• Hindi News
  • Mp
  • Sagar
  • Sagar News mp news not worried about license fees not corona pressure is being put on contractors to open liquor shops

कोरोना की नहीं, लाइसेंस फीस की चिंता! शराब दुकान खुलवाने ठेकेदारों पर बनाया जा रहा दबाव

Sagar News - सागर| एक ओर जिला प्रशासन भीड़ रोकने के लिए लगातार प्रयास कर रहा है। वहीं दूसरी ओर भीड़ जमा करने के बहाने भी तैयार कर...

Mar 27, 2020, 08:26 AM IST

सागर| एक ओर जिला प्रशासन भीड़ रोकने के लिए लगातार प्रयास कर रहा है। वहीं दूसरी ओर भीड़ जमा करने के बहाने भी तैयार कर रहा है। ताजा मामला शराब दुकानों का है, इसे लेकर गुरुवार को जिला प्रशासन की तरफ से एक पत्र जारी किया गया है। इसमें शराब ठेकेदारों को 23 मार्च को जारी पत्र क्रमांक 646/ 2020 का हवाला देकर कहा गया है वे इसका पालन आगामी 31 मार्च तक करें। इस पत्र में शराब ठेकेदारों को निर्देश दिए गए थे कि वे दोपहर 12 बजे से शाम 5 बजे तक शराब की बिक्री कर सकते हैं।

ठेकेदार इच्छुक नहीं, फिर भी
खुलवाने के लिए दबाव


शराब ठेकेदारों का कहना है कि वर्तमान में कोरोना का जोर है। ऐसे में हम लोग व हमारे कर्मचारी काम करने को तैयार नहीं है। अगर हम लोग दुकान खोल भी लें तो ग्राहक कहां से लाएंगे। पुलिस तो घर के बाहर खड़े होने पर भी सख्ती बरत रही है। फिर शराब लेने कौन से ग्राहक आएंगे। असल में ये सारी प्रशासनिक कसरत हम लोगों से बचे हुए 5 दिन की लाइसेंस फीस वसूलने के लिए की जा रही है। जो सरासर गलत है। हम लोग बिलकुल भी नहीं चाहते कि दुकान खुलें और एक ऐसी भीड़ जमा हो जिससे समाज की जान करे खतरा बन जाए।

आबकारी विभाग के अफसर व जिला प्रशासन द्वारा शराब दुकान के संबंध में अपनाई जा रही रणनीति को लेकर मैदानी अमला भी नाखुश है। उनका कहना है कि अगर जिला प्रशासन ये सोच रहा है कि कोरोना के बढ़ते जोर में शराब खरीदने वाले खासकर देसी शराब के शौकीन स्वच्छता का ध्यान रखेंगे तो यह बहुत बड़ी गलतफहमी है। अफसरों को केवल राजस्व की फिक्र है, जबकि इस कदम से जाने कितने लोगों की जान खतरे में पड़ सकती है। इधर ठेकेदारों का कहना है कि हम लाेग इस बारे में जिला प्रशासन को लिखित में असमर्थता जता चुके हैं। फिर भी हमें दुकान खोलने के लिए कहा जा रहा है।

एसीएस के निर्देश के मुताबिक काम करेंगे - प्रीति मैथिल नायक, कलेक्टर, सागर का कहना है कि मेरे अधिकार में 5 दिन तक दुकान बंद करवाना था। इसका मैं उपयोेग कर चुकी हूं। वर्तमान में जो भी कार्रवाई की जा रही है, वह आबकारी विभाग के एसीएस की एडवाइजरी के मुताबिक है।

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना