भारतीय मूल के थॉमस कुरियन बनेंगे गूगल क्लाउड के नए सीईओ

3 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
  • कुरियन 26 नवंबर को गूगल ज्वॉइन करेंगे, जनवरी में सीईओ का पद संभालेंगे
  • तब तक मौजूदा सीईओ डियाने ग्रीन काम करती रहेंगी
  • कुरियन 22 साल से ऑरेकल के साथ जुड़े हुए थे

कैलिफॉर्निया. भारतीय मूल के थॉमस कुरियन (51) गूगल क्लाउड के सीईओ नियुक्त किए गए हैं। वो 26 नवंबर को कंपनी ज्वॉइन करेंगे और अगले साल जनवरी में सीईओ की भूमिका में आ जाएंगे। तब तक मौजूदा सीईओ डियाने ग्रीन (63) यह जम्मेदारी संभालती रहेंगी।

 

कुरियन सॉफ्टवेयर कंपनी ऑरेकल में प्रेसिडेंट (प्रोडक्ट डवलपमेंट) के पद पर थे। वो पिछले 22 साल से ऑरेकल के साथ जुड़े हुए थे। सितंबर में उन्होंने ऑरेकल से इस्तीफा दे दिया था।

1) केरल में जन्मे कुरियन 1986 में अमेरिका चले गए थे

थॉमस कुरियन और उनके जुड़वां भाई जॉर्ज कुरियन का जन्म केरल के कोट्टायम जिले में हुआ था। दोनों बेंगलुरु में पले-बढ़े थे। उनके पिता का मैन्युफैक्चरिंग इंडस्ट्री से जुड़ा बिजनेस था।

साल 1986 में दोनों भाई पढ़ाई के लिए अमेरिका चले गए। उस वक्त उनकी उम्र 17 साल थी। साल 1996 में थॉमस ने ऑरेकल ज्वॉइन की थी। जॉर्ज कुरियन अमेरिका की डेटा मैनेजमेंट कंपनी नेटऐप के सीईओ हैं।

डियाने ग्रीन दिसंबर 2015 से गूगल क्लाउड की सीईओ हैं। यह पद छोड़ने के बाद भी वो गूगल की पेरेंट कंपनी अल्फाबेट के बोर्ड में डायरेक्टर बनी रहेंगी। वो साल 2012 से बोर्ड ऑफ डायरेक्टर हैं।

ग्रीन का कहना है कि वो अब मेंटर की भूमिका निभाएंगी। वो इंजीनियरिंग और साइंस बैकग्राउंड वाली महिला सीईओ की मदद करेंगी। उनका कहना है कि 'मैं हर महिला इंजीनियर और वैज्ञानिक को प्रोत्साहित करना चाहती हूं ताकि वो एक दिन खुद की कंपनी बनाने के बारे में सोच सकें। महिला फाउंडर सीईओ की संख्या बढ़ने से दुनिया बेहतर होगी।'

ग्रीन के नेतृत्‍व में गूगल क्‍लाउड ने अपना बिजनेस तेजी से बढ़ाया लेकिन कंपनी अमेजन को टक्‍कर देने में नाकाम रही। क्लाउड इंफ्रास्ट्रक्चर सर्विसेज मार्केट में अमेजन वेब सर्विसेस का 34% शेयर है। गूगल क्लाउड का शेयर 10% से भी कम है। गूगल ने फरवरी में कहा था कि क्लाउड सर्विस से उसे एक अरब डॉलर का तिमाही रेवेन्यू मिल रहा है।