• Hindi News
  • Mp
  • Dhar
  • Dhar News mp news women of maheshwari community will celebrate gangaur tritiya festival at home

माहेश्वरी समाज की महिलाएं घर में ही मनाएंगी गणगौर तृतीया पर्व

Dhar News - गणगौर तृतीया पर्व शुक्रवार को मनाया जाएगा। इस दिन विवाहित महिलाएं अपने की लंबी आयु के लिए और कुंवारी कन्याएं...

Mar 27, 2020, 07:00 AM IST

गणगौर तृतीया पर्व शुक्रवार को मनाया जाएगा। इस दिन विवाहित महिलाएं अपने की लंबी आयु के लिए और कुंवारी कन्याएं अच्छे वर की कामना के लिए यह व्रत रखकर पूजन करेंगी। माहेश्वरी महिला संगठन की विभिन्न इकाइयों द्वारा उजमने के आयोजन भी किया जाता है, जिसे इस बार निरस्त कर दिया गया है। गणगौर तृतीया पर्व का आयोजन शिव एवं शक्ति स्वरूपा पार्वती की असीम कृपा प्राप्त करने के लिए किया जाता है। धर्मशास्त्रों में इसे गौरी उत्सव, गौरी तृतीया, ईश्वर गौरी, दोलोत्सव के नाम से भी जाना जाता है।

सूर्योदय से पहले स्नान कर नए
वस्त्र करना चाहिए धारण


पं. शिवप्रसाद तिवारी के अनुसार इस व्रत को करने के लिए प्रात:काल सूर्योदय से पूर्व स्नान-ध्यान कर साफ-सुंदर वस्त्र धारण करना चाहिए। घर के एक शुद्ध और एकांत स्थान में पवित्र मिट्टी से चौकोर वेदी बनाकर, केसर, चंदन और कपूर से उस पर चौक पूरा जाता है और बीच में देवी व शिव मूर्ति की स्थापना कर फूलों, फलों, दूब, रोली आदि से पूजन किया जाता है। पूजन में मां गौरी के दस रूपों की पूजा की जाती है। मां गौरी के दस रूपों में गौरी, उमा, लतिका, सुभागा, भगमालिनी, मनोकामना, भवानी, कामदा, भोग वर्द्विनी और अंबिका हैं। तिवारी ने बताया इस व्रत में लकड़ी की बनी या किसी धातु की बनी हुई शिव-पार्वती की मूर्तियों को स्नान कराने का विधान है। पंडितों के अनुसार यह पर्व कुंवारी कन्याओं से लेकर विवाहित महिलाएं मनाती हैं। वे भगवान शिव, माता पार्वती का पूजन करती हैं।

इस बार गणगौर की पूजा सार्वजनिक स्थान पर नहीं होकर घरों में ही होगी

कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण के कारण इस बार मारवाड़ी समाज की महिलाएं इस पर्व को सामूहिक रूप से नहीं मनाते हुए अपने-अपने घरों में ही मनाएंगी। माहेश्वरी समाज के प्रमुख महिला संगठनों ने गणगौर का पूजन घरों पर ही करने का निर्णय लिया है। समाज की शोभना मूंदड़ा बताती हैं कि मुख्य रूप से यह त्योहार दो दिनी है। गुरुवार को हर घर में सिंजारा मनाया गया। घर की महिलाओं ने शृंगार कर एक-दूसरे को मेहंदी लगाई। शुक्रवार को महिलाएं घरों में पूजा कर दीवार पर 16 टिकी लगाएंगी।

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना