आसपास के किसान भोपाल में फंसे, मजदूर मिल रहे न हार्वेस्टर

News - शहर में फंसे इन किसानों को चिंता सता रही है कि खेत में फसल तैयार है। लेकिन वे कटाई के इंतजाम नहीं कर पा रहे हैं। अगर...

Mar 27, 2020, 06:47 AM IST

शहर में फंसे इन किसानों को चिंता सता रही है कि खेत में फसल तैयार है। लेकिन वे कटाई के इंतजाम नहीं कर पा रहे हैं। अगर समय पर फसल की कटाई नहीं हो पाई तो वह खराब हो जाएगी। इससे किसानों को दोहरी मार झेलनी पड़ेगी, क्योंकि कई किसानों ने कर्ज लेकर बुआई की है। ऐसे किसान शहर के संबंधित थाने और तहसील के चक्कर लगा रहे हैं। मगर उन्हें कहीं से कोई मदद नहीं मिल रही है।

प्रदेश में इन दिनों गेहूं, चना, मसूर और चावल की फसल खेतों में तैयार है। लॉक डाउन की वजह से किसान अपने खेतों पर नहीं पहुंच पा रहे हैं। पुलिस ने प्रदेश के सभी जिले और कस्बे सील कर दिए हैं। किसी को भी घर से निकलने की परमिशन नहीं है। किसानों का कहना है कि वे खुद खेतों तक नहीं पहुंच पा रहे हैं। ऊपर से पिछले दिनों बेमौसम बारिश नेे उनकी चिंता और बढ़ा दी है। इससे उनकी फसल को नुकसान हो सकता है। वे पास बनवाने के लिए शासन-प्रशासन से गुहार लगा रहे हैं, ताकि वे खेत जाकर कुछ कर सकें।

राजेंद्र सिंह, कृष्ण सिंह चौहान ग्राम डाेलरिया (इटारसी) के निवासी हैं। इनके बच्चे भोपाल में पढ़ाई कर रहे हैं और ये उनसे मिलने आए थे। लेकिन लॉक डाउन होने से वे यहां फंस गए हैं। डोलरिया में इनकी 120 एकड़ जमीन है, जिसमें फसल बोई थी। इनका कहना है कि हम किसी तरह अपने खेत तक पहुंचना चाहते हैं, ताकि तैयार फसल को बर्बाद हाेने से बचा सकें।

भोपाल निवासी सईद हसन पेशे से किसान हैं। इनकी 40 एकड़ जमीन सलामतपुर (रायसेन) मंे हैं। इनके खेत में गेहूं, चना, मसूर की फसल खड़ी है। एक तरफ कोरोना वायरस कहर बरपा रहा है तो दूसरी आेर बेमौसम बारिश की मार से वे परेशान हैं। इनके अलावा और भी कई किसान हैं, जिनकी जमीन मण्डीदीप, विदिशा, बैरसिया, सांची, विदिशा, नसरुल्लागंज में है। लेकिन वे चाहकर भी खेत तक नहीं जा पा रहे हैं।

... चिंता बढ़ा दी है

खेतों में गेहूं-चना की फसल कटने को तैयार है। लेकिन हम लोग खेतों तक नहीं पहुंच पा रहे हैं। बारिश ने हम लोगों की चिंता बढ़ा दी है। खेतों में फसल का क्या हाल है, यह देखने वाला कोई नहीं है। - हेमंत, विकास, जगदीश, राजाराम, विजय, राजू, संजय, सभी किसान, मिसरोद,

परमिशन मिल जाएगी

किसान की खेती-बाड़ी अगर दूसरे गांव या शहर में है तो वे अपने संबंधित थाने में जाकर खेती के दस्तावेज दिखाएं। उन्हें वहां आने-जाने की परमिशन मिल जाएगी। - जमील खान, एसडीएम, शहर वृत

खड़ी फसल खराब होने के आसार

देशव्यापी लॉक डाउन के चलते किसान परेशान हैं, क्योंकि खेत में उनकी फसल पक चुकी है और समय रहते कटाई नहीं की गई तो फसल खराब हो जाएगी। शहर के किसान खेत नहीं जा पा रहे हैं और जो किसान अपने बच्चों की कुशलक्षेम जानने राजधानी में आए थे, वे भी यहां फंस गए हैं। इनकी मुसीबत यह है कि कटाई के लिए न तो मजदूर मिल रहे हैं और न ही हार्वेस्टर।**

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना