पहली बार बिना रथ जवारे लेने पहुंचे

News - बांगरदा में पं. पंकज कोठारी की बाड़ी आज खोली जाएगी नगर में गुरुवार को दो स्थानों पर गणगौर माता की बाड़ी खोली गई।...

Mar 27, 2020, 07:56 AM IST

बांगरदा में पं. पंकज कोठारी की बाड़ी आज खोली जाएगी

नगर में गुरुवार को दो स्थानों पर गणगौर माता की बाड़ी खोली गई। रथ यजमानों के एक-एक कर जवारे सौंपे गए।

पर्व के इतिहास में पहली बार यजमान रणु बाई व धनियर राजा के रथ सजाए बिना बाड़ी पहुंचे। 51 यजमान जवारे लेकर घर पहुंचे और पूजन किया। गुरुवार रात जागरण कर शुक्रवार को मढ़ी में विसर्जन किया जाएगा। हर साल बाड़ी खुलने वाले दिन रथों को पानी पिलाने गणगौर चौक लाया जाता था लेकिन इस साल ऐसा नहीं होने से श्रद्धालु निराश हैं। ग्राम बांगरदा में पं. पंकज कोठारी की बाड़ी शुक्रवार को बाड़ी खोली जाएगी। यजमान जवारे दर्शन-पूजन कर रात भर बाड़ी में ही रखने का निर्णय लिया गया। 26 यजमानों ने मात्र एक जोड़ी रथ सजाने का निर्णय लिया है। बांगरदा में जवारों का विसर्जन शनिवार को किया जाएगा।

इधर, पहली बार श्रद्धालु घर नहीं लाए जवारे

पंधाना | कोरोना वायरस के चलते नगर के लोग काफी सतर्कता बरत रहे हैं। गणगौर पर्व पर कोई कार्यक्रम नहीं हुए। पहली बार श्रद्धालु माता की बाड़ी खुलने पर जवारे अपने घर नहीं ले गए। उन्होंने सातों दिन घर में ही माता का सांकेतिक पूजन किया। गुरुवार को बाड़ी पहुंचकर जवारों की पूजा की। नगर के चुन्नीलाल नेभनानी, लक्ष्मण महाजन व रमेश महाजन ने बताया हमने अपनी उम्र में पहली बार देखा है कि जवारे घर नहीं लाए गए। हालांकि जनहित में यह निर्णय स्वागत योग्य है। प्रधानमंत्री के आह्वान का पालन करना चाहिए।

मूंदी. 51 यजमानों ने जवारे लेकर घर पहुंचकर पूजन किया।

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना