• Hindi News
  • Mp
  • Sagar
  • Sagar News mp news mother chandraghanta says stay in the house with a gentle and gentle spirit the monster corona will be destroyed

मां चन्द्रघण्टा बताती हैं -विनम्र व सौम्य भाव से घर में रहें, दैत्य (कोरोना) का होगा नाश

Sagar News - देवी का यह स्वरूप परम शांतिदायक और कल्याणकारी है। उनका ध्यान हमारे इस लोक और परलोक दोनों को सद्गति देने वाला है।...

Mar 27, 2020, 08:26 AM IST
देवी का यह स्वरूप परम शांतिदायक और कल्याणकारी है। उनका ध्यान हमारे इस लोक और परलोक दोनों को सद्गति देने वाला है। इनके मस्तक पर घंटे के आकार का आधा चंद्र है इसीलिए मां को चंद्रघंटा कहा गया है। इनके शरीर का रंग सोने के समान बहुत चमकीला है और इनके दस हाथ हैं। वे खड्ग और अन्य अस्त्र-शस्त्र से विभूषित हैं। सिंह पर सवार दुष्‍टों के संहार के लिए हमेशा तैयार रहती हैं। इसके घंटे सी भयानक ध्वनि से अत्याचारी दानव-दैत्य और राक्षस कांपते रहते हैं।


कोरोना से जीतंे

शक्ति की सुनंे

पिण्डजप्रवरारूढ़ा चण्डकोपास्त्रकेर्युता।

प्रसादं तनुते मह्यं चंद्रघण्टेति विश्रुता॥

पंडित रामगोविंद शास्त्री कहते हैं कि मां विनम्रता और सौम्यता से रहना सिखाती हैं। मां के पूजन से समस्त प्रकार के रोग और उपद्रव शीघ्र नष्ट हो जाते हैं। कोरोना वायरस से बचाव के लिए व्यक्ति को सौम्य और विनम्र भाव से घर पर ही रहना जरूरी है। मां चंद्रघंटा के पूजन से यह महामारी जल्दी ही खत्म होगी।

चंद्रघण्टा की कथा

मां चन्द्रघण्टा असुरों के विनाश के लिए मां दुर्गा के तृतीय रूप में अवतरित होती है। जो भयंकर दैत्य सेनाओं का संहार करके देवताओं को उनका भाग दिलाती है। भक्तों को वांछित फल दिलाने वाली हैं। आप सम्पूर्ण जगत की पीड़ा का नाश करने वाली है। जिससे समस्त शात्रों का ज्ञान होता है, वह मेधा शक्ति आप ही हैं। दुर्गा भव सागर से उतारने वाली भी आप ही है।

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना