पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Sehore News Mp News The Sow Started Encroaching As Soon As The Water Of The Ponds Decreased

तालाबों का पानी कम होते ही अतिक्रमण कर होने लगी बोवनी

6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

इस बार अच्छी बारिश हुई तो जिलेभर के तालाब लबालब भर गए थे। कई तालाब ऐसे भी हैं जहां से कई शहरों के लिए पेयजल के लिए पानी को रिजर्व किया जाता है। ऐसे तालाबों पर पहले तो सिंचाई के लिए पानी का दोहन किया गया। अब जैसे ही इनका पानी कम होने लगा तो यहां पर खेती की जाने लगी है। सीहोर शहर की बात करें तो यहां के लिए दो तालाबों से पानी रिजर्व किया गया है। जिनमें एक भगवानपुरा तालाब तो वहीं दूसरा जमोनिया तालाब हैं। सबसे बड़ी बात यह है कि इन दोनों तालाबों से इस बार भी पानी चोरी हुआ है। तालाबों के पानी खाली होने के बाद ही आसपास के लोगों ने अतिक्रमण कर खेती करना शुरू कर दी है।

पानी का किया जाता है दोहन : तालाबों के किनारे खेती की जा रही है। जब इन तालाबों के पानी का उपयोग सिंचाई के लिए किया जाए तो फिर गलत है। लगातार जमोनिया और भगवानपुरा तालाबों के पानी की चोरी की गई। हालांकि नगर पालिका के अमले ने चोरी रोकने के लिए कार्रवाई भी की लेकिन फिर भी इस पर लगाम नहीं लगी। तालाबों के इस पानी को सीहोर शहर के लिए सप्लाई किया जाता है। इस तरह जब पानी का दोहन हुआ तो समय से पहले ही तालाब खाली होने लगे।

अब अतिक्रमण कर तालाबों के किनारे खेती

तालाबों के किनारे अतिक्रमण की समस्या सालों से है। जब यहां पर पानी कम होने लगता है तो लोग यहां पर खेती करने लगते हैं। अभी भी जमोनिया और भगवानपुरा तालाब के किनारे लोगों ने खेती करना शुरू कर दिया है। जैसे जैसे पानी कम होने लगा तो तालाबों के किनारे फिर से सब्जी आदि की खेती होने लगी है। वहीं किसान मूंग फसल की बोवनी भी कर रहे हैं।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- समय की गति आपके पक्ष में रहेगी। सामाजिक दायरा बढ़ेगा। पिछले कुछ समय से चल रही किसी समस्या का समाधान मिलने से राहत मिलेगी। कोई बड़ा निवेश करने के लिए समय उत्तम है। नेगेटिव- परंतु दोपहर बाद परिस...

और पढ़ें