भी उपलब्ध : विभाग द्वारा यहां आने वाले पर्यटकों के लिए गाइड की सुविधा भी मुहैया कराई गई है, जो पर्यटकों को दर्शनीय स्थलों की जानकारी देते हैं। नगर के सरोज गिरी, सुनील खांबरा, देवेंद्र अजमेरा, विजय पटेल एवं कंचन नागर आदि बताते हैं कि हमें सेंचुरी की वादियां आकर्षित करती हैं। वे परिवार के साथ पहुंचकर प्रकृति का आनंद लेंगे।

कहां कराएं बुकिंग : देलाबाड़ी के जंगलों में छिपे प्राकृतिक नजारों और इनसे जुड़े अनूठे अनुभवों का प्रकृति प्रेमी आनंद लेने के लिए पर्यटकों को इसकी ऑनलाइन बुकिंग करानी होगी। वे ईको टूरिज्म की वेब साइड डब्ल्यूडब्ल्यूडब्ल्यू एमपी ईको टूरिज्म डॉट ओआरजी पर लॉगिंग कर बुकिंग करा सकते हैं। इसके अलावा भोपाल से करीब 45 किमी दूर होशंगाबाद मार्ग पर औबेदुल्लागंज के बर्रूसोत रेस्ट हाउस एवं भीमबैठिका में घूमने के लिए वहां पहुंचकर गेट से ही टिकट लेना होगा।

Bhopal News - mp news as soon as ratapani sanctuary opens crowds of tourists started gathering in the world heritage bhimbithika
X
Bhopal News - mp news as soon as ratapani sanctuary opens crowds of tourists started gathering in the world heritage bhimbithika
Bhopal News - mp news as soon as ratapani sanctuary opens crowds of tourists started gathering in the world heritage bhimbithika
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना