आज खुलेगी माता की बाड़ियां, केवल सेवादार करेंगे पूजन

Khargon News - जिले में सादगी से मनेगा गणगौर पर्व गणगौरी तीज पर शुक्रवार को माता की बाड़ियां खुलेगी लेकिन ऊन में सामूहिक रूप...

Mar 27, 2020, 07:45 AM IST

जिले में सादगी से मनेगा गणगौर पर्व

गणगौरी तीज पर शुक्रवार को माता की बाड़ियां खुलेगी लेकिन ऊन में सामूहिक रूप से पूजन नहीं होगा। पंचायत व पुलिस प्रशासन ने निर्णय लिया है कि तीनों बाड़ियों मेें पंडित ही पूजन करेंगे। शनिवार को विधिवत विसर्जन होगा। ग्राम के कोई भी व्यक्ति घर से बाहर नहीं निकलेंगे। इसके अलावा जरुरत के सामान के लिए सभी किराना व्यापारी व दूध डेयरी वालों के मोबाइल नंबर दिए है। यह घर पहुंच सेवा देंगे।

कसरावद क्षेत्र के बड़गांव में भी माता की बाड़ी में भीड़ नहीं होगी। कुछ युवा वाहन से घर-घर माता के जुवारे पहुंचाएंगे। शुक्रवार सुबह 9 बजे गांव पटेल पूरे गांव की ओर से माता का पूजन करेंगे। शनिवार की शाम युवा ही मिनी वाहन से गणगौर माता के जवारे विसर्जन के लिए नर्मदा तट ले जाएंगे।

धरगांव | गांव में तीन माता की बाड़ियां शुक्रवार को खुलेगी लेकिन माता की बाड़ी संचालक व गांव पटेल ही पूजा कर सकेंगे। यह निर्णय ग्रामीणों ने मिलकर लिया है। बाड़ी संचालक राजनाथ बिल्लोरे, बसंत बिल्लोरे व संतोष कोठारी ने बताया यह पहली बार देखने को मिल रहा है कि यह पर्व महिला श्रद्धालुओं की अनुपस्थिति में मनेगा।

अपील : बाड़ी में पूजन करने नहीं जाएं

महेश्वर | शुक्रवार को गणगौर माता की बाड़ियां खुलेगी। एसडीएम आनंदसिंह राजावत ने लोगों से कहा कि कोरोना वायरस के प्रभाव को देखते हुए माता की बाड़ी का पूजन करने नहीं जाए। इससे संक्रमण की आशंका रहेगी। केवल पुजारी अपने परिवार के साथ माता का पूजन कर लोगों की कुशल मंगल की कामना करेंगे। यहां किला परिसर स्थित जंबू धर्मशाला, महालक्ष्मी माता मंदिर के पास लक्ष्मीबाई मार्ग, साली मोहल्ला, माली मोहल्ला, राजपूत समाज धर्मशाला, गोबर गणेश मंदिर आदि स्थानों पर माता की बाड़ी है।

घर पर ही पूजन करें, भंडारा नहीं होगा

बमनाला | यहां भी माता की बाड़ी का पूजन केवल पंडित करेंगे। गणगौर उत्सव समिति ने ग्रामीणों से कहा- कोई भी पूजन के लिए बाड़ी में भीड़ ना करें। सुबह 9 बजे समिति सदस्य माता के जुवारे घर पहुंचाने की व्यवस्था करेंगे। घर पर ही पूजन होगा। शनिवार को माता रूपी जुवारों को विसर्जन के लिए भी समिति सदस्य ले जाएंगे। विसर्जन में भी आवश्यक लोग ही शामिल होंगे। इस साल भंडारे का आयोजन भी नहीं किया जाएगा। समिति ने इसको लेकर गांव में अनाउसमेंट भी करवाया है।

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना