Hindi News »Lifestyle »People» National Insurance Parivar Mediclaim Policy

अपने परिवार की अच्छी सेहत बनाए रखना आपकी टॉप प्रॉयोरिटी होनी चाहिए

सबसे आसान और फायदेमंद उपाय तो यह है कि आप हेल्थ इंश्योरेंस ले सकते हैं।

dainikbhaskar.com | Last Modified - Jun 13, 2018, 08:24 PM IST

अपने परिवार की अच्छी सेहत बनाए रखना आपकी टॉप प्रॉयोरिटी होनी चाहिए

आपका परिवार ही आपकी सबसे बड़ी सम्पत्ति है। वह आपकी खुशी में आपके साथ होता है। जब आप दुखी होते हैं तो वही आपकी मदद में खड़ा रहता है। जब भी आपको जरूरत होती है, वह आपके साथ रहता है। वही आपके लिए सबसे बड़ा खजाना है और इसलिए उन्हें भी आपके असीम प्यार और देखभाल की जरूरत है। अपने परिवार की रक्षा करना आपकी ड्यूटी है। यह आपकी सर्वोच्च प्राथमिकता होनी चाहिए।

जब आप कोई नई कार खरीदते हैं तो आपके दिमाग में यह बात जरूर रहती है : ‘अगर इसका एक्सीडेंट हो जाए तो क्या होगा?’ तो आप कार के लिए बीमा का प्लान ले लेते हैं। क्योंकि आपको अपने वाहन की फिक्र है और आप उसकी सुरक्षा करना चाहते हैं। जब आप कार की इतनी चिंता कर सकते हैं तो अपने परिवार की क्यों नहीं? जिंदगी का कोई भरोसा नहीं है। अगर आपके परिवार में कोई बीमार पड़ जाए जो क्या होगा? क्या आप अपनी बचत में से उसके अस्पताल के खर्चों का भुगतान कर सकेंगे? क्या इमरजेंसी के लिए आपने पर्याप्त तैयारी कर रखी है? अगर इन दोनों सवालों का जवाब ‘नहीं’ में है तो आपके लिए कोई सुरक्षात्मक उपाय करने का वक्त आ गया है।

इसका सबसे आसान और फायदेमंद उपाय तो यह है कि आप हेल्थ इंश्योरेंस ले सकते हैं जो आपको और आपके परिवार दोनों को कवरेज देगा। सरकारी स्वामित्व वाली कंपनी नेशनल इंश्योरेंस कंपनी लिमिटेड (NIC) साल 1906 से ही एक विश्वसनीय संगठन रहा है। इसकी ‘नेशनल परिवार मेडिक्लेम’ पॉलिसी ऐसा फ्लोटर हेल्थ इंश्योरेंस है जो सिंगल सम में पूरे परिवार के सभी सदस्यों को स्वास्थ्य बीमा प्रदान करता है।

पात्रता :
i. पॉलिसी में परिवार के कम से कम दो सदस्य कवर होने चाहिए जिसको नीचे परिभाषित किया गया है।

ii. प्रस्तावक की उम्र 18 साल से 65 साल के बीच होनी चाहिए।

iii.परिवार के किसी भी सदस्य की अधिकतम प्रवेश आयु 65 साल है।

iv. तीन माह से लेकर 18 साल की उम्र तक के बच्चों को कवरेज मिल सकता है, बशर्ते उसी अवधि के दौरान बच्चे के माता-पिता या इनमें से किसी एक ने भी यह पॉलिसी ले रखी हो।
v. परिवार के सदस्य
a. प्रस्तावक
b. पति या पत्नी
c. वैध या विधिसम्मत गोद ली संतान

निर्भर संतान 18 साल की उम्र तक कवर होंगी
निर्भर पुरुष संतान को 25 साल की उम्र तक कवर मिल सकता है बशर्ते वह प्रामाणिक तौर पर छात्र हो, न कि कहीं कोई कर्मचारी।
निर्भर महिला संतान को उसकी शादी तक कवरेज मिल सकता है, बशर्ते वह कहीं कोई कर्मचारी न हो।

vi. पॉलिसी में बीच में किसी परिवार के सदस्य को प्रो-रेटा (pro-rata) प्रीमियम पर ही प्रवेश मिलेगा और वह भी केवल इन स्थितियों में :
a. नए बच्चे के आगमन पर केवल तीन माह से छह माह के भीतर
b. पति या पत्नी को शादी के 60 दिन के भीतर

बीमा राशि (सम इंश्योर्ड)
i.बीमा राशि एक लाख से 10 लाख रुपए तक हो सकती है। बीमा राशि एक लाख के मल्टीपल में होगी।
ii. बीमा राशि फ्लोटर आधारित होगी और यह प्रत्येक या सभी बीमित व्यक्तियों पर लागू होगी।

उत्पाद की प्रमुख विशेषताएं इस तरह हैं :
* लोवर रेटेड जोन के लिए डिस्काउंट के साथ जोन वाइस रेटिंग्स
* फ्लोटर बीमा राशि की रेंज : भारतीय रुपए में 1/ 2/ 3/ 4/ 5/ 6/ 7/ 8/ 9/ 10 लाख।
* प्रस्ताव की उम्र 18 से 65 साल के बीच होनी चाहिए।
* पॉलिसी को जीवन भर के लिए रिन्यू करवाया जा सकता है।
* 2/3 साल के लिए लॉन्ग-टर्म कवर
* एलोपेथी, आयुर्वेद और होम्योपेथी से इलाज पर पूरी बीमा राशि का कवर
* कवर मिलेगा -
- अस्पताल में भर्ती होने पर। साथ ही अस्पताल में भर्ती होने से 30 दिन पहले और भर्ती होने के 60 दिन बाद का भी कवरेज।
- डोमिसिलिएरी हॉस्पिटेलाइजेशन
- 140+ दिनों तक केअर प्रोसीजर्ज/सर्जरीज
- मेटरनिटी कवर
- डिलिवरी या विधिसम्मत गर्भपात करवाने पर मेडिकल खर्च
- नए पैदा हुए बच्चे का मेडिकल खर्च
- बच्चों का वैक्सीनेशन
- इंफर्टिलिटी ट्रीटमेंट कवर
- एम्बुलेंस चार्जेस
- एंटी रेबीज वैक्सीनेशन
- अंगदान करने वाले के मेडिकल खर्च
- अधिकतम 5 दिनों के लिए हॉस्पिटल कैश

* पॉलिसी के लगातार चार साल पूरे होने के बाद पहले से ही जो बीमारियां हैं, वे कवर होंगी
* 88 बड़ी बीमारियों के लिए दुनिया के प्रमुख मेडिकल सेंटर्स (WLMC) से मेडिकल सेकंड ओपिनियन
* यह पॉलिसी कैसलेस सुविधा प्रदान करती है। साथ ही यह किसी बीमारी या घायल होने पर उसके इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती होने या डोमिसिलिएरी हॉस्पिटेलाइजेशन पर री-इम्बर्समेंट की सुविधा भी प्रदान करती है।

* अच्छे हेल्थ इन्सेंटिव :
- प्रत्येक क्लेम फ्री ईयर के लिए 5 फीसदी तक नो क्लेम डिस्काउंट।
- लगातार क्लेम फ्री चार साल पूरे होने के बाद हेल्थ चेक-अप के खर्च।


वैकल्पिक कवर्स :
* पहले से ही डायबिटीज एवं हाइपरटेंशन कवर
* 8 उल्लेखित बीमारियों के लिए क्रिटिकल इलनेस कवर। बीमा राशि की रेंज भारतीय रुपए में 2/3/5/10 लाख रुपए।
* आउटपेशेंट ट्रीटमेंट कवर : प्रति परिवार बीमा राशि भारतीय रुपए में 2,000/ 3,000/ 4,000/ 5,000/ 10,000

डिस्काउंट्स :
- नो क्लेम डिस्काउंट
- मैटरनिटी/इंफर्टिलिटी कवर के बदले में डिस्काउंट
- जोन वाइज डिस्काउंट
- ऑनलाइन डिस्काउंट

प्री-पॉलिसी चेक-अप
i. परिवार के सभी सदस्यों का अलग-अलग प्री-पॉलिसी चेकअप जरूरी है

a. पचास साल या अधिक उम्र
b. क्रिटिकल इलनेस का ऑप्शन लेने वाले उन सदस्यों के लिए जिनकी उम्र 18 साल से 65 साल के बीच है।

ii. प्री-पॉलिसी चेक-अप का 50 फीसदी खर्च कंपनी को वहन करना चाहिए, अगर प्रस्ताव को स्वीकार्य किया जा चुका है और प्रीमियम का भुगतान हो गया हो।

पोर्टेबिलिटी
अगर बीमित व्यक्ति अपनी बीमा पॉलिसी को अन्य किसी इंश्योरर के पास पोर्ट करवाना चाहता है तो ऐसी स्थिति में उसे उस कंपनी के पास पॉलिसी और क्लेम्स के बारे में सारी जानकारियों के साथ आवेदन करना होगा जहां उसे पॉलिसी पोर्ट करवानी है। ऐसा उसे पॉलिसी की एक्सपायरी डेट के कम से कम 45 दिन पहले करना होगा।


पोर्टेबिलिटी की अनुमति इन निम्नांकित मामलों में दी जाएगी :

i. गैर-जीवन बीमा कंपनियों द्वारा जारी की गई सभी व्यक्तिगत बीमा पालिसियों के मामले में। इसमें फैमिली फ्लोटर पॉलिसी भी शामिल।

ii. किसी भी गैर-जीवन बीमा कंपनी द्वारा जारी की गई कोई भी ग्रुप हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी में कवर व्यक्तिगत सदस्य जिसमें परिवार के सदस्य भी शामिल हैं, को ग्रुप पॉलिसी से उसी इंश्योरर की कोई व्यक्तिगत हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी या फैमिली फ्लोटर पॉलिसी में मूव करने का अधिकार है। इसके एक साल बाद बीमित व्यक्ति को किसी अन्य गैर जीवन बीमा कंपनी में पोर्ट करने का अधिकार होगा।

ग्रेस पीरियड :
प्रीमियम ड्यू डेट के बाद 30 दिन का ग्रेस पीरियड दिया जाता है। इस दौरान प्रीमियम का भुगतान करके पॉलिसी को रिन्यू करवाया जा सकता है और इस तरह कन्टीन्यूटी बेनिफिट जैसे वेटिंग पीरियड और पॉलिसी लेने से पहले की बीमारियों के कवरेज को खोए बगैर पॉलिसी को बरकरार रखा जा सकता है। जिस अवधि के लिए प्रीमियम प्राप्त नहीं होगा, उस अवधि के दौरान कवरेज उपलब्ध नहीं रहेगा।

फ्री लुक पीरियड :
पॉलिसी की शुरुआत में ही फ्री लुक पीरियड लागू होता है। बीमित व्यक्ति को पॉलिसी शुरू होने की तारीख से पंद्रह दिनों का फ्री लुक पीरियड दिया जाता है। इस दौरान बीमित व्यक्ति पॉलिसी की टर्म्स एंड कंडिशन्स की समीक्षा कर सकता है। अगर इस दौरान उसे ये टर्म्स एंड कंडिशन्स स्वीकार्य नहीं होते हैं तो वह पॉलिसी लौटा सकता है।

अगर बीमित व्यक्ति ने फ्री लुक पीरियड के दौरान कोई क्लेम नहीं किया है तो बीमित व्यक्ति को यह अधिकार होता है :

- बीमित व्यक्ति ने जो प्रीमियम दिया है, उसमें से मेडिकल जांच और स्टैम्प ड्यूटी पर हुए खर्च को काटकर राशि लौटा दी जाती है। अथवा,
- अगर पॉलिसी में कवर जोखिम शुरू हो गया है और बीमित व्यक्ति ने पॉलिसी लौटाने का विकल्प चुन लिया है तो कवर पीरियड के लिए जोखिम के बदले में जो भी समानुपातिक प्रीमियम होगा, वह काटकर शेष राशि बीमित व्यक्ति को लौटा दी जाएगी।

टैक्स छूट :
बीमित व्यक्ति आयकर अधिनियम 1961 के सेक्शन 80 D के तहत टैक्स के फायदे ले सकता है।

अतिरिक्त कवरेज :
नेशनल इंश्योरेंस के पास और भी ऐसा उत्पाद है जो उक्त पॉलिसी में मौजूद कवरेज के अतिरिक्त कवरेज देता है। इसका नाम ‘नेशनल परिवार मेडिक्लेम प्लस’ पॉलिसी है।

उक्त पॉलिसी में वर्णित फीचर्स के अलावा अन्य फीसर्च इस तरह हैं :

* पॉलिसी इन तीन प्लान में उपलब्ध हैं :
प्लान ए - 5 स्लैब्स, भारतीय रुपए में 6,00,000 से 10,00,000 तक, एक लाख के मल्टीपल में।

प्लान बी - 3 स्लैब्स, भारतीय रुपए में 15,00,000/ 20,00,000/ 25,00,000

प्लान सी - 3 स्लैब्स, भारतीय रुपए में 30,00,000/ 40,00,000/ 50,00,000

* तीन साल के बाद पूर्व से मौजूद बीमारियों का कवरेज
* रोड एक्सीडेंट के कारण बीमित राशि की बहाली
* इमजरेंसी मेडिकल इवेक्यूशन के दौरान एयर एम्बुलेंस
* परिवार के सदस्यों के साथ मेडिकल इमरजेंसी भेंट के लिए यात्रा खर्च
* हॉस्पिटल में इलाज के बाद डॉक्टर्स के होम विजिट और नर्सिंग केयर

* अच्छे हेल्थ इन्सेंटिव :

* बेस प्रीमियम पर 5 प्रतिशत तक नो क्लेम डिस्काउंट
* क्लेम चाहे लिया जाए या नहीं, हर दो साल में हेल्थ चेक-अप के खर्च

वैकल्पिक कवर :
* गंभीर रोग - भारतीय रुपए में 2,00,000-25,00,000 तक का कवर।

* पहले से मौजूद डायबिटीज/हाइपरटेंशन (फ्लोटर के रूप में) कवर - बीमित राशि के 25 फीसदी से 75 फीसदी तक।

* आउटपेशेंट ट्रीटमेंट (एक पॉलिसी साल में फ्लोटर के रूप में) का कवर 2000 रुपए से लेकर 25,000 रुपए तक।

इसलिए इंतजार मत कीजिए। बीमा को खरीदना बिल्कुल भी जटिल प्रक्रिया नहीं है और ऑनलाइन इसमें बहुत ज्यादा समय नहीं लगता है।

नेशनल परिवार मेडिक्लेम के बारे में और अधिक जानकारी के लिए यहां क्लिक करें...

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: apne parivaar ki achchhi seht banae rkhnaa aapki top proyoriti honi chaahie
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)
Reader comments

More From People

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×