• Hindi News
  • Mp
  • Ashoknagar
  • Ashoknagar News mp news napa made a list of 150 people from other districts going door to door but did not go to the inquiry even after calling

दूसरे जिले से आए 150 लाेगाें की घर-घर जाकर नपा ने बनाई सूची, लेकिन बुलाने पर भी नहीं गए जांच कराने

Ashoknagar News - जो जानकारी छुपा रहे उन पर होगी कानूनी कार्रवाई, 14 दिन में वायरस करता है ग्रोथ इसलिए ऐसे लोगों का होम आइसोलेशन में...

Mar 27, 2020, 06:36 AM IST

जो जानकारी छुपा रहे उन पर होगी कानूनी कार्रवाई, 14 दिन में वायरस करता है ग्रोथ इसलिए ऐसे लोगों का होम आइसोलेशन में भी

कोरोना वायरस संक्रमण से बचाव के लिए जहां लोगों ने अपने काम-धंधे बंद कर घरों में खुद को बंद कर रखा है। दूसरी तरफ पूरे देश में लॉक डाउन होने के बाद कई परिजन अपने घर पहुंच गए हैं। इनमें महाराष्ट्र, दिल्ली, पंजाब सहित भोपाल, इंदौर से आए लोग भी शामिल हैं। कई दिनों से रुके इन परिजनों की जानकारी न तो परिवार के लोगों ने प्रशासन और पुलिस को दी न ही उनका स्क्रीनिंग कराया। आस पड़ौस में लोगों को संक्रमण का डर बना हुआ है। यही वजह है कि दिन भर में पुलिस, प्रशासन और मीडिया के पास शहर सहित ग्रामीण अंचलों से दर्जनों फोन बाहर से आए लोगों की जानकारी देने के लिए आ रहे हैं। शुक्रवार को भी पुलिस और नगर पालिका ने भी ऐसे लोगों की जानकारी मिलने पर उन्हें घरों से बुलाकर जांच के लिए अस्पताल भिजवाया।

लॉज संचालक पर नियमों का पालन नहीं करने और जानकारी छुपाने पर 188 का मामला दर्ज

मशीन से सैनेटाइजर का छिड़काव करते नपाकर्मी

सैनिटाइजर मशीन तैयार

संक्रमण हटाने नपा ने सेनेटाइजर मशीन चालू कर दी है। वाहन में फिट मशीन से दवाओं का छिड़काव अस्पताल सहित अन्य प्रमुख स्थानों पर होगा। नपा सीएमओ शमशाद पठान ने इस मशीन का डेमो कर पहले नपा के गेट को सैनिटाइज कराया। जिले में यह पहली मशीन हैं जो व्यापक स्तर पर क्षेत्र को सैनिटाइज कर सकती है।

बाहर से आए लोगों को ढूंढ निकाला

शहर में अब नपा प्रशासन ने बाहर से आए लोगों का रिकॉर्ड खंगालना शुरू किया है। गुरुवार को विभिन्न वार्डों में ऐसे 150 लोगों की सूची फिलहाल तैयार हुई है जो बाहर से आए हैं। इनमें पंजाब से एक युवक 21 मार्च को यादव कॉलोनी में आया। वहीं जोधपुर से आए ट्रक ड्राइवर अम्बेडकर मोहल्ला, मुंबई, दिल्ली, युपी, सूरत, इराक सहित अन्य लोग शामिल हैं। जो अभी तक अस्पताल में परीक्षण तक कराने नहीं पहुंचे हैं।

आपको भी चौकन्ना होना जरूरी

अभी नहीं समझदार बनें तो खुद के साथ शहर आ जाएगा दिक्कत में- जिले में सैकड़ों लोग अभी भी ऐसे हैं जो बाहर से आकर अपने घरों में रह रहे हैं। न तो इन्होंने खुद को वहीं दूसरी तरह शहर में कई ऐसे लोग हैं जिनके घरों पर बाहर से परिजन आकर रुके हैं लेकिन इन्होंने खुद को होम आइसोलेशन पर नहीं रखा है और न ही अस्पताल पहुंचकर जांच दी है। ऐसे लोगों से न केवल उनके परिजन बल्कि पूरे शहर को खतरा है। इसके बाद भी लोग जांच कराने से परहेज कर रहे हैं।

होम आइसोलेशन किनके लिए जरूरी

दूसरे जिले व प्रांते से अाने वाले लाेगाें काे नजदीकी अस्पताल में अपनी जांच कराना चाहिए। इसका वायरस 14 दिन तक ग्रो कर सकता है, इसलिए इन लोगों को घर में एक कमरे में आइसोलेट होने की जरूरत है।

होम आइसोलेट होने पर क्या करें?

{14 दिन कमरे में बिताना है।

{परिवार के लोगों से भी दो मीटर की दूरी से मिलंे।

{हाथों को बार-बार साबुन पानी से धोते रहें।

{अगर गले में खराश, सर्दी-खांसी या बुखार है तो अस्पताल में जांच कराने जाएं।

{होम आइसोलेशन या क्वारेंटाइन किया शख्स कोरोना पॉजिटिव अथवा संदिग्ध मरीज है, घबराएं नहीं।

जानकारी छुपाने पर शुरू की पुलिस ने कार्रवाई

गुरुवार को एसपी रघुवंश भदौरिया को फोन पर सत्यम लॉज में बाहरी व्यक्ति के रुकने की जानकारी लगी। पुलिस लॉज में 19 मार्च से संजय कृष्ण चौरसिया निवासी बरेली इलाहबाद का रुकना पाया गया। लॉज संचालक लक्ष्मण पुत्र लालाराम लोधी पर 188 के तहत कार्रवाई की गई।

जिला अस्पताल में पर्चा काउंटर पर पुलिस ने लगवाई नियत दूरी पर मरीजों की कतार।

घर-घर पहुंचकर बाहर से आए लोगों की जानकारी जुटाते नपाकर्मी।

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना