• Hindi News
  • Mp
  • Indore
  • News
  • Indore News mp news ashwini nakshatra siddhi yoga and aries moon will be worshiped today by baikuntha chaturdashi lord vishnu and shiva

अश्विनी नक्षत्र, सिद्धि योग व मेष के चंद्रमा में आज मनेगी बैकुंठ चतुर्दशी, भगवान विष्णु और शिव का होगा पूजन

News - सोमवार को अश्विनी नक्षत्र, सिद्धि योग व मेष के चंद्रमा में बैकुंठ चतुर्दशी का पर्व हरि-हर मिलन के रूप में शेव व...

Nov 11, 2019, 08:26 AM IST
सोमवार को अश्विनी नक्षत्र, सिद्धि योग व मेष के चंद्रमा में बैकुंठ चतुर्दशी का पर्व हरि-हर मिलन के रूप में शेव व वैष्णव संप्रदाय की एकता के रूप में मनाया जाएगा। इस दिन शाम को पवित्र नदियों के किनारे दीपदान भी किया जाएगा।

आचार्य पं. रामचंद्र शर्मा वैदिक ने बताया कार्तिक शुक्ल पक्ष की चतुर्दशी बैकुंठ चतुर्दशी के नाम से जानी जाती है। इस दिन भगवान विष्णु की पूजा का महत्व है। कमल पुष्पों से भगवान की पूजा का महत्व भी बताया गया है। भगवान विष्णु को कमल नयन व पुंडरीकाक्ष के नाम से भी जाना जाता है। आज के दिन ही हरि और हर का मिलन माना जाता है। मतलब भगवान शिव और विष्णु का मिलन इसी दिन माना जाता है। इसके पीछे एक कथा भी है, जिसमें भगवान विष्णु, भगवान शिव का अभिषेक करते हैं। उस दौरान भगवान शिव किस प्रकार उनकी परीक्षा लेते हैं, जिसके बाद भगवान शिव स्वयं भगवान विष्णु के समक्ष प्रकट होते हैं। आचार्य शर्मा ने बताया कि कथा के अनुसार इसी दिन भगवान शिव ने भगवान विष्णु को सुदर्शन चक्र दिया था और कहा था कि तीनों लोको में दूसरा ऐसा कोई शस्त्र नहीं होगा। यह शेव व वैष्णव संप्रदाय की एकता का पर्व है। उन्होंने बताया चतुर्दशी तिथि रविवार शाम 4.32 बजे से शुरू हो चुकी है, जो सोमवार शाम 6.01 मिनट तक रहेगी। शिव व विष्णु मंदिरों में भगवान का पूजन किया जाएगा।

भगवान रणछोड़, टीकमजी और पंचमुखी हनुमानजी को आज लगेगा भोग

प्राचीन हंसदास मठ में बैकुंठ चतुर्दशी पर शाम 6 बजे से भगवान रणछोड़, पदमनाथ, टीकमजी एवं पंचमुखी चिंताहरण हनुमानजी का अन्नकूट महोत्सव महामंडलेश्वर स्वामी रामचरणदास महाराज के सान्निध्य में मनाया जाएगा। छप्पन भोग शृंगार आरती के बाद शाम 6.30 बजे से महाप्रसादी का क्रम शुरू किया जाएगा।

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना