इस माह बिजली बिल बंटना मुश्किल, एप, साइट से डाउनलोड कर सकते हैं

News - देशभर में लाॅकडाउन के चलते बिजली कंपनी इस महीने का बिजली बिल घर-घर नहीं पहुंचा पाएगी। लोगों को बिजली कंपनी की...

Mar 27, 2020, 07:30 AM IST

देशभर में लाॅकडाउन के चलते बिजली कंपनी इस महीने का बिजली बिल घर-घर नहीं पहुंचा पाएगी। लोगों को बिजली कंपनी की वेबसाइट या उर्जस एप के जरिए अपना बिल पता करना होगा। आॅनलाइन ही बिल भी जमा हो जाएगा। इंदौर में हर महीने बिजली कंपनी को छह लाख से ज्यादा बिल बांटना होते हैं। बिल तैयार करने से लेकर जारी करने तक काफी स्टाफ की जरूरत होती हैै। बिल वितरण में भी सैंकड़ों लोग लगते हैं। वहीं मीटर रीडिंग भी नहीं हो पाई है। एेसी स्थिति में आंकलित खपत के बिल तैयार कर अपलोड किए जा रहे हैैं। 25 हजार से अधिक उपभोक्ता हर महीने आॅनलाइन सिस्टम से ही बिल जमा कर रहे हैं। कागजी बिल आने से पहले ही वह अपना बिल डाउनलोड कर जमा कर देते हैं। इस महीने भरे जाने वाले बिल इसी तरह भरवाने के लिए कंंपनी प्रयास करेगी।

टोल फ्री नंबर 1912 से 1401 समस्याएं निपटाईं

टोल फ्री कॉल सेंटर 1912 की उच्च स्तरीय मॉनीटरिंग प्रबंध निदेशक विकास नरवाल द्वारा की जा रही है। पिछले 24 घंटों में 1912 पर आई 1401 शिकायतों का निराकरण किया गया है। इसमें इंदौर की 670, उज्जैन की 342, देवास 58, रतलाम 15, खंडवा 22, नीमच की 26, मंदसौर की 23 शिकायतों का समाधान किया। इंदौर मुख्यालय में संचालित टोल फ्री कॉल सेंटर 1912 के कर्मचारियों की संख्या में कमी की गई है।

साढ़े 6 करोड़ यूनिट सप्लाय

कंपनी ने एक दिन में साढ़े 6 करोड़ यूनिट बिजली सप्लाय की है। इसमें इंदौर जिले में 90 लाख यूनिट, उज्जैन में 66 लाख, खरगोन में 71 लाख, देवास में 56 लाख, रतलाम में 41 लाख, धार में 60 लाख यूनिट शामिल है।

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना