जिला आपूर्ति अधिकारी ने कहा- व्यापारी प्रतिदिन प्याज के क्रय-विक्रय का रखें रिकार्ड

News - प्याज की कालाबाजारी रोकने के लिए प्रदेश सरकार ने स्टाक लिमिट कर दी है। इसके तहत थोक विक्रेता 50 व फुटकर विक्रेता 10 टन...

Oct 12, 2019, 08:15 AM IST
प्याज की कालाबाजारी रोकने के लिए प्रदेश सरकार ने स्टाक लिमिट कर दी है। इसके तहत थोक विक्रेता 50 व फुटकर विक्रेता 10 टन प्याज तक प्याज का स्टाक रख सकता है। साथ ही हर दिन प्याज की खरीदी-बिक्री का रिकार्ड भी व्यापारी को अपने पास रखना होगा। यह आदेश 30 नवंबर तक लागू रहेगा।

पिछले महीने से प्याज की कीमतों में अप्रत्याशित बढ़ोतरी हुई। प्रदेश सहित जिलों में प्याज का संकट नहीं हो इसलिए मप्र शासन खाद्य नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता संरक्षण मंत्रालय भोपाल से प्राप्त निर्देशों के तहत प्याज को आवश्यक वस्तु अधिनियम 1955 व चोर बाजारी निवारण एवं आवश्यक वस्तु प्रदाय अधिनियम 1980 के वैधानिक प्रावधानों में शामिल किया है। प्याज पर स्टाक लिमिट तय कर दिया है। जिला आपूर्ति अधिकारी आरके शुक्ला ने बताया प्याज के व्यापारियों की सतत व आकस्मिक रूप से जांच की जाएगी। अनियमितता मिलने पर प्रावधानों के अंतर्गत कार्रवाई होगी। व्यापारीगण प्याज के क्रय-विक्रय एवं भंडारण का रिकार्ड, स्टाक के साथ मूल्य को भी कारोबार स्थल पर लगाएं। प्याज की जमाखोरी रोकने के लिए जिला व अनुभाग स्तर पर अधिकारियों के दल गठित किए गए हैं। जिला स्तरीय दल में जिला आपूर्ति अधिकारी के अलावा सहायक संचालक उद्यानिकी, कनिष्ठ आपूर्ति अधिकारी व निरीक्षक नापतौल को शामिल किया गया है। जबकि अनुभाग स्तरीय दलों में संबंधित तहसीलदार व वहां के कनिष्ठ आपूर्ति अधिकारियों को शामिल किया गया है।

थोक विक्रेता 50 और फुटकर विक्रेता 10 टन प्याज का रख सकते हैं स्टाक

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना