• Hindi News
  • Mp
  • Betul
  • Amla News mp news sugarcane kept dry on the granules the possibility of the wheat harvested from the rains becoming black

घानों पर रखा गन्ना सूख रहा, बारिश से कटे गेहूं के काला पड़ने की अाशंका

Betul News - कोरोना जैसी महामारी अाैर उस पर आए दिन हो रही बारिश। दोनों ही आपदाओं ने क्षेत्र के किसानों की चिंता बढ़ा दी है।...

Mar 27, 2020, 06:35 AM IST

कोरोना जैसी महामारी अाैर उस पर आए दिन हो रही बारिश। दोनों ही आपदाओं ने क्षेत्र के किसानों की चिंता बढ़ा दी है। किसान घर से निकलकर काम भी करना चाहे तो नहीं कर पा रहे। खेतों में काम करने के लिए उन्हें मजदूर नहीं मिल रहे। इस कारण क्षेत्र की छोटी-बड़ी गुड़ मिलें बंद पड़ी हैं। इससे खेतों में और मिल पर रखा गन्ना सूखकर खराब हो रहा है। यही हालत खेतों में गेहूं की खड़ी फसल की भी है। कुछ किसानों ने गेहूं काटकर रखा था तो वह जैसा का तैसा खेतों में पड़ा है। दूसरी तरफ जिन किसानों का कटाई का काम नहीं हो पाया, आए दिन हो रही बारिश उनका गेहूं खराब कर रही है।

ग्रामीण कृषि विस्तार अधिकारी केके टिकारे ने बताया बारिश ज्याादा नहीं हुई है, लेकिन जितनी हुई है, इससे कटा हुअा गेहूं मामूली काला हाेने की संभावना है। किसान हार्वेस्टर के माध्यम से धीरे-धीरे कटाई कर सकेंगे।

गन्ना मिलाें अाैर किसानाें काे नहीं मिल रहे मजदूर

घाने बंद होने से गन्ना किसानों पर संकट

कोरोना महामारी फैलने के तुरंत बाद ही प्रशासन ने क्षेत्र में चल रही गन्ना मिल पूरी तरह बंद करवा दी हैं। इस कारण जिन किसानों का गन्ना मिलों तक पहुंच गया था, वह गन्ना जहां का तहां रखा सूख रहा है। करीब डेढ़ दर्जन से ज्यादा छोटी-बड़ी मिलें बंद पड़ी हैं। दूसरी तरफ जिन किसानों के खेतों में गन्ना लगा हुआ है, वे भी उसे पकने के बाद भी काट नहीं पा रहे हैं। बोरीखुर्द के किसान लखन यादव के अनुसार मजदूर नहीं मिलने और प्रशासन की इजाजत नहीं होने के कारण अकेला किसान कुछ करना भी चाहे तो नहीं कर पा रहा है।

गेहूं पर दोहरा कहरा, किसानों की चिंता बढ़ी

इस साल शुरुआती दौर में प्रकृति का बेहतर साथ मिलने से किसान बंपर उत्पादन की उम्मीदें लगा रहे थे। किसान इन उम्मीदों पर खरे भी उतरे। क्षेत्र में करीब 30 हजार हेक्टेयर से अधिक क्षेत्रफल में गेहूं की उच्छी फसल लहलहा रही थी। लेकिन अचानक बुधवार रात करीब आधा घंटा हुई तेज बारिश ने किसानों की मुश्किलें बढ़ा दी हैं। भारतीय किसान संघ के अध्यक्ष केशवराव साकरे ने बताया कि जिन किसानों की गेहूं की फसल खेतों में कटकर पड़ी है। उनका काला पड़ने का डर है।

आमाला। मजदूर नहीं मिलने से खेतों में गेहूं फसल कटाई का काम भी रुका पड़ा है।

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना