अहिंसा तुझे श्रद्धांजलि, दुष्कर्मियों को फांसी

News - गैंगरेप के आरोपियों के प्रति समाज का गुस्सा कम होने का नाम नहीं ले रहा है। समाज अब हिंसा अपनाने को तैयार है। इसी...

Dec 04, 2019, 09:46 AM IST
गैंगरेप के आरोपियों के प्रति समाज का गुस्सा कम होने का नाम नहीं ले रहा है। समाज अब हिंसा अपनाने को तैयार है। इसी क्रम में राज्य भर के पशु चिकित्सक मंगलवार शाम मोरहाबादी स्थित गांधी प्रतिमा के पास जमा हुए। कैंडल जलाई। धीरे-धीरे कतार में सभी बाहर निकले और चुपचाप चलने लगे। अहिंसा के द्वार से यह मार्च मौन हिंसा लेकर निकला। हर एक के हाथ में तख्ती थी। किसी पर आरआईपी डॉ. प्रियंका, किसी पर दुष्कर्मी को भी जलाओ, तो किसी पर दोषियों को मिले कड़ी सजा आदि नारे लिखे हुए थे। इनका मौन हैदराबाद में एक महिला पशु चिकित्सक डॉ. प्रियंका रेड्‌डी को दुष्कर्म कर क्रूरता पूर्वक जलाए दिए जाने के प्रति शोक और आक्रोश दोनों बयां कर रहा था।

झारखंड पशु चिकित्सा सेवा संघ के बैनर तले इनका मार्च खामोशी के साथ राजभवन तक पहुंचा। राज्यपाल के नाम एक ज्ञापन सौंपा गया। इसमें संबंधित घटना में पकड़े गए आरोपियों को फांसी की सजा देने, दुष्कर्मियों को सजा के लिए कठोर से कठोर कानून बनाने की मांग की गई। इसके अलावा राज्य में कार्यरत महिला पशु चिकित्सकों की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए उनके लिए विशेष स्थानांतरण नियमावली बनाने की मांग की गई है। कैंडल मार्च में संघ के अध्यक्ष डॉ. विमल हेमरोम, महासचिव डॉ. धर्मरक्षित विद्यार्थी, उपाध्यक्ष डॉ. समसोन संजय टोप्पो, प्रचार मंत्री डाॅ. शिवानंद काशी, जिला पशुपालन पदाधिकारी रांची क्षेत्रीय निदेशक डॉ. दयानंद प्रसाद, संघ के संगठन मंत्री डॉ. दीपक उरांव आदि शामिल रहे।

अहिंसा के द्वार से निकला मौन हिंंंसा का मार्च

इसी हफ्ते मिल सकती है एफएसएल की रिपोर्ट

लॉ यूनिवर्सिटी की छात्रा से सामूहिक दुष्कर्म मामले में कांके पुलिस चार्जशीट के लिए एफएसएल रिपोर्ट का इंतजार कर रही है। इसी हफ्ते रिपोर्ट मिलने की आशा है। रिपोर्ट आने पर चार्जशीट तैयार करने में 2 दिन लगेंगे। एफएसएल की रिपोर्ट पर ही कठोर सजा दिलाने में मदद मिलेगी।

बापू की प्रतिमा से निकले मार्च में शामिल हर एक हाथ में थी तख्ती, जिस लिखा था- गैंगरेप के आरोपियाें को भी जलाओ

नर्सिंग होम के सीसीटीवी में आरोपियों के साक्ष्य

पुलिस ने सभी तकनीकी साक्ष्य एकत्र कर ली है। घटना वाले दिन 26 नवंबर की रात जब आरोपी पीड़िता को छोड़ने संग्रामपुर के पास एक नर्सिंग होम के पास आए थे, उस दौरान आरोपी कुछ नर्सिंग होम में घुस गए थे, जिनकी तस्वीर वहां की सीसीटीवी में कैद हो गई है।

सुरक्षा बढ़ने से स्टूडेंट्स में भय हुआ कम

यूनिवर्सिटी के पास सुरक्षा बढ़ने के बाद लॉ के छात्रों में थोड़ा भय का माहौल कम हुआ है। क्योंकि, आरोपियों की गिरफ्तारी के बाद असमाजिक तत्वों ने ब्वाॅयज हॉस्टल में देर रात पत्थरबाजी की थी। लॉ यूनिवर्सिटी का ब्वाॅयज व गर्ल्स हॉस्टल रिंग रोड से मात्र 40 से 50 फीट की दूरी पर है।

दिव्यांगों ने कहा-

सजा ऐसी मुकर्रर हो कि दूसरा हिम्मत ना करे

विश्व दिव्यांगता दिवस पर अरगोड़ा मैदान में दिव्यांग बच्चे और उनके अभिभावक पहुंचे। अभिभावकों ने कैंडल जलाकर ऐसी घटनाओं को रोकने की सख्त जरूरत बताई। सभी ने कहा कि दोषियों पर कड़ी कार्रवाई हो, ताकि कोई दूसरा ऐसी हिम्मत न कर सके।

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना