• Hindi News
  • Mp
  • Bhind
  • Lahar News mp news for the first time in chaitra navratri pavai mata cannot be seen

चैत्र नवरात्रि में पहली बार पावई माता के नहीं हो पा रहे दर्शन

Bhind News - चैत्र नवरात्रि में पहली बार पावई वाली माता और लहार में मां मंगलादेवी को गर्भगृह में आइसोलेट किया गया है। कोरोना...

Mar 27, 2020, 07:52 AM IST
Lahar News - mp news for the first time in chaitra navratri pavai mata cannot be seen

चैत्र नवरात्रि में पहली बार पावई वाली माता और लहार में मां मंगलादेवी को गर्भगृह में आइसोलेट किया गया है। कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के किए गए लॉकडाउन में कोई भी भक्त मंदिर नहीं पहुंचे। दूर घरों में ही रहकर सभी भक्तों ने मां से सिर्फ एक ही मन्नत मांगी कि माता रानी कोरोना का संहार कर इच्छा पूरी करो।

बुधवार से शुरू हुए नवदुर्गा महोत्सव में जिले के सभी ऐतिहासिक मंदिरों को प्रशासन ने बंद करा दिया है। प्रसिद्घ पावई माता मंदिर के पुजारी ने दूर से पूजन किया। क्योंकि मुख्य गेट पर तालाबंदी कर दी है। मंदिर सहित गांव में सन्नाटा देख पुजारी भी घर चले गए हैं। जिससे सुबह-शाम की आरती भी बंद हो गई हैं। नौ दिन तक सुबह-शाम दर्शन-पूजन का ऐसा ही क्रम चलेगा। ऐसा पहली बार हुआ कि मंदिर का परिसर सूना है। चैत्र नवरात्रि में हर साल यहां लाखों भक्त दर्शन के लिए पहुंचते हैं। नौ दिन के लिए विशाल मेला लगाया जाता है पर

लॉकडाउन के कारण मुख्य द्वार बंद

पावई मंदिर के पुजारी बताते हैं कि यहां काली माता विराजमान हैं जिन्हें करोली वाली माता की बहन बताया गया है। इनका वर्णन पुराणों में भी मिला है। नवरात्रि के के दिनों में मंदिर परिसर में विशाल मेला लगता है। इसमें जिले सहित अन्य स्थानों से हजारों की संख्या में श्रद्घालु दर्शन करने पहुंचते हैं। लहार में मां मंगलादेवी का ऐतिहासिक मंदिर पिछले 8 दिन से बंद है। यहां भी हर साल महोत्सव के दौरान मेला लगाया जाता है पर कोरोना के भय से अब यहां सन्नाटा पसरा है। आलमपुर में कामख्यादेवी मंदिर, गोहद में शीतला माता मंदिर सहित आदि मंदिरों के पट बंद कर दिए हैं।

पावई माता मंदिर, जहां इस बार नहीं हुआ मेले का आयोजन।

X
Lahar News - mp news for the first time in chaitra navratri pavai mata cannot be seen

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना