200 किलो में खरीदा खाने का तेल, 40 रुपए किलो में टमाटर, एक-दूसरे से दूरी भी भूले लोग

Burhanpur News - देशभर में 21 दिन का लाॅकडाउन है। इस बीच प्रशासन ने आम जरुरतों के लिए समय देकर लोगों को खरीदी का मौका दिया लेकिन...

Mar 27, 2020, 08:12 AM IST

देशभर में 21 दिन का लाॅकडाउन है। इस बीच प्रशासन ने आम जरुरतों के लिए समय देकर लोगों को खरीदी का मौका दिया लेकिन लोगों ने मनमानी कर इसका गलत फायदा उठाया। सोशल डिस्टेंस बनाए रखने में लापरवाही बरती। गुरुवार सुबह मिली छूट के दौरान कुछ किराना दुकान संचालकों ने मनमानी कर राशन और तेल दोगुना दाम पर बेचा।

लोगों ने बताया खाने के तेल का भाव बाजार में 86 रुपए किलो है लेकिन कुछ दुकानदारों ने 200 रुपए किलो में बेचा। इसी तरह सब्जी बेचने वाले कुछ लोगों ने भी मनमानी की। सब्जी पर 20 से 25 रुपए अधिक लिए गए। 15-20 रुपए किलो में मिलने वाला टमाटर 40 रुपए के भाव से बेचा गया। जिला आपूर्ति अधिकारी ने गुरुवार सुबह राशन सामग्री की रेट लिस्ट सोशल मीडिया पर जारी कर अधिक दाम वसूलने पर शिकायत करने की अपील भी की थी, लेकिन मुश्किल के इस दौर में लोगों ने शिकायत करने के बजाय अधिक दाम पर सामग्री खरीदना मुनासिब समझा। इसी का फायदा उठाकर व्यापारियों ने जमकर मुनाफा कमाया लेकिन इन पर किसी भी जिम्मेदार अफसर ने कार्रवाई नहीं की।

शहर में भी खरीदी के लिए उमड़ पड़े लोग

शहर में खुलकर लोगों की लापरवाही सामने आई। राशन दुकान पर लोगों की लंबी कतारें लगी रहीं। वहीं शहर और गांवों से सब्जी खरीदने के लिए लोग टूट पड़े। हालांकि बाद में प्रशासन की सख्ती से वाहनों के अंदर से ही व्यापारियों ने सब्जी बेची। नगर में किराना दुकानों पर भीड़ लगी रही। पुलिस के पहुंचने पर व्यवस्था सुधरी नजर आई, लेकिन उसके जाते ही ढर्रा फिर पहले की तरह हो गया। अधिकांश जगहों पर पुलिस की मौजूदगी में दुकानदारों ने वाहनों में बैठकर सब्जी बेची। ग्राम अंबाड़ा में सोशल डिस्टेंस का ध्यान नहीं रखा गया। यहां सब्जी की दुकानों पर भीड़ लगी रही।

दोपहर बाद पसरा सन्नाटा, पुलिस ने लिया जायजा

सुबह से दोपहर 2 बजे तक तो शहर के लोगों ने जमकर मनमानी की, लेकिन दोपहर 2 बजे के बाद शहर में पूरी तरह सन्नाटा पसर गया। सड़कों पर सिर्फ पुलिस ही नजर आई। प्रशासनिक अधिकारियों ने शहर में घूमकर स्थिति का जायजा लिया।

आपूर्ति अधिकारी ने जारी की यह रेट लिस्ट

गुरुवार को जिला आपूर्ति अधिकारी ने खाद्य वस्तुओं की लिस्ट जारी की। इसके बाद भी दुकानदारों ने मनमानी से सामग्री बेची। लिस्ट में चावल 21 से 25 रुपए, 31 से 36 रुपए, मसूर दाल 55 से 60 रुपए, अरहर दाल 90 से 92 रुपए, चना दाल 68 से 70 रुपए, आटा 27 से 28 रुपए, शकर 38 से 40 रुपए, सरसो तेल 110 से 115, सोयाबीन 80 से 82, प्याज 20 से 22 रुपए सहित अन्य वस्तुओं के दाम निर्धारित किए गए थे लेकिन इसका पालन नहीं किया गया।

इधर... साप्ताहिक हाट में हो कर वसूली

नेपानगर | राष्ट्रीय मजदूर कांग्रेस इंटक के अध्यक्ष ललित एस. कश्यप ने नगर पालिका सीएमओ और एसडीएम को पत्र लिखकर साप्ताहिक बाजार में कर वसूली नियमानुसार कराने की मांग की है। उन्होंने कहा साप्ताहिक हाट बाजार में कर वसूली में नियमानुसार बैठने का स्थान, स्थान के क्षेत्रफल अनुसार कर वसूलना निर्धारित किया जाए।

ये बड़ी लापरवाही... जरूरी सामान की खरीदी के लिए दी छूट का लोगों ने उठाया गलत फायदा

अंबाड़ा में भी महंगी बिकी सब्जी

ग्राम अंबाड़ा में भी सब्जी दुकानदारों ने जमकर मनमानी की। यहां हर सब्जी 10 से 15 रुपए पाव के भाव से बेची गई। खाने का तेल 120 रुपए किलो के भाव से बेचा गया। शकर 40 रुपए किलो में बेची। ग्रामीणों ने बताया कुछ दुकानदार चुपचाप दुकान की शटर खोलकर माल देते नजर आए। दुकान के बाहर गोल घेरे भी नहीं बनाए गए। रात के समय ज्यादा स्थिति बिगड़ रही है। यहां पुलिस सिर्फ राउंड लगाने आती है। ग्रामीणों ने हाट बाजार का विरोध भी किया। उन्होंने कहा यहां बेतरतीब ढंग से दुकान लगने और भीड़ उमड़ने से ग्रामीणों के स्वास्थ्य पर बुरा असर पड़ सकता है। पंचायत द्वारा भी इसको लेकर गंभीरता नहीं बरती जा रही है।

बाजार में खरीदी के लिए इस तरह उमड़ पड़ी भीड़।

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना