• Hindi News
  • Mp
  • Indore
  • News
  • Indore News mp news sindhi society celebrated chetichand festival at home lit lamps for people serving in this time also

सिंधी समाज ने घर में ही मनाया चेटीचंड उत्सव, इस घड़ी में भी सेवा कर रहे लोगों के लिए जलाए दीपक

News - उजमने कार्यक्रम निरस्त गणगौर तृतीया पर्व शुक्रवार को मनाया जाएगा। इस दिन विवाहित महिलाएं अपने की लंबी आयु...

Mar 27, 2020, 07:30 AM IST
Indore News - mp news sindhi society celebrated chetichand festival at home lit lamps for people serving in this time also

उजमने कार्यक्रम निरस्त

गणगौर तृतीया पर्व शुक्रवार को मनाया जाएगा। इस दिन विवाहित महिलाएं अपने की लंबी आयु के लिए और कुंवारी कन्याएं अच्छे वर की कामना के लिए यह व्रत रखकर पूजन करेंगी। माहेश्वरी महिला संगठन की विभिन्न इकाइयों द्वारा उजमने के आयोजन भी किया जाता है, जिसे इस बार निरस्त कर दिया गया है। गणगौर तृतीया पर्व का आयोजन शिव एवं शक्ति स्वरूपा पार्वती की असीम कृपा प्राप्त करने के लिए किया जाता है। धर्मशास्त्रों में इसे
गौरी उत्सव, गौरी तृतीया, ईश्वर गौरी, दोलोत्सव के नाम से भी जाना जाता है।

सूर्योदय से पहले स्नान कर नए वस्त्र करना चाहिए धारण- पं. शिवप्रसाद तिवारी के अनुसार इस व्रत को करने के लिए प्रात:काल सूर्योदय से पूर्व स्नान-ध्यान कर साफ-सुंदर वस्त्र धारण करना चाहिए। घर के एक शुद्ध और एकांत स्थान में पवित्र मिट्टी से चौकोर वेदी बनाकर, केसर, चंदन और कपूर से उस पर चौक पूरा जाता है और बीच में देवी व शिव मूर्ति की स्थापना कर फूलों, फलों, दूब, रोली आदि से पूजन किया जाता है। पूजन में मां गौरी के दस रूपों की पूजा की जाती है। मां गौरी के दस रूपों में गौरी, उमा, लतिका, सुभागा, भगमालिनी, मनोकामना, भवानी, कामदा, भोग वर्द्विनी और अंबिका हैं। तिवारी ने बताया इस व्रत में लकड़ी की बनी या किसी धातु की बनी हुई शिव-पार्वती की मूर्तियों को स्नान कराने का विधान है। पंडितों के अनुसार यह पर्व कुंवारी कन्याओं से लेकर विवाहित महिलाएं
मनाती हैं। वे भगवान शिव, माता पार्वती का पूजन करती हैं।

इन लोगों के लिए लगाए गए दीपक

{ एक दीपक देश के सभी डॉक्टर्स के लिए।

{ दूसरा दीपक भारत के वैज्ञानिकों के लिए।

{ तीसरा दीपक भारतीय पुलिस के लिए।

{ चौथा दीपक भारतीय सेना के लिए।

{ पांचवां दीपक आप और हम सबके लिए।

अपने आसपास के गरीब परिवारों के लिए करेंगे भोजन की व्यवस्था

शहर के सभी सिंधी समाजजनों ने गुरुवार को भगवान झूलेलाल के चेटीचंड पर्व पर शाम 7 बजे सिंधी बाहुल्य इलाकों में अपने-अपने घरों में पांच दीपक जलाकर विश्व शांति के लिए प्रार्थना की। साथ ही संकल्प लिया कि वर्तमान परिस्थिति के सामान्य होने तक अपने घर या कॉलोनी के आसपास में रहने वाले गरीब परिवारों के लिए उनके सात्विक भोजन एवं आवश्यक दिनचर्या की वस्तुओं की व्यवस्था करेंगे, ताकि वो लोग भी इस विकट परिस्थिति में अपने को अलग एवं असहाय न समझें।

माहेश्वरी समाज की महिलाएं घर में मनाएंगी गणगौर तृतीया पर्व

भास्कर संवाददाता | इंदौर

कोरोना वायरस को देखते हुए सिंधी समाज ने अपने वार्षिक उत्सव चेटीचंड के समस्त आयोजन स्थगित कर इसे सादगी से मनाया। चेटीचंड उत्सव समिति के दयाल ठाकुर, अशोक खुबानी ने बताया छत्रीबाग झूलेलाल मंदिर में सांई वासुदेव लाल ठाकुर के सान्निध्य में सांकेतिक रूप से रखे गए तीन दिनी पाठ साहब का समापन हुआ। तिथियों के फेर में कुछ शहरों में बुधवार को और कुछ में गुरुवार को भगवान झूलेलाल का चेटीचंड पर्व मनाया गया। समाज के लोगों ने अपने-अपने घर की बालकनी में परिवार वालों के साथ भगवान झूलेलाल की पांच ज्योत जलाई और बहराणा सजाकर घर-घर में आरती कर सिंधी गीत एवं भजनों पर छेज नृत्य (सिंधी गरबा) किया।

नरेश फुंदवानी ने बताया ये दीप जलाने का उद्देश्य सिर्फ उत्सव मनाना नहीं था, बल्कि उन लोगों के लिए जलाए हैं, जो हमारे लिए दिन-रात सेवा कर रहे और इस संकट को दूर करने के लिए हम सबके साथ हैं।

पहले दिन महिलाओं ने एक-दूसरे को लगाई मेहंदी

कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण के कारण इस बार मारवाड़ी समाज की महिलाएं इस पर्व को सामूहिक रूप से नहीं मनाते हुए अपने-अपने घरों में ही मनाएंगी। माहेश्वरी समाज के प्रमुख महिला संगठनों ने गणगौर का पूजन घरों पर ही करने का निर्णय लिया है। समाज की शोभना मूंदड़ा बताती हैं कि मुख्य रूप से यह त्योहार दो दिनी है। गुरुवार को हर घर में सिंजारा मनाया गया। घर की महिलाओं ने शृंगार कर एक-दूसरे को मेहंदी लगाई। शुक्रवार को महिलाएं घरों में पूजा कर दीवार पर 16 टीकी लगाएंगी।

सिंधी समाज के लोगों ने अपने घरों में पांच-पांच दीप जलाकर सजाए।

महिलाएं पति की लंबी आयु के लिए आज रखेंगी व्रत

X
Indore News - mp news sindhi society celebrated chetichand festival at home lit lamps for people serving in this time also

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना