• Hindi News
  • Mp
  • Jhabua
  • Jhabua News mp news students of jhabua alirajpur stranded in bhopal said ration is ending

भोपाल में फंसे झाबुआ-आलीराजपुर के विद्यार्थी, बोले- राशन खत्म हो रहा

Jhabua News - विधायक बोलीं खाने की व्यवस्था के लिए करेंगे बात झाबुआ, आलीराजपुर और धार जिले के कई गांवों के छात्र-छात्राएं...

Mar 27, 2020, 07:41 AM IST

विधायक बोलीं खाने की व्यवस्था के लिए करेंगे बात

झाबुआ, आलीराजपुर और धार जिले के कई गांवों के छात्र-छात्राएं भोपाल में अलग-अलग जगहों पर फंसे हुए हैं। वो जहां कमरे किराए से रहते हैं, वहां से निकल नहीं पा रहे। ज्यादातर के पास राशन खत्म होने वाला है और पैसे भी। वो बता रहे हैं कि किसी को बाहर नहीं निकलने दिया जा रहा। अब जैसे-तैसे घर जाना है। उन्होंने अपने-अपने क्षेत्र के नेताओं से भी मदद मांगी है।

100 के लगभग छात्र-छात्राएं हैं। इनमें ज्यादातर लड़कियां हैं जो नर्सिंग की पढ़ाई कर रही हैं या प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी।

जोबट विधायक कलावती भूरिया ने बताया, इन्हें लेकर पता चला है। कुछ लापरवाही इन बच्चों की भी है। काफी पहले से कॉलेज, कोचिंग बंद हो चुके हैं। इन्हें तभी निकल जाना था। अब कर्फ्यू लगा हुआ है। फिर भी हम कोशिश कर रहे हैं कि उन्हें वहां से लाया जाए। इसके अलावा उनसे कहा है कि लेटर लिखकर पास के थाने में दे दें। खाने वगैरह की व्यवस्था के लिए बात करेंगे।

ये लोग फंसे हुए हैं भोपाल में जो आना चाहते हैं अपने-अपने घर


{थांदला के पास सजेली मालजी की सोनिया राठौर बीएससी नर्सिंग कर रही है। बताती हैं, ज्यादा दिन का राशन घर में नहीं बचा है। रूम लेकर अकेली रहती हूं। बहुत डर लग रहा है। कैसे भी घर जाना है।

{ आलीराजपुर जिले के उदयगढ़ की सुमित्रा चौहान और शर्मिला अजनार साथ में शाहपुरा क्षेत्र में रूम लेकर रहती हैं। सुमित्रा ने बताया, कोई रास्ता नहीं दिख रहा। काफी परेशान हैं। सामान सब खत्म हो गया। एक-दो दिन का राशन बचा है। मदद चाहिए, इसके लिए हर कोशिश कर रहे हैं।

{ जोबट के पास चमारवेगड़ा गांव की अनिता मंडलोई बहन गमा के साथ रॉयल मार्केट में हमीदिया अस्पताल के पास रहती हैं। वो बीएससी नर्सिंग की छात्रा हैं। उन्होंने बताया उनकी दोस्त भूरा, अनार और वंदना मोरी भी अपने-अपने घर में फंसी हुई है। बाहर निकलने में डर लग रहा है। कर्फ्यू लगा हुआ है। आगे क्या होगा, समझ नहीं आ रहा।

{ गांव झुमका के सुरेश और उनकी बहन भूरा जेपटिया ने बताया, दो-तीन दिन में पूरा राशन खत्म हो जाएगा। हमारे अलावा पहचान वाले 50 से 60 छात्र-छात्राएं इसी तरह से फंसे हुए हैं। खाने-पीने की समस्या आ रही है। दोनों पुष्पानगर में रहते हैं।

{ नीट की कोचिंग ले रहे विनोद और सरदार रावत ने बताया, खाने का सामान कभी भी खत्म हो सकता है। कलावती मैडम को फोन लगाया था। हो सकता है, घर लौटने का कुछ इंतजाम हो जाए। खबर है कि कोई बस की व्यवस्था होने वाली है।

विधायक मेड़ा ने दो माह का वेतन मुख्यमंत्री राहत कोष में दिया

पेटलावद | विधायक वालसिंह मेड़ा ने कोरोना पीड़ितों के लिए मुख्यमंत्री राहत कोष में 2 माह का वेतन देने की घोषणा की है। इसके अलावा उन्होंने मुख्यमंत्री से मांग की है कि पेटलावद सहित जिले के हजारों श्रमिक जाे काम के कारण फंस गए हैं, उनके खाने और रहने की व्यवस्था की जाए। इस संबंध में अन्य राज्य प्रमुख से चर्चा कर की जाए। साथ ही विधायक ने क्षेत्र के लोगों से लॉकडाउन के दौरान घरों में ही रहने का आह्वान किया है।

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना