किताबों की दुनिया में कॅरियर बनाने का बेहतर विकल्प है लाइब्रेरी साइंस

News - आजकल के छात्रों में किताबों के प्रति रुझान होने के कारण ही उन्होंने किताबों की दुनिया को कॅरियर बना लिया है।...

Mar 27, 2020, 06:41 AM IST
Bhopal News - mp news library science is a better option to make a career in the world of books

आजकल के छात्रों में किताबों के प्रति रुझान होने के कारण ही उन्होंने किताबों की दुनिया को कॅरियर बना लिया है। दिनोंदिन लाइब्रेरियन की डिमांड बढ़ रही है। इसमें कॅरियर की काफी संभावनाएं हैं। लेकिन, इसके लिए जरूरी यह है कि आपको किताब पढ़ने-पढ़ाने का शौक हो। लाइब्रेरी एक साइंस बन चुकी है। लाइब्रेरी साइंस के तीन प्रमुख काम पाठकों को सामान्य सेवाएं देना, तकनीकी कार्य (किताबों की एंट्री, सूची बनाना या इंडेक्सिंग) और प्रशासनिक काम करना हैं। जानकारी का विश्लेषण करने के साथ ही लाइब्रेरियन का सबसे महत्वपूर्ण काम यह सुनिश्चित करना है कि पाठकों को सही समय पर सही किताबें मिल जाएं। नई किताबों पर नजर रखना व पाठकों के लिए उन्हें उपलब्ध कराना। साथ ही यह भी सुनिश्चित करवाना कि लाइब्रेरी में किताबें वापस भी आएं। लाइब्रेरी के अंदर बेहतर माहौल तैयार करना। ये वे काम हैं, जिन्हें एक अच्छा लाइब्रेरियन आसानी से कर सकता है। एक व्यवसाय के रूप में लाइब्रेरियनशिप रोजगार के अनेक अवसर प्रदान करती है।

{आकार के अनुसार किसी लाइब्रेरी में विभिन्न तरह के लोग होते हैं। सबसे बड़ा पद लाइब्रेरियन या पुस्तकालय प्रबंधक का होता है, जो प्रोफेसर के समतुल्य है। इसके बाद डिप्टी लाइब्रेरियन (रीडर के समकक्ष), असिस्टेंट लाइब्रेरियन (लैक्चरर के समकक्ष), लाइब्रेरी असिस्टेंट या टेक्निकल असिस्टेंट के पद होते हैं। इनके लिए सभी लाइब्रेरी एंड इंफॉर्मेशन साइंस में प्रशिक्षित होते हैं।

{डॉ. हरिसिंह गौर विवि सागर से रेगुलर व डिस्टेंट एजुकेशन से लाइब्रेरी साइंस में योग्यता प्राप्त की जा सकती है। इसके अलावा भोपाल सहित विभिन्न शहरों में इसका कोर्स कर सकते हैं। इसके अलावा सरकारी और निजी संस्थानों में भी लाइब्रेरी के साथ-साथ संदर्भ विभाग या रेफरेंस डिपार्टमेंट होता है।

{इलेक्ट्रॉनिक मीडिया के प्रसार ने भी रेफरेंस विभाग को बढ़ावा दिया है। कॉरपोरेट कंपनियां भी अपने यहां लाइब्रेरी को प्रमोट कर रही हैं। मोबाइल और कंप्यूटर का चलन बढ़ रहा है, इसलिए प्रकाशक अपनी किताबों को डिजिटल बनाने में जुटे हुए हैं। ऑनलाइन लाइब्रेरी का चलन चल पड़ा है।

{लाइब्रेरी साइंस अपने आप में एक बड़ा क्षेत्र है। 12वीं पास करने के बाद पुस्तकालय एवं सूचना विज्ञान में कोर्स कर रोजगार प्राप्त किया जा सकता है। लर्निंग रिसोर्स सेंटर, डिजिटल लाइब्रेरी, ऑनलाइन लाइब्रेरी के चलन ने लाइब्रेरी साइंस की उपयोगिता को बढ़ाया है।

डॉ. प्रभात पांडेय, पुस्तकालय अध्यक्ष सरोजिनी नायडू गर्ल्स पीजी कॉलेज

भास्कर एक्सपर्ट**

X
Bhopal News - mp news library science is a better option to make a career in the world of books

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना