• Hindi News
  • Mp
  • Nagda
  • Nagda News mp news three private hospitals administration vehicles and ambulances will be acquired to service centers for sanitation

तीन निजी अस्पताल, प्रशासन के वाहन अाैर एंबुलेंस काे सैनिटाइज करने के लिए दाे सर्विस सेंटर होंगे अधिग्रहित

Nagda News - उज्जैन में काेराेना वायरस संक्रमित की माैत के बाद प्रशासन अलर्ट हाे चुका है। प्रशासन ने इमरजेंसी स्थिति काे...

Mar 27, 2020, 08:01 AM IST

उज्जैन में काेराेना वायरस संक्रमित की माैत के बाद प्रशासन अलर्ट हाे चुका है। प्रशासन ने इमरजेंसी स्थिति काे लेकर अपना प्लान बनाया है। जिसके तहत शहर के तीन बड़े निजी अस्पताल काे उनके उपकरण, स्टाॅफ, एंबुलेंस सहित अधिग्रहित किया जाएगा। इसके अलावा प्रशासन के वाहन अाैर एंबुलेंस काे सैनिटाइजर करने के लिए दाे सर्विस सेंटर भी अधिग्रहित हाेंगे। एसडीएम कार्यालय से अधिग्रहण का प्रस्ताव बनाकर कलेक्टर कार्यालय भेजा गया है। जहां से आदेश हाेने के बाद अधिग्रहण कर अामजनांे काे सुविधा दी जाएगी।

विकट परिस्थिति न बने, लेकिन तैयारी जरूरी

एसडीएम अारपी वर्मा ने बताया कि पहली प्राथमिकता यही है कि संक्रमण से लाेगाें काे बचाया जाए, लेकिन हर तरह की तैयारी जरूरी है। इसलिए अामजनाें काे स्वास्थ्य सुविधा उपलब्ध कराने के लिए जनसेवा, श्रीजी अस्पताल, चौधरी अस्पताल काे उपकरण-स्टाॅफ सहित अधिग्रहित किया जाएगा है। इसके अलावा प्रशासन के वाहन अाैर एंबुलेंस काे सैनिटाइजर करने के लिए इंगाेरिया राेड स्थित बाबा सर्विस सेंटर अाैर दुर्गापुरा स्थित बालाजी सर्विस सेंटर काे अधिग्रहण किया जाएगा। दाेनाें ही प्रस्ताव कलेक्टर कार्यालय भेज दिए गए है।

परेशानी होने पर कंट्राेल रूम पर करें सूचना

प्रशासन ने लाॅक डाउन में काेराेना संक्रमण सहित अन्य शिकायतांे के लिए काेराेना कंट्राेल रूम की स्थापना नपा में की है। इसके प्रभारी अशाेक परमार काे बनाया गया है। कंट्राेल रूम के 07366-241036 पर काेराेना संक्रमण काे लेकर, बाहर से अाने वाले लाेगांे की जानकारी, भाेजन की व्यवस्था के लिए भी संपर्क किया जा सकता है। यह कंट्राेल रूम 24 घंटे चालू रहेगा। इसके अलावा गंभीर स्थिति हाेने पर एसडीएम अारपी वर्मा 95846-17787, डाॅ. कमल साेलंकी 98271-14364 पर भी संपर्क किया जा सकता है।

चैनल के बीच मरीजांे का किया उपचार, लाइन लगी

शासन ने अाेपीडी बंद करने के निर्देश दिए थे, लेकिन अामजनाें काे स्वास्थय सुविधा देने के लिए सरकारी अस्पताल के चिकित्सकांे ने अाेपीडी चालू की। उन्हांेने साेशल डिस्टेनस बनाकर मरीजाें का उपचार किया। बाहर लाइन लगाकर मरीजाें ने अपनी बारी का इंतजार किया।

बाहर से अाने वालाें पर 3 समितियां रखेगी नजर

एसडीएम वर्मा ने तीन प्रशासकीय समितियाें का गठन किया है। इनका कार्य शहर अाैर नगर में बाहर से अाने वाले लाेगांे की जानकारी लेकर उनकी स्क्रीनिंग कराना, जरुरत हाेने पर अाइसाेलेशन कराना, जरुरतमंदाें काे भाेजन उपलब्ध कराना हाेगा। इसमें मंडी क्षेत्र के लिए तहसीलदार विनाेद शर्मा 90098-30495, बिरलागाम क्षेत्र के लिए नायब तहसीलदार सलेानी पटवा 79996-97480, उन्हेल क्षेत्र के लिए तहसीलदार मनाेहर वर्मा से संपर्क कर सकते है। वहीं खाद्यान की उपलब्ध के लिए खाद्य निरीक्षक नागेश दायमा काे नाेडल अधिकारी बनाया गया है।

मेडिकल, अस्पताल, किराना दुकान पर लगी लाइन, चाैकर में खड़े हाेकर किया अपनी बारी का इंतजार

नागदा | प्रशासन ने साेशल डिस्टेंस व्यवस्था काे गुरुवार से लागू कर दी। गुरुवार काे मेडिकल, अस्पताल, किराना दुकान पहुंचने वाले लाेगाें से साेशल डिस्टेंस का पालन भी कराया गया। लाेगाें काे कुछ यह अटपटा लगा, लेकिन यह व्यवस्था अापके लिए है, ताकि अाप अाैर अापका परिवार सुरक्षित रह सके। गुरुवार काे चाैकर में खड़े हाेकर ही लाेगांे ने अपनी बारी का इंतजार किया अाैर लाइन से सामान लिया। हालांकि कुछ किराना दुकानाें पर भीड़ भी हुई। व्यापारियाें से भी प्रशासन ने अाग्रह किया है कि वह स्वयं व कर्मचारियाें काे मास्क लगाकर कार्य कराए।

अावारा मवेशियों के लिए डलवाया चारा

नागदा | गोशाला और सड़क पर आवारा मवेशियों के लिए मोहनश्री फाउंडेशन ने बुधवार से चारा डालना शुरू कर दिया है। फाउंडेशन के मनोज राठी बारदानवाला के अनुसार जब तक लॉकडाउन की स्थिति रहेगी तब तक वे मवेशियों के लिए चारे की व्यवस्था करेंगे। इसके अलावा गुरुवार से शहर में घूम रहे आवारा कुत्तों को भी प्रतिदिन 50 किलो आटे की रोटी बनाकर सड़कों पर डाली जा रही है। इधर, लॉकडाउन के दौरान स्लम बस्तियों और जरूरतमंद सहित दरिद्रनारायणों की भोजन की व्यवस्था करने का जिम्मा सिघड़ी-95 के सदस्य संभाल रहे हैं।

फाल्ट की शिकायत, कर्मचारी बोले- बिल लेकर आॅफिस आओ

नागदा | बुधवार शाम कोटा फाटक निवासी ओपी मीणा के घर की बिजली गुल हो गई है। फॉल्ट की शिकायत मीणा ने कंपनी के कार्यालय के नंबर 1912 पर की तो कई बार कॉल करने पर कॉल रिसीव नहीं हुआ। कार्यालय के अन्य नंबर पर कॉल किया तो दूसरी ओर से कॉल रिसीव करने वाले कर्मचारी ने टका सा जवाब देकर फोन काट दिया कि फॉल्ट दुरुस्त कराना है तो बिल लेकर कार्यालय पर पहुंचों। जब मीणा ने लॉकडाउन में घर से बाहर निकलने में असमर्थता जताई, तब भी कर्मचारी बिल लेकर कार्यालय आने पर ही अड़ा रहा। किसी तरह मीणा ने घर के अन्य सदस्य को बिल लेकर शाम 7 बजे कार्यालय भेजा। इसके बाद कर्मचारी फॉल्ट अटेंड करने पहुंचे। अधीक्षण यंत्री केके रायपुरिया ने स्पष्ट किया कि किसी उपभोक्ता को फॉल्ट की शिकायत के लिए बिल लेकर आने की जरूरत नहीं है। फोन पर ही उपभाेक्ता क्रमांक बताएं, उनके कर्मचारी कॉल अटैंड करने पहंुचेगा।

प्रशासन का इमरजेंसी प्लान : नपा में बनाया काेराेना वायरस कंट्राेल रूम, किसी भी सहायता के लिए अामजन कर सकते हैं संपर्क


सबसे ज्यादा भीड़ मेडिकल की दुकान पर, लाइन में लगना पड़ रहा

लाॅक डाउन में अस्पताल, मेडिकल पर सबसे अधिक भीड़ है। इसे लेकर मेडिकल पर भी नपा ने चाेकर बनाए है, जहां खड़े हाेकर ही लाेगाें ने दवाईयां ली। हालांकि इस दाैरान लाइन सड़क पर अा गई। जिसे मेडिकल संचालकाें ने ही व्यवस्थित की।

कुछ लोग अब भी मानने को तैयार नहीं, किराना दुकान पर पास खड़े हाेकर ही खड़े रहे हैं ग्राहक

चाैकर के बाद भी कुछ लाेग मानने काे तैयार नहीं है। अभी भी लाेग समझ नहीं रहे है कि पास-पास खड़े हाेना भी कितना खतरनाक हाे सकता है। कई किराना दुकानाें पर हालात यहीं है कि लाेग पास-पास खड़े हाेकर ही किराना सामान खरीद रहे है।

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना