• Hindi News
  • Mp
  • Shajapur
  • Shajapur News mp news hundreds of people from cities of gujarat and maharashtra passing through bypass

गुजरात और महाराष्ट्र के शहरों के सैकड़ों लोग बायपास से गुजर रहे

Shajapur News - देश की आजादी के पहले हुए विभाजन के दौर में जनता को पलायन का दर्द झेलना पड़ा था, अब 74 साल बाद एक बार ऐसी तस्वीरें...

Mar 27, 2020, 08:36 AM IST
Shajapur News - mp news hundreds of people from cities of gujarat and maharashtra passing through bypass

देश की आजादी के पहले हुए विभाजन के दौर में जनता को पलायन का दर्द झेलना पड़ा था, अब 74 साल बाद एक बार ऐसी तस्वीरें सामने आ रही हैं। रोजगार की आस में छोटे कस्बों से महानगरों में बसे युवकों को बड़े शहरों से खदेड़ा जा रहा है। किराए के कमरे खाली करा लिए गए। हर दिन सैकड़ों लोग अपने-अपने गांवों की ओर एक बार फिर से पलायन करते नजर आ रहे हैं। कोई महाराष्ट्र तो कोई गुजरात की सीमा लांघ अपने प्रदेश में प्रवेश करने के लिए 800 किमी का सफर ऑटो और बाइक से कर रहा है। शहरी सीमा के बाहर
बायपास पर ऐसे नजारे पिछले तीन दिन से दिख रहे हैं।

अहमदाबाद से लौट रहे युवकों से भास्कर ने चर्चा की तो पलायन की डराने वाली तस्वीर सामने आई। ग्वालियर निवासी ब्रजेश परमार ने बताया कि वे अपने साथियों के साथ अहमदाबाद में ऑटो चलाते हैं। जिस क्षेत्र में वे रहते थे, वहां से मकान तक खाली करा लिए गए। ऐसे में उनके पास घर लौटने के अलावा कोई दूसरा रास्ता नहीं बचा। वहीं गुना के भोला परमार ने बताया कि उनके एक रिश्तेदार की मौत की खबर आने पर भी वे समय पर घर नहीं पहुंच पाए। इधर महाराष्ट्र के नासिक में काम करने वाले अब्दुल रईस बाइक से सफर करते हुए विदिशा की ओर जा रहे थे। उन्होंने बताया कि हर जगह चैकिंग हो रही है। पुलिस से बचने के लिए दिन के उजाले में हाइवे का सफर कर रहे हैं, जहां बायपास नहीं मिला वहां रात के अंधेरे में शहरी क्षेत्र से निकले। बस अपने घर पहुंच जाए तो जान बचे।

अहमदाबाद से 465 किलोमीटर की ऑटो से यात्रा कर शाजापुर के बायपास पर पहुंचे युवाओं ने बताया पलायन का दर्द।

टोल प्लाजा से तीन दिनों में डेढ़ हजार ऑटो निकले

बड़े शहरों से हो रहे पलायन का आंकड़ा बायपास पर नजर आने लगा है। होटलों सहित टोल प्लाजा से मिली जानकारी के अनुसार पिछले तीन दिनों में ही इस क्षेत्र से डेढ़ हजार से ज्यादा ऑटो और मैजिक वाहन निकल गए। होटल संचालक प्रवीण शर्मा ने बताया कि होटल बंद होने के बाद भी देर रात तक लोग खाने और चाय पानी की तलाश में आ रहे हैं। मना करने के बाद भी कई लोग तो रात में होटल के बाहर ही सो गए। वहीं टोल प्लाजा प्रभारी वीरेंद्र सिंह चौहान के अनुसार हाइवे से गुजरने वाले बड़े वाहनों में कमी आई है, लेकिन छोटे वाहन अभी भी निकल रहे हैं।

दादी के अनुभव : कैसे हराया बीमारी को

देश दुनिया से अनजान ताराबाई को कोरोना की महामारी का जरा भी अंदाज नहीं था। पिछले तीन चार दिनों से पुलिस के सायरन और अनाउंसमेंट सुन किसी बड़े खतरे का अंदाजा लगा रही थीं। बच्चों से पूछने पर जब उन्होंने कोरोना की जानकारी लगी तो लोगों में व्याप्त बीमारी के डर को कम कर दिया। ताराबाई ने बताया कि देश में काले बुखार के साथ चेचक और हैजे जैसी कई बीमारियां फैल चुकी हैं। इससे उस समय भी लोगों में डर हो गया था। सरकारें और डाॅक्टरों द्वारा हर बार एहतियात के साथ सुरक्षा व्यवस्था की गई। इसका पालन करने पर कोरोना भी गायब हो जाएगा।

विभाजन का असर सीमा पर बसे शहरों पर ही था

बड़े शहरों से पलायन के दौरान शहर में घुस रहे बाहरी लोगों की खबर सामने आने के बाद नगर की 90 वर्षीय तारादेवी जोशी को 74 साल पहले हुए विभाजन की याद ताजा हो गई। शहर के वजीरपुरा में रहने वाली तारादेवी का बचपन देवास जिले के रोजड़ी गांव में बीता। 13-14 साल की उम्र में उन्होंने अपने माता पिता से विभाजन की कहानियां सुनी थी, पर अब तक देखा नहीं था। जैसे ही उन्हें कोरोना की खबरें सुनने को मिली वे भी दंग रह गईं। वे बताती हैं कि विभाजन का असर सीमाओं पर बसे शहरों में था, पर इसका असर पूरे देश में हुआ।

Shajapur News - mp news hundreds of people from cities of gujarat and maharashtra passing through bypass
X
Shajapur News - mp news hundreds of people from cities of gujarat and maharashtra passing through bypass
Shajapur News - mp news hundreds of people from cities of gujarat and maharashtra passing through bypass

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना