पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Datia News Mp News Eight Hours On The Road The Young Man Was In Pain The Doctor Kept On Putting Up The Ambulance Reached When His Mother Was Dead

सड़क पर आठ घंटे दर्द से तड़पता रहा युवक, डाॅक्टर फाेन लगाते रहे, एंबुलेंस तब पहुंची जब उसकी माैत हाे चुकी थी

6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

{भगुवापुरा तिराहे पर मानवता को शर्मसार करने वाली तस्वीर आई सामने, इलाज मिल जाता तो बच जाती जान

{पोस्टमार्टम में युवक की मौत हार्ट अटैक बताया जा

भगुवापुरा के सिलोचनपुरा निवासी 35 साल के नाथूराम उर्फ शानू कुशवाह की गुरुवार को इलाज के अभाव में अाठ घंटे तड़पने के बाद माैत हाे गई। युवक ने भगुवापुरा तिराहे पर दम तोड़ा। कोरोना संक्रमित होने के शक में लोग उसके नजदीक नहीं गए। हालांकि इस बीच लोग स्वास्थ्य विभाग और 108 को कॉल जरूर करते रहे। जब डॉक्टर पहुंचे तब शानू की सांसें चल रही थीं। इसके बाद डॉक्टर ने भी 108 को कॉल किया लेकिन एंबुलेंस तब पहुंची जब युवक की सांसें थम चुकी थीं। पोस्टमार्टम रिपोर्ट में युवक की मौत हार्ट अटैक से होना बताया।

दरअसल, नाथूराम उर्फ शानू दो माह पहले ग्वालियर के बेरजा-रतबाई के बीच स्थित महेश कृषि फार्म पर सूर्यभान सिंह चौहान के यहां काम करता था। शानू के छोटे भाई अवधेश ने बताया कि उसके पास गुरुवार को सुबह 4 बजे फोन आया कि तुम्हारे भाई की हालत ज्यादा खराब है, उन्हें हम छोड़ने आ रहे हैं। इसलिए तुम भगुवापुरा तिराहे पर आ जाओ। मैं साइकिल लेकर 10 किमी दूर तिराहे पर पहुंचा। यहां सुबह लगभग 6 बजे एक गाड़ी ने शानू को छोड़ा। अवधेश भी इसी समय पहुंच गया। अवधेश को अंदाजा था कि शानू साइकिल पर बैठकर घर जा सकता है। लेकिन उसकी हालत इतनी ज्यादा खराब थी कि वह साइकिल पर नहीं बैठ सका। अवधेश ने वाहन तलाश किया लेकिन काफी देर बाद जब उसे वाहन नहीं मिला तो ग्रामीणों ने प्रशासन को सूचना दी। एसडीएम राकेश परमार ने बीएमओ डा. डीएस पवार को बताया। इसके बाद सेंवढ़ा अस्पताल से चिकित्सकीय सलाह देने वाले वाहन को भेजा। सुबह 10 बजे वाहन के साथ गए आयुर्वेदिक डा. मुकेश प्रजापति ने तिराहे पर पहुंचकर शानू की हालत देखी तो उसे सांस लेने में तकलीफ अाैर पेट दर्द हाे रहा था। डाॅ. प्रजापति ने इसकी सूचना सीएमएचओ डाॅ. एसएन उदयपुरिया को दी। सीएमएचओ ने 108 से अस्पताल भेजने के निर्देश दिए और चार घंटे के प्रयास के बाद दाेपहर दाे बजे एम्बुलेंस पहुंची। लेकिन तब तक शानू की मौत हो चुकी थी। शानू के भाई अवधेश ने कहा कि उसके भाई की सिस्टम ने जान ले ली। अगर समय रहते एंबुलेंस मिल जाती तो शानू जीवित होता। सिविल सर्जन डॉ. डीके गुप्ता का कहना है कि पीएम रिपोर्ट में शानू की मौत फेंफड़ों की बीमारी और हार्ट फैल होने की वजह से हुई है। कोरोना जैसे कोई लक्षण मृतक के शरीर में नहीं मिले।

समाज सेवा के लिए आगे आए लोग, तैनात पुलिसकर्मियों को चाय-बिस्किट बांटे

कोरोना वायरस को लेकर लगे कर्फ्यू में खान पान, चाय, नाश्ता सभी प्रकार की दुकानों पर ताले लगे हैं। जिसके चलते समाज सेवी सुरक्षा व्यवस्था के लिए तैनात पुलिस अफसरों, कर्मचारियों की सेवा के लिए आगे आए हैं। तीन दिन से लगातार समाज सेवी व जनप्रतिनिधि शहर में तैनात जवानों व आमजन को चाय, बिस्किट के पैकेट वितरित करते देखे जा रहे हैं। गुरुवार को समाज सेवी डॉ. राजू त्यागी ने शहर में तैनात पुलिस जवानों को बिस्किट के पैकेट वितरित किए। तो वहीं सिंधी समाज के लोगों ने चाय, पानी मुहैया कराया। पत्रकार नीरज तोमर ने पुलिस जवानों को पानी की बोतलें वितरित कीं। वार्ड 24 निवासी भाजपा नेता परशुराम शर्मा ने गुरुवार को पूरे दिन अपने वार्ड की नालियों में सेनेटाइजर का छिड़काव किया और लोगों से घरों में ही रहने की अपील की।

आज से पांच स्थानों पर लगेंगी सब्जी की दुकानें, गली-गली घूमेंगे हाथ ठेला, लोगों को नहीं होना पड़ेगा परेशान


कोरोना वायरस से बचाव के लिए सोशल डिस्टेंस आवश्यक है। इसके बाद भी सुबह 7 से 11 बजे के बीच इकलौती सब्जी मंडी में हजारों की संख्या में लोगों की भीड़ एक दूसरे सटकर खरीददारी करती देखी गई। भीड़ को कम करने के लिए जिला प्रशासन ने शहर में पांच जगहों पर सब्जी मंडी लगाने का फैसला किया है। शुक्रवार 27 मार्च से प्रतिदिन सुबह 7 से 11 के बीच सब्जी मंडी हाथी खाना सब्जी मंडी के अतिरिक्त बस स्टैंड, दिनारा रोड स्थित रेलवे पुल के नीचे, राजघाट कॉलोनी में विधायक डॉ. नरोत्तम मिश्रा के आवास के सामने, ठंडी सड़क पर हायर सेकंड्री स्कूल के सामने और लाला के ताल पर सब्जी की दुकानें लगेंगीं। इसके अलावा हाथ ठेला वाले मंडियों से सब्जी भरकर गली-गली घूमेंगे। ताकि फुटकर में सब्जी खरीदने वाले लोगों को घर पर बैठे ही सब्जी मिल सके। सब्जियों के भाव नियंत्रित करने हेतु प्रशासनिक अधिकारियों द्वारा लगातार निगरानी रखी जाएगी।

किसी भी अस्पताल में नहीं हो रहा चेकअप, कमिश्नर के आते ही पीछे-पीछे लगी भीड़


पूरे देश में लॉकडाउन होने के बाद देश के कोने कोने में मेहनत मजदूरी करने वाले लोग किसी तरह अपने गांव, घर लौट रहे हैं। गांव में उन्हें घुसने नहीं दिया जा रहा है। जैसे-जैसे जिला अस्पताल व अन्य अस्पतालों में जा रहे हैं तो वहां डॉक्टर नहीं मिलते। यदि मिलते भी हैं तो चेकअप किए बगैर भगा देते हैं। जब से कोरोना का संक्रमण देश में फैला है तब से हजारों लोग जिले के अस्पतालों में पहुंचे लेकिन आज तक एक का भी सैंपल जांच के लिए नहीं भेजा गया। कोरोना के चक्कर में बाकी बीमारियों का इलाज भी बंद हो गया है। गुरुवार को सुबह 10 बजे 10 लोग इंदरगढ़ अस्पताल में चेकअप कराने पहुंचे तो डाॅक्टरों ने कहा कि यहां जांच के लिए कोई सामान नहीं है, जिला अस्पताल जाओ। दोपहर 2 बजे मुस्लिम समाज के 8-10 लोग भोपाल से लौटकर सीधे जिला अस्पताल चेकअप कराने पहुंचे। एक घंटे डॉक्टरों का इंतजार किया और जब कोई नहीं मिला तो इंदरगढ़ अपने घर चले गए। दो घंटे बाद ग्वालियर संभाग कमिश्नर एमबी ओझा और एडीजी डीपी गुप्ता जिला अस्पताल का निरीक्षण करने पहुंचे तो कलेक्टर से लेकर डॉक्टरों की फौज उनके आगे पीछे दौड़ रही थी। पूरा अस्पताल मानो जी उठा था। महीनों अस्पताल की तरफ न देखने वाले मेडिकल कॉलेज के डीन भी आगे पीछे दौड़ रहे थे। कलेक्टर रोहित सिंह ने डॉक्टरों की लापरवाही के बारे में कमिश्नर को अवगत कराया और कार्रवाई के लिए निवेदन किया तो कमिश्नर ने चिकित्सा अधिकारियों को फटकार भी लगाई।

एक शहर की दो तस्वीर... कोराेना के खतरे को लेकर कब हो पाएंगे हम जागरूक

इधर... आज से 5 स्थानों पर लगेगी सब्जी की दुकानें, गलियों में घूमेंगे हाथ ठेला निरीक्षण के लिए पहुंचे संभागीय कमिश्नर ओझा ने डॉक्टरों को लगाई फटकार

सिस्टम ने ले ली जान....

इधर... कमिश्नर के पीछे डॉक्टरों की भीड़

बस स्टैंड पर लगेंगी सब्जी की दुकानें

घर बैठे ऑनलाइन करें बिजली बिल का भुगतान, पाएं छूट

कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव के लिए बिजली कंपनी ने अपने कार्यक्षेत्र के भोपाल, नर्मदापुरम, ग्वालियर एवं चंबल संभाग के 16 जिलों के समस्त बिजली उपभोक्ताओं से अपील की है कि वे अपने बिजली बिल के भुगतान के लिए घर से निकले बगैर आॅनलाइन भुगतान सेवाओं का लाभ लें और अपने बिल का भुगतान नियत समय पर करें। ऑनलाइन बिजली बिल का भुगतान करने पर अधिकतम 20 रुपए तक बिल में छूट मिलेगी। इसी प्रकार उच्चदाब उपभोक्ता ऑनलाइन बिजली बिल का भुगतान कर अधिकतम एक हजार रुपए की छूट प्राप्त कर सकते हैं। यदि कोई उपभोक्ता ऑनलाइन बिजली बिल का भुगतान करता है तो उसके द्वारा कुल जमा किए गए बिल पर आधा प्रतिशत की छूट मिलेगी। यह छूट अधिकतम 20 रुपए तक होगी और न्यूनतम 5 रुपए होगी। उपभोक्ता एमपी ऑनलाईन, कॉमन सर्विस सेन्टर, कंपनी पोर्टल (नेट बैंकिंग, क्रेडिट/डेबिट कार्ड, यूपीआई, ईसीएस, ईबीपीएस, बीबीपीएस, कैश कार्ड एवं वॉलेट आदि) पेटीएम एप एवं उपाय मोबाइल एप एवं कम्पनी की वेबसाइट के माध्यम से भुगतान कर सकते हैं। उपभोक्ता अपने क्रेडिट कार्ड, डेबिट कार्ड, कैश कार्ड या 50 से अधिक बैंकों की इंटरनेट बैंकिंग के माध्यम से बिजली बिलों का भुगतान कर सकते हैं। कंपनी ने जीएम से लेकर बिजली लाइनमेनों के मोबाइल नंबर की सूची भी सार्वजनिक कर सोशल मीडिया पर डाली है जिस पर बिजली संबंधी समस्या की जा सकती है।

भगुवापुरा तिराहे पर आठ घंटे तक जिंदगी और मौत से लड़ता रहा युवक। इलाज के अभाव में शानू कुशवाह ने दम तोड़ दिया।

यहां काेरोना का डर ही नहीं... सामान बहुत जरूरी है

ऐसे बनानी होगी आपस में लोगों को दूरी...

तस्वीर राजगढ़ चौराहे की है। सुबह 10 बजे किराना दुकान पर दूरी बनाकर खड़े सामान खरीदने आए लोग। यहां किसी ने भी सामान लेने में जल्दबाजी नहीं की।

तस्वीर सुबह 10 बजे टाउन हाॅल की है। किराना दुकान पर बिना सोशल डिस्टेंश बनाए लोग सामान खरीदते हुए दिखे। पूरे देश में जागरूकता की लहर है लेकिन यहां किसी को भी काेरोना की परवाह नहीं।

बस स्टैंड पर सब्जी की दुकानें लगाने चूना डालता नपा कर्मचारी।

जिला अस्पताल का निरीक्षण करते कमिश्नर एमबी ओझा और एडीजी डीपी गुप्ता।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- समय पूर्णतः आपके पक्ष में है। वर्तमान में की गई मेहनत का पूरा फल मिलेगा। साथ ही आप अपने अंदर अद्भुत आत्मविश्वास और आत्म बल महसूस करेंगे। शांति की चाह में किसी धार्मिक स्थल में भी समय व्यतीत ह...

और पढ़ें