--Advertisement--

डमी कंपनियां बनाकर मनी लॉन्ड्रिंग करता था नीरव, हॉन्गकॉन्ग-दुबई में भी पीएनबी से लोन ले रहा था

पंजाब नेशनल बैंक ने जांच एजेंसियों को आंतरिक रिपोर्ट सौंपी।

Dainik Bhaskar

Jun 27, 2018, 10:14 PM IST
संडे टाइम्स की रिपोर्ट के मुताबिक नीरव मोदी लंदन में रह रहा है।- फाइल संडे टाइम्स की रिपोर्ट के मुताबिक नीरव मोदी लंदन में रह रहा है।- फाइल

नई दिल्ली. नीरव मोदी के खिलाफ बुधवार को प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने चार्जशीट दाखिल की। ईडी ने कहा कि नीरव मोदी ने मनी लॉन्डरिंग और संपत्तियां हासिल करने के लिए देश-विदेश में डमी कंपनियां बनाईं। जांच एजेंसी ने कहा कि ऐसा इसलिए किया गया ताकि पीएनबी से जालसाजी कर रकम हासिल करने वालों की असल पहचान और उनका मकसद उजागर ना हो पाए। उधर, पीएनबी ने जांच एजेंसियों को एक आंतरिक रिपोर्ट भी सौंपी है। इसमें कहा गया है कि नीरव की कंपनियां पीएनबी की हॉन्गकॉन्ग और दुबई शाखाओं से भी लोन ले रही थीं। लेकिन, पीएनबी फ्रॉड उजागर होने के बाद उसकी कंपनियों को दी गई लोन की सुविधा वापस ले ली गई।

पीएनबी की रिपोर्ट के मुताबिक, फायरस्टार डायमंड लिमिटेड हॉन्गकॉन्ग और फायरस्टार डायमंड एफजेडई दुबई ने वहां स्थित शाखाओं से लोन लिए। 13,000 करोड़ से ज्यादा के घोटाले की जांच शुरू करने के बाद पीएनबी को इसका ख्याल आया कि ये दोनों कंपनी नीरव मोदी ग्रुप की हैं। इसके तुरंत बाद क्रेडिट फैसिलिटी वापस ले ली गई। हालांकि, इन दोनों खातों के जरिए लेन-देन में फर्जीवाड़ा सामने नहीं आया इसलिए इन्हें फ्रॉड घोषित नहीं किया गया है।

आंतरिक जांच में भी बैंक कर्मचारी दोषी

पंजाब नेशनल बैंक ने आंतरिक जांच के बाद 162 पेज की रिपोर्ट जांच एजेंसियों को सौंपी है। इसके मुताबिक, पीएनबी की मुंबई स्थित ब्रैडी हाउस ब्रांच के कर्मचारियों ने नीरव मोदी और मेहुल चौकसी को कई सालों तक फर्जी लेटर ऑफ अंडरटेकिंग जारी किए। रिपोर्ट के साथ सबूत के तौर पर आंतरिक ईमेल भी अटैच किए गए हैं।

अमेरिकी कंपनी के जरिए इस्तेमाल की घोटाले की रकम

नीरव मोदी ग्रुप की अमेरिका स्थित कंपनी फायरस्टार डायमंड ने फरवरी में न्यूयॉर्क में दिवालिया याचिका दाखिल की थी। पंजाब नेशनल बैंक भी दिवालिया प्रक्रिया में शामिल हुई थी क्योंकि घोटाले की ज्यादातर रकम अमेरिकी कंपनी के जरिए ही इस्तेमाल की गई।

हॉन्गकॉन्ग, न्यूयॉर्क, पेरिस गया था नीरव मोदी: न्यूज पेपर द संडे टाइम्स की रिपोर्ट के मुताबिक, भारत ने जब से नीरव का पासपोर्ट रद्द किया है, उसके बाद वह कम से कम 4 बार ब्रिटेन से बाहर गया है। 23 फरवरी को भारत ने उसका पासपोर्ट रद्द कर दिया था। रिपोर्ट में बताया गया है कि नीरव पोस्ट मेफेयर इलाके में अपने ज्वेलरी स्टोर के ऊपर स्थित फ्लैट में ही रह रहा है। इस स्टोर को पिछले हफ्ते बंद कर दिया गया। पीएनबी घोटाले में आरोपी नीरव मोदी और मेहुल चौकसी की गिरफ्तारी के आदेश हैं। सीबीआई ने इंटरपोल से नीरव के खिलाफ रेड कॉर्नर नोटिस जारी करने की अपील की है।

नीरव मोदी और मेहुल चौकसी ने फर्जी लेटर ऑफ अंडरटेकिंग्स के जरिए 13,000 करोड़ से ज्यादा का घोटाला किया।- फाइल नीरव मोदी और मेहुल चौकसी ने फर्जी लेटर ऑफ अंडरटेकिंग्स के जरिए 13,000 करोड़ से ज्यादा का घोटाला किया।- फाइल
नीरव मोदी के घोटाले की वजह से पीएनबी को 13,416.19 करोड़ रुपए का तिमाही घाटा हुआ जो भारतीय बैंकिंग इतिहास का सबसे बड़ा नुकसान है।- सिंबॉलिक नीरव मोदी के घोटाले की वजह से पीएनबी को 13,416.19 करोड़ रुपए का तिमाही घाटा हुआ जो भारतीय बैंकिंग इतिहास का सबसे बड़ा नुकसान है।- सिंबॉलिक
X
संडे टाइम्स की रिपोर्ट के मुताबिक नीरव मोदी लंदन में रह रहा है।- फाइलसंडे टाइम्स की रिपोर्ट के मुताबिक नीरव मोदी लंदन में रह रहा है।- फाइल
नीरव मोदी और मेहुल चौकसी ने फर्जी लेटर ऑफ अंडरटेकिंग्स के जरिए 13,000 करोड़ से ज्यादा का घोटाला किया।- फाइलनीरव मोदी और मेहुल चौकसी ने फर्जी लेटर ऑफ अंडरटेकिंग्स के जरिए 13,000 करोड़ से ज्यादा का घोटाला किया।- फाइल
नीरव मोदी के घोटाले की वजह से पीएनबी को 13,416.19 करोड़ रुपए का तिमाही घाटा हुआ जो भारतीय बैंकिंग इतिहास का सबसे बड़ा नुकसान है।- सिंबॉलिकनीरव मोदी के घोटाले की वजह से पीएनबी को 13,416.19 करोड़ रुपए का तिमाही घाटा हुआ जो भारतीय बैंकिंग इतिहास का सबसे बड़ा नुकसान है।- सिंबॉलिक
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..