पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

सीएच-01बीवाई-0001 की आॅक्शन में गड़बड़ी पर दर्ज हुई एफआईआर

एक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
}सितंबर में हुई थी ऑक्शन... सितंबर महीने में आरएलए ने बीवाई सीरीज के फैंसी नंबरों की ऑक्शन करवाई थी। पहली बार किसी सीरीज के 0001 नंबर के बजाए 0009 नंबर के लिए ज्यादा बोली लगी। 0001 नंबर के लिए 15 लाख की बोली लगाने वाले एप्लीकेंट ने 0007, 0009 के लिए भी बोली लगा रहा था। 0001 के लिए 15 लाख पहले दिन बोली लगाई गई, इस नंबर के लिए बाकी एप्लीकेंट्स बोली लगा ही नहीं पाए क्योंकि पहले ही दिन बड़ी बोली इसके लिए लग चुकी थी। शनिवार को उसी एप्लीकेंट ने 0009 नंबर के लिए बोली 16.03 लाख रुपए लगाई। नियमों के मुताबिक उसको 0001 नंबर सरेंडर करना पड़ा और 0001 के लिए जो दूसरी ज्यादा बोली एक लाख रुपए की लगी थी ये उसमें अलाॅट करना पड़ा।

रजिस्ट्रिंग एंड लाइसेंसिंग अथाॅरिटी की शिकायत पर अब पुलिस ने सीएच-01बीवाई 0001 नंबर के लिए हुई गड़बड़ी पर एफआईआर दर्ज की है। ये मामला दिल्ली बेस्ड कंपनी पर दर्ज किया गया है जिसने 0001 नंबर के साथ ही दो और नंबरों के लिए आॅक्शन में बोली लगाई थी। सेक्टर-17 पुलिस स्टेशन में ये मामला प्रीत मशीन लिमिटेड दिल्ली , अमनदीप सिंह सेक्टर-21, शमिंदर पाल सिंह सेक्टर-50 के खिलाफ ये मामला धारा 420 और 120 के तहत दर्ज किया गया है। हांलाकि जिस चौकीदार के नाम पर ज्यादा बिड दूसरे नंबर के लिए लगाई गई है उसका नाम एफआईआर में दर्ज नहीं किया गया। इसमें बताया गया है आरोपी 0001 और 0009 नंबर के लिए बिड लगाने में शआमिल थे और साथ ही डाॅक्यूमेंट्स भी इसके लिए इक्ट्ठे किए गए थे।अब जिन नंबरों के लिए किया गया खेल:- जिन नंबरो को लेकर ये पूरा खेल किया गया उन नंबरों को प्रोविजनली कैंसल किया गया था लेकिन अब आरएलए इनकी अलाॅटमेंट कैंसल कर दोबारा से आॅक्शन नंबरों का करवाया जाएगा।

खबरें और भी हैं...