अब 30 जून तक भरें जीएसटी रिटर्न

Murena News - काेरोना इफेक्ट- लॉकडाउन के कारण बढ़ाई तारीख, लेट फीस में ब्याज दर आधी की काेराेना के लाॅकडाउन का असर देश के...

Mar 27, 2020, 07:57 AM IST

काेरोना इफेक्ट- लॉकडाउन के कारण बढ़ाई तारीख, लेट फीस में ब्याज दर आधी की

काेराेना के लाॅकडाउन का असर देश के वित्तीय कैलेंडर पर भी पड़ा है। इनकमटैक्स व जीएसटी का भुगतान करने वाले व्यापारियाें के लिए यह राहत भरी खबर है। व्यवसायी अब 30 जून तक जीएसटी व इनकम टैक्स रिटर्न भर सकेंगे।

कर सलाहकार पदमचंद्र जैन ने बताया आयकर, जीएसटी व रिटर्न संबंधी तारीख 31 मार्च से बढ़ाकर 30 जून कर दी गई हैं। जिनके पैनकार्ड अभी तक आधार कार्ड से लिंक नहीं हाे पाए हैं उन्हें भी पैनकार्ड लिंक करवाने के लिए 30 जून तक का समय मिलेगा। टीडीएस और टीसीएस रिटर्न फाइल करने की ब्याज दर आधी कर दी गई है। यह ब्याज दर 18 प्रतिशत से घटाकर 9 प्रतिशत कर दी गई है।

इधर, 5 करोड़ से कम टर्नओवर वाली कंपनी के व्यापारियाें काे किसी तरह की लेट फीस व ब्याज का भुगतान नहीं करना पड़ेगा। 5 कराेड़ रुपए से अधिक टर्नओवर वाले व्यापारियाें काे टैक्स में देरी हाेने पर भी 18 प्रतिशत की बजाए 9 प्रतिशत ब्याज ही देना हाेगा। जीएसटी पर भी कुछ नए निर्देश जारी किए गए हैं।

2018- 19 इनकम टैक्स रिटर्न भरना। आधारकार्ड से पैनकार्ड काे लिंक करवाना। मार्च-अप्रैल-मई का जीएसटी रिटर्न भरना।कंपोजीशन स्कीम चुनना। विवाद से विश्वास स्कीम चुनना। सबका विश्वास स्कीम चुन सकते हैं।

जीएसटी में यह हाेगा नया

01 अप्रैल 2020 से जीएसटी में नया रजिस्ट्रेशन करवाने वाले व्यापारियाें का भाैतिक सत्यापन जरूरी हाेगा। बिना वित्तीय केवायसी के रजिस्ट्रेशन नहीं हाे सकेगा। व्यक्तिगत व्यवसाय, मैनेजर के रूप में, पार्टनर के रूप में, या हिंदू अविभाजित परिवार के मुखिया के रूप में व्यापार से जुड़ने वाले व्यक्ति काे रजिस्ट्रेशन के समय आधार क्रमांक देना जरूरी हाेगा। वर्ष 18-19 के जीएसटी 9सी फार्म में वार्षिक टर्नओवर की सीमा 2 करोड़ से बढ़ाकर 5 करोड कर दी गई है। जिसे भरने की तारीख भी 9 जून कर दी गई है।

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना