अनहोनी का था बुलावा... हथाईखेड़ा डैम जाना था, स्वागत में ट्राॅफी मिली तो खटलापुरा घाट की तरफ मोड़ दी झांकी

News - शुक्रवार सुबह 4 बजे थे। खटलापुरा घाट पर गणपति प्रतिमाओं के विसर्जन का सिलसिला अंतिम दौर में था। पिपलानी 100...

Bhaskar News Network

Sep 14, 2019, 06:57 AM IST
Bhopal News - mp news had to call for untoward hadhikheda dam had to go trophy was received at the reception then it turned towards khatlapura ghat
शुक्रवार सुबह 4 बजे थे। खटलापुरा घाट पर गणपति प्रतिमाओं के विसर्जन का सिलसिला अंतिम दौर में था। पिपलानी 100 क्वार्टर्स के युवाओं की टोली 13 फीट ऊंची गणेश प्रतिमा के साथ विसर्जन के लिए तालाब किनारे नाव पर सवार होने लगी तो लोगों ने उन्हें रोकने की कोशिश की, लेकिन उत्साह के आगे यह रोक-टोक भी बेअसर रही। प्रतिमा के साथ दो नाव में 17 युवा सवार हो गए। साथ में पांच नाविक भी थे। यानी कुल 22 लोग। तालाब में थोड़ी दूर जाकर उन्होंने जैसे ही प्रतिमा को विसर्जन के लिए धक्का दिया, आपस में जुड़ी हुई दो नावों में से एक में पानी भरने से बैलेंस बिगड़ गया। हड़बड़ाए युवा दूसरी नाव की तरफ आ गए, लेकिन इससे और ज्यादा संतुलन बिगड़ गया और नाव पलट गई। तालाब में चीख-पुकार मच गई। ज्यादातर लड़के तैरना नहीं जानते थे। वे जिस नाव में सवार होकर विसर्जन के लिए गए थे, उसके नाविक तैरकर बाहर आ गए। जैसे-तैसे 6 युवा दूसरी नाव की मदद से जान बचा सके, लेकिन बाकी 11 की वहीं जलसमाधि हो गई। शहर में कोहराम मचा तो सरकार भी हरकत में आई और मृतकों के परिजनों को पहले 4 लाख और फिर तीन घंटे बाद 11 लाख रुपए का मुआवजा देने का फरमान जारी कर दिया। उधर निगम ने भी 2-2 लाख रुपए के मुआवजे की घोषणा की है।

एक अन्य डूबा, एक लापता



नवरात्रि गणेश उत्सव समिति, बी सेक्टर 100 क्वार्टर पिपलानी की गणेश प्रतिमा हमेशा से हथाईखेड़ा डैम में विसर्जन को जाती थी। जहांगीराबाद थाना प्रभारी वीरेंद्र सिंह चौहान का कहना कि झांकी में शामिल लोगों ने बताया था कि विसर्जन के लिए प्रतिमा हथाईखेड़ा डैम लेकर ही जा रहे थे। रास्ते में स्वागत के दौरान उनकी झांकी को ट्राॅफी मिली थी। इसके बाद अचानक झांकी का रास्ता बदला और हम पिपलानी से खटलापुरा मंदिर घाट पहुंच गए। रास्ते में पुलिस ने कई स्थान पर टोका भी कि बड़ी झांकी लेकर उल्टा कहां जा रहे हो।

जिम्मेदार सब, कार्रवाई छोटों पर; सिटी इंजीनियर, आरआई, एएसआई व फायर ऑफिसर सस्पेंड

प्रशासन, निगम और पुलिस ने अपने छोटे कर्मचारियों को जिम्मेदार बताते हुए उन्हें सस्पेंड कर अपनी कार्रवाई पूरी कर दी। जबकि असल जिम्मेदारी बड़े अफसरों की होती है।



मृतकों के नाम...

परवेज खान, रोहित मौर्य, करन कुमार, हर्ष हरी, सनी ठाकरे, राहुल वर्मा, विक्की, विशाल, अर्जुन शर्मा, राहुल मिश्रा, अरुण। सभी पिपलानी थाना क्षेत्र निवासी।


हादसे में बचे युवक की दास्तां

जिनकी नाव में आए थे, वे हमें डूबता छोड़ भाग गए, आंखों के सामने मेरा भाई डूब गया

रात के करीब 3:30 बजे थे। प्रतिमा विसर्जन के लिए हमारा नंबर आया। प्रायवेट नाव से 610 रुपए में सौदा हुआ। हमने दो नावों को जोड़कर क्रेन की मदद से गणेश प्रतिमा रखी। पहले हम 12 लड़के नाव में सवार हुए थे। मेरा भाई हरि भी साथ था। नाविकों ने कहा कि प्रतिमा बड़ी है, इसलिए नाव में संतुलन बनाने के लिए अपने और साथियों को बुलाओ। इसके बाद 7 साथी और आ गए। वजन बढ़ा तो नाव हिलने लगी। फिर दो लोगों को उतारा गया। हम 17 लड़के पांच नाविकों के साथ तालाब में आगे बढ़े। जैसे ही मूर्ति को विसर्जन के लिए पीछे से धक्का दिया, वैसे ही एक नाव ज्यादा झुक गई और उसमें पानी भर गया। इससे उसमें सवार लड़के दूसरी नाव में आ गए। पूरा वजन एक ही नाव पर आने से नाव पलट गई। लड़के पानी में हाथ पैर मारने लगे। हममें से इक्का-दुक्का ही तैरना जानते थे। रात के अंधेरे में हम बचाओ-बचाओ की आवाज लगाते रहे, लेकिन हम जिनकी नाव में सवार होकर आए थे, वे भी हमें छोड़कर भाग चुके थे। हमारे कई साथी डूब गए। मेरा भाई मेरी आंखों के सामने डूब गया। मैं जैसे-तैसे हाथ पैर मारता रहा। इसके बाद एक अन्य नाव आई। हमने इसको पकड़कर अपनी जान बचाई।

- कमल राणा (हादसे में बचा युवक)

Bhopal News - mp news had to call for untoward hadhikheda dam had to go trophy was received at the reception then it turned towards khatlapura ghat
X
Bhopal News - mp news had to call for untoward hadhikheda dam had to go trophy was received at the reception then it turned towards khatlapura ghat
Bhopal News - mp news had to call for untoward hadhikheda dam had to go trophy was received at the reception then it turned towards khatlapura ghat
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना