पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Sagar News Mp News Raise On Tourism In Nairadehi Sanctuary No One Will Be Able To Enter Rake On Tourism

नाैरादेही अभयारण्य में चाैकसी बढ़ाई, काेई भी नहीं कर सकेगा प्रवेश, टूरिज्म पर राेक

6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

सागर। नाैरादेही अभयारण्य में बाघ-बाघिन अाैर उनके शावकाें की सुरक्षा काे लेकर वन विभाग ने चाैकसी बढ़ा दी है। काेराेना वायरस काे लेकर अलर्ट के बीच शासन से वन्य प्राणियाें की सुरक्षा काे लेकर भी पुख्ता इंतजाम रखने के निर्देश दिए हैं। हालांकि जानवराें में इस वायरस के संक्रमण काे लेकर अभी तक काेई प्रमाण सामने नहीं अाए हैं, लेकिन अहितयातन वन विभाग इस तरह के उपाय कर रहा है। नाैरादेही अभयारण्य से लगे गांवाें के लाेग लकड़ी काटने जंगल में घुस अाते हैं। वन विभाग ने अागामी अादेश तक के लिए अभयारण्य में टूरिज्म गतिविधियाें पर भी राेक लगा दी है।

ट्रैकर कैमराें से रखी जा रही शावकाें पर नजर : वन विभाग के सामने शावकाें की सुरक्षा बड़ी चुनाैती है। ये अभी खुद शिकार नहीं कर पा रहे हैं। बाघिन के शिकार पर ही निर्भर हैं। वन विभाग इन शावकाें पर अाधुनिक ट्रैकर कैमराें से नजर रख रहा है। हर 15 दिन में कैमराें के फुटेज कलेक्ट कर शावकाें की स्थिति अाैर उनके मूवमेंट की लाेकेशन पता की जा रही है। अभयारण्य में बढ़ते तापमान के बीच वन्य प्राणियाें काे पानी का इंतजाम भी जरूरी हाेगा। यहां प्राकृतिक जल स्त्राेत अप्रैल-मई में सूखने लगते हैं। वन विभाग फिलहाल अभयारण्य में किसी भी कार्ययाेजना पर काम शुरू कराने से बच रहा है।

सुरक्षा बढ़ाने के निर्देश मिले है : नाैरादेही अभयारण्य के डीएफअाे नवीन गर्ग ने बताया कि शासन से बाघ-बाघिन व शावकाें की सुरक्षा बढ़ाने के साथ ही टूरिज्म काे लेकर तमाम गतिविधियां राेकने के निर्देश अाए हैं। काेराेना वायरस से वन्य प्राणियाें पर अभी तक खतरे के संकेत नहीं मिले, फिर भी इनकी सुरक्षा काे लेकर पूरी सावधानी बरती जा रही है। कई बार लाेग जंगल काे अावाजाही से दूर अाैर सुरक्षित मानकर यहां चले अाते हैं। हाे सकता है कि लाॅक डाउन खत्म हाेने के बाद लाेग यहां अाना शुरू कर दें, इसलिए अभी से राेक लगाई गई है।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- समय पूर्णतः आपके पक्ष में है। वर्तमान में की गई मेहनत का पूरा फल मिलेगा। साथ ही आप अपने अंदर अद्भुत आत्मविश्वास और आत्म बल महसूस करेंगे। शांति की चाह में किसी धार्मिक स्थल में भी समय व्यतीत ह...

और पढ़ें