ग्रीन हाउस इफेक्ट कम करने यूनीडो करेगा भोपाल की मदद

News - इंफ्रास्ट्रक्चर रिपोर्टर | भोपाल भोपाल में ग्रीन हाउस इफेक्ट को कम करने के लिए यूनाइटेड नेशंस इंडस्ट्रीज...

Nov 11, 2019, 06:55 AM IST
इंफ्रास्ट्रक्चर रिपोर्टर | भोपाल

भोपाल में ग्रीन हाउस इफेक्ट को कम करने के लिए यूनाइटेड नेशंस इंडस्ट्रीज डेवलपमेंट अॉर्गनाइजेशन (यूनीडो) नगर निगम भोपाल को मदद करेगा। यूनीडो स्वच्छ भारत मिशन के तहत शहर में किसी एेसे प्रोजेक्ट में मदद करेगा जिसमें पर्यावरण को नुकसान पहुंचाने वाली मीथेन जैसी गैसों का उत्सर्जन कम हो सके। यूनीडो पूरे प्रोजेक्ट का छठवां हिस्सा फाइनेंस करेगा, शेष राशि नगर निगम को अपने संसाधनों से जुटाना होगी। पिछले दिनों यूनीडो, वर्ल्ड बैंक और यूएन हेबीटाट की टीम भोपाल आई थी। टीम ने नगर निगम के अफसरों से सस्टेनेबल सिटी डेवलपमेंट प्रोजेक्ट के संबंध में चर्चा की। अर्बन प्लानिंग, अर्बन फाइनेंस और अर्बन सेनीटेशन जैसे विषयों पर टीम ने निगम अफसरों को प्रशिक्षण दिया।

स्वच्छ भारत मिशन के तहत चल रहे कार्यों में यूनीडो नगर निगम को सहयोग कर सकता है। मिशन के तहत चल रहे कार्यों में 100% कचरे का निष्पादन सुनिश्चित किया जाना है। इसीलिए सूखे और गीले कचरे को अलग-अलग किया जा रहा है। गीले कचरे से कम्पोस्ट बनाया जा रहा है। इसके लिए शहर में अब तक छह ट्रांसफर स्टेशन बनाए गए हैं, जबकि जरूरत 10 की है। आदमपुर छावनी में कचरे से बिजली का प्रोजेक्ट ठप होने के बाद नगर निगम यहां नई तकनीक और नई कंपनी की तलाश कर रहा है।

मार्च 2020 से पहले हो जाएगा प्रोजेक्ट पर फैसला


पीडब्ल्यूडी, सीपीए और नगर निगम मिलकर प्लानिंग करें

विशेषज्ञों ने निगम अफसरों से कहा कि शहर के डेवलपमेंट के संबंध में एकजाई प्लानिंग होना चाहिए। नगर निगम के साथ यहां डेवलपमेंट का काम करने वाली पीडब्ल्यूडी, सीपीए और अन्य एजेंसियों से समन्वय करके प्लानिंग होना चाहिए। खास तौर से बड़े प्रोजेक्ट के लिए कैपिटल इंफ्रास्ट्रक्चर प्लानिंग की जाना चाहिए, ताकि कई वर्षों तक चलने वाले इन प्रोजेक्ट के लिए फंड मिलने में परेशानी न हो। इसके अलावा नगर निगम पीपीपी को बढ़ावा दे।

यह है ग्रीन हाउस इफेक्ट...

कार्बन डाई अॉक्साइड, मीथेन और ओजोन जैसी गैस, वातावरण में मौजूद कुछ कण और सूर्य की किरणें मिलकर एेसा आवरण बनाती हैं कि सूरज की गर्मी वायुमंडल के बाहर नहीं जा पाती। इस प्रक्रिया को ग्रीन हाउस इफेक्ट कहा जाता है। इस वजह से पृथ्वी का तापमान बढ़ रहा है। यूनीडो ने पूरी दुनिया में ग्रीन हाउस इफेक्ट कम करने के लिए मदद करने का पायलट प्रोजेक्ट शुरू किया है। इसमें भारत के पांच शहरों को चुना गया, जिसमें एक भोपाल है। भोपाल के अलावा विजयवाड़ा, मैसूर, गुंटूर और जयपुर का भी यूनीडो के प्रोजेक्ट के लिए चयन हुआ है।

X
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना