सवाल बरकरार, किसने दिए घाव, रातभर मां से दूर क्यों रखा परिजन ने

News - बुधवार को एमवायएच में चाकू जैसे धारदार वस्तु से जख्मी होकर आई एक दिन की बच्ची ने दम तोड़ दिया। फिलहाल पुलिस ने धारा...

Feb 15, 2020, 07:55 AM IST

बुधवार को एमवायएच में चाकू जैसे धारदार वस्तु से जख्मी होकर आई एक दिन की बच्ची ने दम तोड़ दिया। फिलहाल पुलिस ने धारा 307 में केस दर्ज किया है। इधर, परिजन डिलीवरी कराने वाले मोहन बड़ोदिया अस्पताल के स्टॉफ पर मासूम को घाव देने का आरोप लगा रहे हैं। लेकिन भास्कर पड़ताल में हकीकत कुछ और है। प्रसूता मंजू पति रायसिंह 12 फरवरी को रात 12 बजे मोहन बडोदिया अस्पताल पहुंची। डिलीवरी के बाद मंजू को हैवी ब्लिडिंग होने लगी। उसे शाजापुर रैफर कर दिया। जिला अस्पताल में मंजू का इलाज शुरू हुआ, लेकिन परिजन इलाज अधूरा छोड़ मंजू को घर ले गए। इस दौरान नवजात पूरे समय मंजू के साथ नहीं थी। दोपहर 3.30 बजे दो पुरुष खून में लथपथ नवजात को लेकर फिर अस्पताल पहंुचे। शेष|पेज 9 पर

नहीं बची नवजात, दुनिया (निर्मम) से विदा


X
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना