फर्जी सीबीआई अफसर ने मेटल की खोज का झांसा देकर व्यापारियों से 50 लाख ठगे

News - खुद को सीबीआई का अधिकारी बताकर 15 से ज्यादा सराफा व मेटल व्यापारियों को ठगने वाले दो आरोपियों को क्राइम ब्रांच ने...

Bhaskar News Network

Nov 11, 2019, 08:26 AM IST
Indore News - mp news fake cbi officer fraudulently looted 50 lakh from traders by pretending to have discovered metal
खुद को सीबीआई का अधिकारी बताकर 15 से ज्यादा सराफा व मेटल व्यापारियों को ठगने वाले दो आरोपियों को क्राइम ब्रांच ने गिरफ्तार किया है। आरोपी रेडियो एक्टिव पदार्थ (आरपी) में मेटल की खोज का झांसा देकर ठगते थे। एएसपी अमरेंद्र सिंह चौहान ने बताया कि गिरफ्तार आरोपी विक्रम (44) पिता अधीर गोस्वामी मूल निवासी कल्लन नगर पश्चिम बंगाल और उसका साथी शहाबुद्दीन (31) पिता मुजफ्फर मलिक निवासी रामनाथपुर थाना पुलवा (हुगली) पश्चिम बंगाल है। विक्रम खुद को सीबीआई अफसर बताकर घूमता था। उसके पास से सीबीआई के स्पेशल ऑफिसर का फर्जी कार्ड मिला है। ये उसने यूट्यूब से क्यूआर कोड स्कैन कर तैयार करना बताया है।

यूट्यूब से क्यूआर कोड स्कैन कर तैयार किया था सीबीआई का आई कार्ड।

छह माह में इंदौर में तैयार किया ठगी का नेटवर्क, सरकार की योजना के नाम पर उलझाया

विक्रम छह महीने से इंदौर में आरोही प्रिंसेज लैंडमार्क (रतलाम कोठी) में था और शहाबुद्दीन कोयला बाखल में। विक्रम दिल्ली, मुंबई, कोलकाता में रहकर एंटीक करेंसी खरीदने-बेचने, फायर वर्क और फुटपाथ पर तौलिया बेचने का काम भी कर चुका। शहाबुद्दीन सराफा में बंगाली कारीगरों के साथ काम करता था। विक्रम ने शहाबुद्दीन के माध्यम से शहर के सराफा व धातु कारोबारियों को रेडियो एक्टिव पदार्थ (आरपी) में भारत सरकार की योजना के लागू होने का बोलकर निवेश कराया था। सभी को 1-1 करोड़ कमाने का झांसा दिया। आरोपियों ने दिल्ली, महाराष्ट्र में भी वारदातें की हैं। आरोपी विक्रम सील, स्टैंप, स्पेशल सीबीआई ऑफिसर के फर्जी दस्तावेज घर में तैयार कर लेता था। विक्रम को उसके किसी परिचित ने आरपी के संबंध में बताया कि आरपी रेडियो एक्टिव पदार्थ के समान होता है। इसका उपयोग मिसाइल टेक्नोलॉजी में किया जाता है। विक्रम ने शहाबुद्दीन को बताया कि उसे पश्चिम बंगाल में आरपी मिला है। शहाबुद्दीन ने विक्रम के कहने पर मप्र में ही कई कारोबारियों को जोड़कर 50 लाख रुपए से अधिक विक्रम को इकट्ठा करवा दिए थे। विक्रम ने सभी को विश्वास में लेकर उनके मोबाइल व लैपटॉप पर भारत सरकार के एक प्रोजेक्ट एसआईटी डीएल की ओर से फर्जी मैसेज भी कर दिए थे।

विक्रम गोस्वामी

शहाबुद्दीन मलिक

Indore News - mp news fake cbi officer fraudulently looted 50 lakh from traders by pretending to have discovered metal
Indore News - mp news fake cbi officer fraudulently looted 50 lakh from traders by pretending to have discovered metal
X
Indore News - mp news fake cbi officer fraudulently looted 50 lakh from traders by pretending to have discovered metal
Indore News - mp news fake cbi officer fraudulently looted 50 lakh from traders by pretending to have discovered metal
Indore News - mp news fake cbi officer fraudulently looted 50 lakh from traders by pretending to have discovered metal
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना