जैन, गुजराती व सिंधी समाज का कड़ा निर्णय...

News - जैन, गुजराती और सिंधी समाज ने प्री-वेडिंग शूट और महिला संगीत में कोरियोग्राफर बुलाने पर रोक लगाने का निर्णय लिया...

Dec 08, 2019, 08:51 AM IST
जैन, गुजराती और सिंधी समाज ने प्री-वेडिंग शूट और महिला संगीत में कोरियोग्राफर बुलाने पर रोक लगाने का निर्णय लिया है। दरअसल इनका मानना है कि प्री-वेडिंग शूट एक नए प्रकार का प्रदूषण है। इसी तरह महिला संगीत में कोरियोग्राफर का बढ़ता चलन भी अाधुनिकता के नाम पर भारतीय संस्कृति व संस्कारों को नष्ट कर रहा है। राजधानी में चातुर्मास कर रहे मुनिश्री प्रसाद सागर महाराज ने तो दिगंबर जैन पंचायत कमेटी को निर्देश दिए हैं कि वे जल्द ही प्री-वेडिंग शूट पर रोक लगाने कड़ा फैसला लें और जो लोग एेसा करें उन्हें समाज में तवज्जो न दी जाए। इधर, ऐसा ही निर्णय गुजराती समाज और सिंधी सेंट्रल पंचायत कमेटी ने भी लिया है। दोनों ही समाज की कमेटियां जल्द ही प्री-वेडिंग और महिला संगीत में कोरियोग्राफर पर रोक लगाने के लिए कड़े कदम उठाने दिशा-निर्देश जारी करेंगी।

जैन मुनियों ने समाज की पंचायत कमेटी को दिए इस दिशा में समय रहते कड़े कदम उठाने के निर्देश

प्री-वेडिंग शूट व महिला संगीत में कोरियोग्राफी पर रोक; जो नहीं मानेगा, उसे समाज में नहीं देंगे तवज्जो

...क्योंकि महिला संगीत में कोरियोग्राफर का बढ़ता चलन संस्कारों को नष्ट कर रहा है : मुनि प्रसाद सागर

हमारी संस्कृति के अनुरूप नहीं है प्री-वेडिंग शूट

कोरियोग्राफरों का रवैया महिलाओं के साथ काफी अश्लील होता है



विवाह समारोह में अब यह एक नए प्रकार की फिजूलखर्ची शुरू हो गई


बेटे-बेटियों को माता-पिता न दें प्री-वेडिंग शूट करने की अनुमति


X
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना