• Hindi News
  • Mp
  • Damoh
  • Damoh News mp news one and a half year old son39s heart did not get rest even after being admitted for six days mother wept bitterly

डेढ़ साल के बेटे के दिल में सुराख, छह दिन से भर्ती होने पर भी नहीं मिला आराम, फूट-फूट कर रोई मां

Damoh News - जिला अस्पताल में पिछले छह दिन से बेटे का इलाज कराने के बाद आराम न लगने पर एक महिला गुरुवार को फूट-फूट कर रोने लगी।...

Mar 27, 2020, 06:56 AM IST
Damoh News - mp news one and a half year old son39s heart did not get rest even after being admitted for six days mother wept bitterly

जिला अस्पताल में पिछले छह दिन से बेटे का इलाज कराने के बाद आराम न लगने पर एक महिला गुरुवार को फूट-फूट कर रोने लगी। महिला का कहना था कि बेटा के दिल में सुराख बताया है, इलाज में काेई आराम नहीं लग रहा है, अस्पताल में न दवाएं मिल रही हैं और न ही वह अपने घर जा पा रही है। महिला बेटे की हालात बिगड़ने पर चेकअप कराने के लिए एसएनसीयू वार्ड में गई, तो वहां पर डाक्टर नहीं मिला। जब उसकी कोई सुनवाई नहीं हुई तो वह पलंग पर बैठकर रोने लगी।

हटा के ककराई गांव से आईं भूरीबाई बताया कि उसके बेटे डेढ़ साल के चंदन के दिल में छेद है। छह दिन पहले आए थे, यहां पर इलाज के लिए भर्ती कराया गया था, लेकिन कोई कुछ नहीं बोल रहा है, बार-बार बेटा रोता है और रात में सोता भी नहीं है। उसकी हालात बिगड़ती जा रही है, लेकिन यहां पर कोई कुछ कहने को तैयार नहीं है। छह दिन में दवाएं भी नहीं मिल रही है। गुरुवार को ड्यूटी डाक्टर ने एक सिरप लिख दिया, लेकिन अस्पताल में सिरप नहीं था। छह दिन से महिला से अस्पताल में रुकने की वजह से महिला के पैसे भी खत्म हो गए थे, ऐसे में वह दवाएं भी नहीं खरीद पा रही थी। महिला ने बताया कि वह अपनी 12 साल की बेटी को अकेला घर छोड़कर आई है, यहां पर न बेटे इलाज हो पा रहा है और न घर जा पा रहे हैं। डाक्टर भी कोई स्पष्ट जवाब दे रहे हैं, ऐसे में समझ नहीं आ रहा क्या करें।

हिला की स्थिति से सिविल सर्जन डॉ. ममता तिमोरी को अवगत कराया गया तो उन्होंने कहा कि उसे एसएनसीयू वार्ड में भेज दो, तो नर्स ने महिला से कहा, महिला बोली, वहां पर गए थे, पर कोई डाक्टर नहीं मिला। छह दिन से यहां पर न इलाज मिल रहा है और न ही कोई सही रास्ता बताने वाला है। जबकि बेटे की तबियत बिगड़ती जा रही है। इस संबंध में सिविल सर्जन ममता तिमोरी ने बताया कि ड्यूटी डाक्टर से पूछकर स्थिति का पता करते हैं, यदि स्थिति गंभीर है तो उसका इलाज कराने के लिए भेजा जाएगा।

X
Damoh News - mp news one and a half year old son39s heart did not get rest even after being admitted for six days mother wept bitterly

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना