--Advertisement--

दुनिया के 209 शहरों में कॉस्ट ऑफ लिविंग सर्वे: देश में सबसे महंगा मुंबई, विश्वभर में हॉन्गकॉन्ग टॉप पर

200 वस्तुओं के रेट की तुलना करते हुए शहरों को रैकिंग दी गई।

Dainik Bhaskar

Jun 26, 2018, 08:18 PM IST
कॉस्ट ऑफ लिविंग सर्वे में मेलबर्न, ब्यूनोस एयर्स की रैंकिंग घटी है जबकि मुंबई की रैकिंग में उछाल आया है।- सिंबॉलिक कॉस्ट ऑफ लिविंग सर्वे में मेलबर्न, ब्यूनोस एयर्स की रैंकिंग घटी है जबकि मुंबई की रैकिंग में उछाल आया है।- सिंबॉलिक

- उज्बेकिस्तान का ताशकंद दुनिया का सबसे सस्ता शहर
- पाकिस्तान की राजधानी कराची 205वें नंबर पर

मुंबई. कॉस्ट ऑफ लिविंग के मामले में मुंबई देश में सबसे महंगा शहर है। दुनिया में इसका नंबर 55वां है। मुंबई ऑस्ट्रेलिया के मेलबर्न (58वीं रैंकिंग) और यूरोप के फ्रेंकफर्ट (68वीं रैंकिंग) जैसे शहरों से भी महंगा है। ग्लोबल रैंकिंग में भारत का सबसे सस्ता शहर कोलकाता है, जिसकी रैंकिंग 182वीं है। इंटरनेशनल कंसल्टिंग फर्म मर्सर के कॉस्ट ऑफ लिविंग सर्वे में भारत के 6 शहर शामिल हैं। ग्लोबल रैंकिंग में हॉन्गकॉन्ग दुनिया का सबसे महंगा शहर है।

दुनिया के 5 सबसे महंगे शहर

शहर ग्लोबल रैंकिंग
हॉन्गकॉन्ग (चीन) 1
टोक्यो (जापान) 2
ज्यूरिख (स्विटजरलैंड) 3
सिंगापुर (मलेशिया) 4
सियोल (साउथ कोरिया) 5

सर्वे में शामिल भारतीय शहर

शहर ग्लोबल रैंकिंग
मुंबई 55
दिल्ली 103
चेन्नई 144
बेंगलुरु 170
कोलकाता 182

भारतीय शहरों में सबसे ज्यादा महंगाई दर 5.57%
न्यूयॉर्क को बेस सिटी मानते हुए दुनियाभर के 209 शहरों पर सर्वे किया गया। हर शहर में 200 वस्तुओं के रेट की तुलना के आधार पर रैकिंग की गई। सर्वे में शामिल भारतीय शहरों में सबसे ज्यादा महंगाई दर 5.57% दर्ज की गई। सर्वे के मुताबिक, मक्खन, मीट, पॉल्ट्री और फार्म उत्पादों समेत शराब के रेट में इजाफा होने से कॉस्ट ऑफ लिविंग बढ़ी है। स्पोर्ट्स और मनोरंजन से जुड़ी गतिविधियां महंगी होने से भी शहरों की रैकिंग पर असर पड़ा। तीसरी बड़ी वजह ट्रांसपोर्टेशन रही, जिसमें टैक्सी किराया, व्हीकल रजिस्ट्रेशन और रोड टैक्स शामिल हैं। सर्वे के मुताबिक, मेलबर्न और ब्यूनोस एयर्स की रैंकिंग घटी है। मुंबई की रैकिंग में उछाल आया है।

कॉस्ट ऑफ लिंविंग के आधार पर भारत की 93% कंपनियां भत्ते तय करती हैं: इस सर्वे का मकसद मल्टीनेशनल कंपनियों और सरकार के लिए उन कर्मचारियों के भत्ते तय करने में मदद करना है, जो बाहर से इन शहरों में नौकरी के लिए आए हैं। भारत के लिए मर्सर की इंटरनेशनल पॉलिसीज एंड प्रैक्टिस रिपोर्ट के मुताबिक, 93% कंपनियां बाहर से आने वाले कर्मचारियों के लिए कॉस्ट ऑफ लिविंग के आधार पर अलाउंस का भुगतान करती हैं।

खेलकूद, मनोरंजन संबंधी गतिविधियां महंगी होने से मुंबई में कॉस्ट ऑफ लिविंग बढ़ी।- सिंबॉलिक खेलकूद, मनोरंजन संबंधी गतिविधियां महंगी होने से मुंबई में कॉस्ट ऑफ लिविंग बढ़ी।- सिंबॉलिक
न्यूयॉर्क को बेस सिटी मानते हुए किया गया सर्वे।- सिंबॉलिक न्यूयॉर्क को बेस सिटी मानते हुए किया गया सर्वे।- सिंबॉलिक
X
कॉस्ट ऑफ लिविंग सर्वे में मेलबर्न, ब्यूनोस एयर्स की रैंकिंग घटी है जबकि मुंबई की रैकिंग में उछाल आया है।- सिंबॉलिककॉस्ट ऑफ लिविंग सर्वे में मेलबर्न, ब्यूनोस एयर्स की रैंकिंग घटी है जबकि मुंबई की रैकिंग में उछाल आया है।- सिंबॉलिक
खेलकूद, मनोरंजन संबंधी गतिविधियां महंगी होने से मुंबई में कॉस्ट ऑफ लिविंग बढ़ी।- सिंबॉलिकखेलकूद, मनोरंजन संबंधी गतिविधियां महंगी होने से मुंबई में कॉस्ट ऑफ लिविंग बढ़ी।- सिंबॉलिक
न्यूयॉर्क को बेस सिटी मानते हुए किया गया सर्वे।- सिंबॉलिकन्यूयॉर्क को बेस सिटी मानते हुए किया गया सर्वे।- सिंबॉलिक
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..