निमेश शाह का कॉलम : अभी क्रेडिट रिस्क फंड में निवेश फायदेमंद / निमेश शाह का कॉलम : अभी क्रेडिट रिस्क फंड में निवेश फायदेमंद

फिक्स्ड इनकम चाहने वालों के लिए बेहतर विकल्प हो सकता है

DainikBhaskar.com

Aug 02, 2018, 10:22 AM IST
निमेश शाह आईसीआईसीआईसी प्रूड निमेश शाह आईसीआईसीआईसी प्रूड
म्यूचुअल फंड का नाम आते ही इक्विटी इन्वेस्टमेंट का ख्याल आता है। लेकिन निवेशकों की जरूरत के हिसाब से शॉर्ट और लांग टर्म के लिए बहुत से डेट प्रोडक्ट भी उपलब्ध हैं। ऐसा ही एक प्रोडक्ट है क्रेडिट रिस्क फंड। यह ऐसे समय मौजूद है जब ब्याज दरें बढ़ रही हैं। ये फंड खास तौर से 'एए' या इससे कम रेटिंग वाले कॉरपोरेट बांड में निवेश करते हैं। फिक्स्ड इनकम चाहने वालों के लिए यह अच्छा हो सकता है।
ज्यादा यील्ड : कॉरपोरेट बांड की रेटिंग क्रेडिट क्वालिटी और रिस्क से तय होती है। रिस्क रिटर्न को प्रभावित करता है। 'एएए' रेटिंग वाले बांड की तुलना में 'एए' रेटिंग वाले बांड की यील्ड ज्यादा होगी। आसान शब्दों में कहें तो कम रेटिंग वाले बांड पर ज्यादा यील्ड मिलेगी। क्रेडिट रिस्क फंड के मैनेजर 65% पैसा 'एए' या कम रेटिंग वाले बांड में निवेश करते हैं। पिछले कुछ महीने में यील्ड बढ़ा है। बेंचमार्क माने जाने वाले 10 साल के सरकारी बांड पर यील्ड एक साल में 6.5% से बढ़कर 7.7% हुआ है। 'एए' रेटिंग वाले कॉरपोरेट बांड की यील्ड 9.5% तक पहुंच गई है।
अपग्रेड की गुंजाइश : जब इकोनॉमी में सुधार हो, कंपनियों की रेटिंग अपग्रेड होने की संभावना रहती है। क्रेडिट मार्केट में इसे पॉजिटिव माना जाता है। इससे बांड की कीमत बढ़ती है। फंड हाउस रिसर्च के जरिए ऐसे बांड चुनते हैं जिनमें बेहतरी की गुंजाइश हो। इसके लिए कंपनी के आउटलुक, सेक्टर और जिन इलाकों में कंपनी ऑपरेट कर रही है, उन सबको देखा जाता है। कंपनी के असेसमेंट में बिजनेस मॉडल, कैश फ्लो, एसेट क्वालिटी, ट्रैक रिकॉर्ड आदि भी देखते हैं।
कम जोखिम : डाइवर्सिफिकेशन से इस फंड में जोखिम कम किया जाता है। पोर्टफोलियो में कई कंपनियों के बांड होते हैं। किसी एक कंपनी के बांड में निवेश 5% तक होता है। फंड में भले 80-100 बांड हों, टॉप 10 सिक्युरिटी में निवेश करीब 35% होता है। इससे डाइवर्सिफिकेशन के साथ जोखिम भी कम होता है। अलग-अलग इन्वेस्टमेंट ग्रेड वाले बांड में निवेश से पोर्टफोलियो संतुलित रहता है।
हमेशा फायदेमंद : क्रेडिट रिस्क फंड सामान्य बांड फंड नहीं होते। लेकिन ये हर माहौल में लाभदायक हो सकते हैं। इस फंड में रिटर्न का बड़ा हिस्सा 'एक्रुअल इनकम' के रूप में आता है। यानी कंपनी समय-समय पर बांड पर जो ब्याज देती है, वह जमा होता रहता है। कुछ रिटर्न बांड की कीमत बढ़ने से भी मिलता है। निवेशकों को फंड की पूरी अवधि में ज्यादा यील्ड मिलती रहती है।
टैक्स में फायदा : क्रेडिट रिस्क फंड में टैक्स की दर कम होती है। इसलिए टैक्स चुकाने के बाद रिटर्न भी ज्यादा मिलता है। अगर आपको नियमित रिटर्न की जरूरत है तो सिस्टमेटिक विथड्रॉल प्लान चुन सकते हैं। लांग टर्म के लिहाज से देखें तो ज्यादा यील्ड वाले मौजूदा समय में क्रेडिट रिस्क फंड में निवेश करना फायदेमंद होगा। समय के साथ यह आपके पोर्टफोलियो को मजबूत करेगा।
- ये लेखक के निजी विचार हैं। इनके आधार पर निवेश से नुकसान के लिए दैनिक भास्कर जिम्मेदार नहीं होगा।
निमेश शाह, एमडी एवं सीईओ, आईसीआईसीआईसी प्रूडेंशियल एएमसी

X
निमेश शाह आईसीआईसीआईसी प्रूडनिमेश शाह आईसीआईसीआईसी प्रूड
COMMENT