हैदराबाद में बलात्कार की घटना पर शहर की कवयित्रियों ने रचनाअों से जताया आक्रोश

News - हैदराबाद में महिला डाॅक्टर के साथ बलात्कार की घटना पर शहर के कवियों ने रचनाएं पढीं और भोपाल गैस त्रासदी की बरसी पर...

Dec 04, 2019, 09:00 AM IST
Indore News - mp news poets of the city expressed their anger with the creations on the rape incident in hyderabad
हैदराबाद में महिला डाॅक्टर के साथ बलात्कार की घटना पर शहर के कवियों ने रचनाएं पढीं और भोपाल गैस त्रासदी की बरसी पर कैंडल जलाकर श्रद्धांजलि दी। नेहरू पार्क में शहर के कवियों ने हैदराबाद की घटना पर कविता के ज़रिए अपने आक्रोश अभिव्यक्त किया। रविवार को इसमें कवियों-कवयित्रियों ने दोनों घटनाअों पर रचनाएं पढ़ीं। वरिष्ठ कवि नारायण उग्र ने है मां महाकाली खप्पर वाली / कलियुग के महिसासुरों का मां संहार करो कविता सुनाकर अपना आक्रोश जताया तो सुनीता अग्रवाल ने रचनाएं सुनाई कि उठो नारी आया समय /उठो नारी युग निर्माण तुम्हें करना है / अपने को कमजोर मत समझो / जननी हो तुम सम्पूर्ण जगत की / नया इतिहास अपने कर्मों से रचना है। हंसा मेहता ने मानव कहलाने के लायक नहीं / हैवान कहना भी जानवरों का अपमान है कविता सुनाई। मुकेश इंदोरी ने ग़ज़ल सुनाई : इंसान आज सारी हदें पार कर गया / होशो हवास से कहीं आगे गुज़र गया। उन्होंने भौपाल गैस त्रासदी पर भी रचना पढ़ी : कैसी डरावनी वो काली रात थी / क्रूर काल विकराल की घात थी। श्याम बाघोरा, दिनेश शर्मा, अनूप सहर, वीरजी छाबड़ा, संजय जैन, चंद्रशेखर चोरोले, विनय चौहान, अलका जैन, रमेश धवन, नयन राठी, अनिता सेरावत, आहना बागोरा ने भी कविताएं सुनाईं। आभार श्याम बागोरा ने माना।

सिटी रिपोर्टर . इंदौर

X
Indore News - mp news poets of the city expressed their anger with the creations on the rape incident in hyderabad
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना