• Hindi News
  • Mp
  • Raisen
  • Bareli News mp news temples in which there was tension in navratri silence from lockdown pats closed after priest worship

जिन मंदिरों में नवरात्रि में लगता था तांता, लॉकडाउन से पड़ा सन्नाटा, पुजारी पूजन के बाद कर रहे पट बंद

Raisen News - इन दिनों चैत्र नवरात्रों में नगर के देवी मंदिरों में सन्नाटा पसरा हुआ है। प्रतिदिन मंदिर पुजारी देवी...

Mar 27, 2020, 06:31 AM IST

इन दिनों चैत्र नवरात्रों में नगर के देवी मंदिरों में सन्नाटा पसरा हुआ है। प्रतिदिन मंदिर पुजारी देवी पूजा-अर्चना के बाद पट बंद कर घर जा रहे हैं। जब पट बंद रहेंगे तो श्रद्धालु भी बाहर से ही भगवती की आराधना कर घर चले जाएंगे और भीड़-भाड़ नहीं होगी तो कोरोना जैसी महामारी से भी बचाव हो सकेगा। हर साल की तरह इस साल न मंदिरों में आरती के दौरान न घंटी बज रही न ही जयकारे गूंज रहे है। देवी भक्त अपने अपने घरों से ही श्रद्धाभाव से पूजन,उपासना और अनुष्ठान कर देवी को मना रहे हैं। इतिहास में पहली बार है जब मंदिरों में लॉकडाउन की स्थिति बनी हुई हैं।

मां दुर्गा के 9 स्वरूपों की उपासना का पर्व बुधवार से शुरु हो गया है, लेकिन कोरोना संक्रमण के चलते पहली बार ऐसा हुआ जब भक्त और भगवान में इतनी दूरी बनी हुई है। रोजाना मंदिर के पुजारी मंदिर में देवी की पूजा अर्चना कर बंद कर देते हैं। ऐसे में एक्का दुक्का भक्त पहुंचते भी है तो वह मंदिरों के बाहर दरवाजा बंद देख मायूस होकर वापस जा रहे हैं। पहले दिन जहां शैलपुत्री की पूजा का विधान है जिसके लिए मंदिरों में श्रद्धालु आते थे वहीं दूसरे दिन ब्रम्हचारिणी की पूजा की जाती है। पिछले दो दिन से मंदिरों में ताला लगा होने के कारण मायूस हो रहे हैं। जहां इन दिनों श्रद्धालुओं का जन सैलाब उमड़ता था। वहीं अब इन मंदिरों पर लॉकडाउन के चलते सन्नाटा पसरा हुआ है। मंदिर पुजारी ने बताया कि प्रशासनिक अफसरों के निर्देशानुसार भक्तों के लिए मंदिर नहीं खोल रहे हैं, लेकिन वह पूजा करने के लिए नियमित रूप से आ रहे हैं। उन्होंने बताया कि वह भी चाहते हैँ देश से इस महामारी का जल्द से जल्द खात्मा हो ताकि देश के लोग सुख समृद्वि और चैन की नींद सो सकें।

देवी मंदिर भी सूने : छींद धाम, दुर्गा मंदिर,काली मंदिर,खेरा पति मंदिर, शक्तिधाम मंदिर, संकट मोचन हनुमान मंदिर, श्रीजी मंदिर, बारही माता मंदिर, आदि भी लॉक डाउन के चलते सूने पड़े हुए हैं। रोजाना की तरह यहां पर होने वाली चहल पहल बनी रहती है, लेकिन इस बार इन मंदिरों पर पूरी तरह से सन्नाटा पसरा हुआ है। श्रद्धालु भी कोरोना जैसी महामारी से बचाव के लिए मंदिर जान पंसद नहीं कर रहे हैं। यह कोरोना जैसी बीमारी से लड़ने में अहम योगदान साबित होगा।

इस बार नहीं हो रहे उत्सव आैर चुनरी यात्राएं

हर बार की तरह होने वाले आयोजन इस बार देवी मंदिरों में नहीं किए जा रहे है। देर रात तक चलने वाले देवी जागरण, महाआरती, चुनरी यात्राएं आदि कार्यक्रम आयोजित नहीं किए जा रहे हैं। जिसको लेकर भी भक्तों में निराशा बनी हुई है। नगर के प्रसिद्ध शक्तिधाम मंदिर में प्रतिवर्ष अल सुबह से ही श्रद्धालु जल चढ़ाने से लेकर पूजन पाठ आदि कार्य करते थे, लेकिन इस बार यहां पर सन्नाटा पसरा हुआ है। मंदिर समिति के अध्यक्ष नंद किशोर चांडक ने बताया कि श्रद्धालुओं से पहले ही सोशल मीडिया और अखबार व पम्फलेट के माध्यम से सूचित किया जा चुका था इसलिए भक्त भी नहीं आ रहे हैं। नियमित रूप से मंदिर में पुजारी सेवा कर रहे हैं।

नगर के प्रसिद्ध शक्तिधाम मंदिर में पसरा सन्नाटा।

मंदिर समितियों ने भी अपील कर श्रद्धालुओं से किया था आग्रह, कोरोना महामारी से बचाव करना पहली प्राथमिकता

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना