मंदिरों में पुजारियों ने ही की पूजा और मां भगवती को चढ़ाया प्रसाद

News - कोरोना वायरस से बचाव को लेकर देश भर में लॉकडाउन कर दिया गया है। यह लॉकडाउन अाराधना के पर्व के दौरान हुआ है। इस...

Mar 27, 2020, 06:46 AM IST
Bhopal News - mp news the priests worshiped in temples and offered offerings to maa bhagwati

कोरोना वायरस से बचाव को लेकर देश भर में लॉकडाउन कर दिया गया है। यह लॉकडाउन अाराधना के पर्व के दौरान हुआ है। इस कारण देवी भक्त इस बार देवी मंदिरों में तक नहीं जा पा रहे है। ऐसी स्थिति में देवी भक्तों को घर पर रहकर ही मां की आराधना करना पड़ रही है।

मंदिरों में सिर्फ पुजारी द्वारा ही सुबह, दोपहर और शाम को पूजा अर्चना, आरती और मां को भोग लगाया जा रहा है। अब तक के इतिहास में पहली बार कंकालीधाम, खंडेरा वाली मैया, हिंगलाज शक्तिपीठ, परवरिया वाली मैया सहित अन्य देवी मंदिर भक्तों के लिए बंद रहे। महामारी फैलने के डर से लोग भी जागरूकता का परिचय दे रहे है और वे मंदिर मे नहीं जा रहे है। यही कारण है कि इस बार नवरात्र में सभी देवी मंदिर सूने पड़े हुए हैं।

हिंगलाज शक्तिपीठ सुबह आरती और दोपहर में भोग के बाद पट बंद

बाड़ी | नगर में स्थित देश का एक मात्र मां हिंगलाज का शक्तिपीठ पहली बार नवरात्र में बंद है। पाकिस्तान के बॉर्डर बलूचिस्तान में हिंगलाज शक्तिपीठ है, जबकि दूसरा बाड़ी में मां हिंगलाज शक्तिपीठ है। कोरोना वायरस की रोकथाम के लिए मंदिर प्रबंधन समिति ने मंदिर के पट बंद रखने का निर्णय लिया है। इस निर्णय के बाद सिर्फ मंदिर के पुजारी आचार्य देव नारायण त्रिपाठी द्वारा ही मां की पूजा अर्चना, आरती और भोग लगाकर मंदिर के पट बंद कर दिए। जबकि नवरात्र में यहां पर इतनी भीड़ रहती है कि मंदिर में पैर रखने तक की जगह नहीं मिलती है। देवी भक्तों को लाइन में लगकर मां के दर्शन करना पड़ते हैं। पुजारी आचार्य देव नारायण त्रिपाठी ने बताया कि इस भयानक महामारी को लेकर मां हिंगलाज से प्रार्थना की जा रही है कि शीघ्र ही इस महामारी से छुटकारा मिले और पूर्व की भांति लोग दर्शन के लिए पहुंचे।

कंकाली धाम के पट भी पहली बार रहे बंद

भोपाल रोड पर गुदावल गांव में मां कंकाली धाम स्थित है। यहां पर आम दिनों में ही दो से तीन हजार लोग प्रतिदिन पहुंचते है, लेकिन नवरात्र के दिनों में तो यहां पर भक्तों की संख्या हजारों की संख्या में पहुंच जाती है। इस धाम में पहली बार ऐसी स्थिति बनी है, जब नवरात्र में देवी भक्तों को मां के दर्शन करने का लाभ नहीं मिल पा रहा है। मंंदिर प्रधान पुजारी भुवनेश्वर शास्त्री और उप पुजारी अश्वनी शास्त्री ने बताया कि मंदिर परिसर को पूरी तरह से बैरिकेड्स लगाकर बंद कर दिया गया है। सुबह, दोपहर और शाम को उनके द्वारा ही पूजा अर्चना, अभिषेक और आरती की जा रही है। ऐसी पहली बार हुआ है कि नवरात्र में सिर्फ पांच लोग ही मंदिर परिसर में मौजूद रहे।

मां हिंगलाज शक्ति पीठ।

कंकाली धाम में मां काली।

Bhopal News - mp news the priests worshiped in temples and offered offerings to maa bhagwati
X
Bhopal News - mp news the priests worshiped in temples and offered offerings to maa bhagwati
Bhopal News - mp news the priests worshiped in temples and offered offerings to maa bhagwati

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना