नगर परिषद की अंतिम सूची का प्रकाशन नहीं हुआ, अब ठीकरी-पिपरी में होंगे पंचायत चुनाव

Badwani News - ठीकरी व पिपरी ग्राम पंचायत को मिलाकर शिवराज सरकार ने 2018 में नगर परिषद बनाने की घोषणा की थी। इसकी सभी तैयारी भी कर...

Feb 15, 2020, 09:40 AM IST
Thikari News - mp news final list of city council was not published now panchayat elections will be held in okri pipri

ठीकरी व पिपरी ग्राम पंचायत को मिलाकर शिवराज सरकार ने 2018 में नगर परिषद बनाने की घोषणा की थी। इसकी सभी तैयारी भी कर ली गई थी लेकिन वर्तमान सरकार की कैबिनेट ने इसे खारिज कर दिया है। ठीकरी में अब नगर परिषद के नहीं बल्कि ग्राम पंचायत के चुनाव होंगे। इसको लेकर 15 दिन से शासन के फैसले पर बनी असमंजस की स्थिति गुरुवार को साफ हो गई। जानकारी अनुसार गुरुवार को नवगठित नगर परिषद के वार्डों की सूची का अंतिम प्रकाशन होना था लेकिन केबिनेट के फैसले के बाद प्रदेश की सभी नवगठित नगर परिषदों को दोबारा से ग्राम पंचायत बनाने के आदेश जारी हो गए हैं। यही वजह है कि अंतिम सूचि का प्रकाशन नहीं किया गया।

मप्र सरकार के फैसले से स्थानीय नागरिकों में रोष और सरकार के प्रति निराशा का माहौल बना हुआ है। वर्ष 2018 में तात्कालीन सरकार ने ग्राम पंचायत ठीकरी और पिपरी का विलय कर नगर परिषद बनाने की घोषणा की थी। इसके बाद सभी कार्रवाई भी पूरी कर ली गई थी लेकिन कांग्रेस कैबिनेट की बैठक में इसे खारिज कर दिया गया है। जबकि इससे पहले ग्राम पंचायतों का कार्यकाल पूर्ण होते ही नगर परिषद गठन की सारी तैयारियां पूरी कर ली गई थी। यहां तक की ग्राम ठीकरी और पिपरी को त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव की आरक्षण प्रणाली से बाहर कर जिला पंचायत, जनपद पंचायत का आरक्षण भी कर दिया गया था। एेसे में सरकार ने यह कहकर की दोनों पंचायतें भौगोलिक व जनसंख्या की स्थिति में नगर परिषद बनने लायक नहीं हैं पुनः ग्राम पंचायत बनाने का निर्णय लिया।

दोनों पंचायत में कुल 25 हजार की आबादी और 16 हजार मतदाता हैं

ठीकरी और पिपरी दोनों ग्राम पंचायतों को मिलाकर नगर परिषद बनाने का जो निर्णय लिया गया था वह नियमानुसार ही लिया गया था। ग्रामीणों ने बताया कि ठीकरी और पिपरी जिले की सबसे बड़ी पंचायतें हैं। यहां पर लगभग 16000 से अधिक मतदाता हैं। जनसंख्या भी 25 हजार के लगभग है। दोनों ग्राम पंचायतों में 20 वैध और अवैध काॅलोनियां हैं। साथ ही भौगोलिक स्थिति के लिहाज से भी दोनों पंचायत मिलाकर बड़ा कस्बा है। वहीं क्षेत्रफल और आबादी ज्यादा होने से ग्राम पंचायतों द्वारा सुचारू रूप से यहां पानी और सफाई की व्यवस्थाएं भी संचालित नहीं हो पा रही है।

नगरवासियों ने कहा- सफाई कर्मचारी कम होने से नहीं हो पा रही सफाई

नगरवासियों ने बताया कि पंचायत होने से यहां मुख्य मार्ग पर स्ट्रीट लाइट की व्यवस्था नहीं है। नालियां साफ करने के लिए पंचायत के पास पर्याप्त सफाईकर्मी नहीं होने से नगरभर में नालियों की सफाई नहीं हो पा रही है। इससे नालियां चोक हो गई है। नालियों का गंदा पानी सड़कों पर बह रहा है। कचरा निपटान के लिए भी उचित व्यवस्था नहीं होने के कारण पंचायतें जहां-तहां कचरा फेंक रही हैं। इससे नगर में गंदगी का माहौल बन रहा है। वहीं लोगों को भी बीमारी फैलने का डर बना रहता है।

ठीकरी और पिपरी जिले की सबसे बड़ी पंचायतें, दोनों में 20 वैध व अवैध काॅलोनियां

पंचायत में कम आती है राशि, नहीं हो पा रहा विकास

नगरवासियों ने बताया कि व्यापारियों को नगर परिषद बनने की स्थिति के चलते हटाया गया था लेकिन फिर ग्राम पंचायत बनने से हटाए गए व्यापारियों का भी धंधा ठप हो गया है। ग्राम पंचायतों की दृष्टि से नगर इतना बड़ा हो चुका है कि ग्राम पंचायतों के पास इतनी राशि ही उपलब्ध नहीं रहती कि पूरे नगर में विकास कार्य करवाए जा सकें। अतिक्रमण हटने के बाद तो स्थिति और बद से बदतर हो चुकी है। ऐसे में अब विकास कैस हो पाएगा।

नगर परिषद का गठन होना चाहिए


विकास के लिए नगर परिषद का गठन जरूरी


कांग्रेस सरकार वापस ले अपना फैसला


नगर विकास को रोकेगा सरकार का फैसला


सड़क पर भरा नालियों का गंदा पानी।

खुले में पड़े कचरे को खाते मवेशी।

Thikari News - mp news final list of city council was not published now panchayat elections will be held in okri pipri
X
Thikari News - mp news final list of city council was not published now panchayat elections will be held in okri pipri
Thikari News - mp news final list of city council was not published now panchayat elections will be held in okri pipri
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना